Asianet News Hindi

मानसून की पहली ही बारिश में 'डूब' गई मुंबई, जल्द आधे भारत को कवर कर लेगा, ये है मौसम विभाग की भविष्यवाणी

दक्षिण-पश्चिम मानसून हफ्तेभर के अंदर देश के आधे राज्यों को कवर कर लेगा। इधर, बुधवार को मुंबई में मानसून ने धांसू तरीके से प्रवेश किया। हालत यह है कि ज्यादातर निचले हिस्सों में पानी भरा हुआ है। यहां आज भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके साथ ही मानसून अपनी गति से देश के बाकी राज्यों की ओर बढ़ रहा है।

monsoon in India,  forecat about rain by Meteorological Department kpa
Author
New Delhi, First Published Jun 10, 2021, 9:44 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. बंगाल की खाड़ी में 11 जून को कम दबाव बन रहा है। इसके चलते झारखंड, बंगाल, बिहार के कुछ हिस्सों में बारिश हो सकती है। वहीं, 12 जून से दिल्ली और यूपी में बारिश का सिलसिला शुरू हो सकता है। बुधवार को मानसून ने मुंबई में प्रवेश किया। उसकी एंट्री इतनी जबर्दस्त रही कि मुंबई के निचले हिस्से डूब गए। मुंबई में गुरुवार को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

मौसम विभाग की भविष्यवाणी
दक्षिण-पश्चिम मानसून के अगले 2-3 दिनों के दौरान अरब सागर और महाराष्ट्र के बाकी हिस्सों, गुजरात के कुछ और भागों, तेलंगाना के बाकी बचे क्षेत्रों, आंध्र प्रदेश के सभी भागों, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, पूर्वी उत्तर प्रदेश, समूचे ओडिसा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और बिहार तक पहुंचने की संभावना है। यानी इन राज्यों सहित 14 राज्यों में बारिश का सिलसिला चल पड़ेगा। मप्र में आज या कल में मानसून के पहुंचने की संभावना है।

हिमाचल प्रदेश में 11 से 13 जून के बीच बारिश और अंधड़ की चेतावनी दी गई है। यहां मानसून आने की तारीख 25 जून है। हालांकि 11 जून से प्री-मानसून की गतिविधियां होने लगेंगी।

यहां भी भारी बारिश का अलर्ट
10 जून को पूर्वी भारत और ओडिशा पश्चिम बंगाल, 11 जून को बंगाल और बिहार, 11-12 जून को पूर्वी मप्र, विदर्भ और छग के अलावा कुछ अन्य राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी है।

आज और कल यहां बारिश
पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों और इससे सटे मध्य भारत के भागों में 10 जून को सभी स्थानों पर बारिश होने के आसार हैं। ओडिशा के कुछ हिस्सों में 11 जून के बीच; गंगीय पश्चिम बंगाल में 10 और 11 जून को; झारखंड में 11 जून को; पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ और छत्तीसगढ़ में 10 और 11 जून को भारी से अति भारी बारिश हो सकती है। ओडिसा में 11 जून को एक-दो स्थानों पर भीषण वर्षा की भी आशंका है। पश्चिमी तटीय भागों में भी बारिश की गतिविधियां बढ़ेंगी। असम और मेघालय में 10 जून के बीच मूसलाधार बारिश हो सकती है; उत्तर-पश्चिम भारत के मैदानी भागों में 10 जून के बीच धूलभरी तेज़ हवाएं (30-40 किमी प्रति घंटे की गति) चलने का अनुमान है।

सामान्य बारिश की भविष्यवाणी
इस साल मानसून सामान्य रहने की उम्मीद है। भारतीय मौसम विभाग का अनुमान है कि पूरे देश में अच्छी बारिश होगी। मौसम विभाग 98% तक बारिश का अनुमान लगा रहा है, जबकि स्काईमेट जून से सिंतबर तक 103% बारिश की भविष्यवाणी कर चुका है। हालांकि दोनों के अनुमान को लेकर चलें, तो इस साल की बारिश भी किसानों के लिए बेहतर रहेगी।

pic.twitter.com/hLaiGrwe2Q

 

pic.twitter.com/MT9uIyybH4

 

यह भी पढ़ें

भारी बारिश के बीच मुंबई के मलाड इलाके में 4 मंजिला इमारत ढहने से 11 की मौत, 16 घायल

Cabinet decision खरीफ फसलों की बढ़ाई MSP: तिल में 452 रुपये, तुअर-उड़द में 300, धान में 72 रुपये बढ़ोत्तरी
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios