Asianet News HindiAsianet News Hindi

RIC: भारत-चीन और रूस के बीच बैठक आज, त्रिपक्षीय सहयोग मजबूत करने पर होगी बात

आरआईसी समूह की बैठक में त्रिपक्षीय सहयोग मजबूत करने और क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर समीक्षा की जाएगी। अध्यक्षता भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) करेंगे।

India Russia China Grourp meeting External Affairs Minister S Jaishankar
Author
New Delhi, First Published Nov 26, 2021, 6:49 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर जारी तनातनी के बीच शुक्रवार को दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत होगी। बैठक में रूस के विदेश मंत्री भी मौजूद रहेंगे। भारत, रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच बातचीत आरआईसी समूह (RIC Group) की बैठक के दौरान होगी। डिजिटल माध्यम से हो रही बैठक की अध्यक्षता भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) करेंगे। बैठक में त्रिपक्षीय सहयोग मजबूत करने और क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर समीक्षा की जाएगी।

आरआईसी समूह (Russia India China Grourp) के अंतर्गत होने वाली विदेश मंत्रियों की यह 18वीं वार्ता होगी। विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि ऐसे समय में जब दुनिया तेज गति से अशांति और बदलाव के दौर में प्रवेश कर चुकी है, वह तीन देशों के विदेश मंत्रियों की वार्षिक बैठक में भारत और रूस के साथ संवाद को मजबूत करने, आपसी विश्वास बढ़ाने और आम सहमति बनाने की उम्मीद करता है।

भारत-चीन के बीच गतिरोध से त्रिपक्षीय सहयोग हुआ है प्रभावित
बता दें कि आरआईसी की बैठक ऐसे समय पर हो रही है जब भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले कई महीनों से तनाव है। लद्दाख सेक्टर में भारत और चीन के बीच गतिरोध होने से त्रिपक्षीय सहयोग काफी ज्यादा प्रभावित हुआ है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा कि दुनिया बदलाव और कोविड-19 महामारी के असर का सामना कर रही है. यह मंच अंतरराष्ट्रीय संबंधों में लोकतंत्र को बढ़ावा देने, एक साथ महामारी से लड़ने, आर्थिक सुधार को बढ़ावा देने और शांति-स्थिरता के लिए दुनिया को वास्तविक बहुपक्षवाद का सकारात्मक संदेश देता है।

 

ये भी पढ़ें

Russia: साइबेरिया में कोयला खदान में आग लगने से 52 की मौत, कोई नहीं बचा जिंदा

Parliament Winter session: कृषि कानून और MSP पर मोदी सरकार को घेरेगी कांग्रेस

विभाजन से न भारत खुश है न पाकिस्तान, बंटवारा खत्म करके ही दूर होगा दर्द: मोहन भागवत
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios