Asianet News HindiAsianet News Hindi

विदाई को तैयार है मानसून, भारत में 7% अधिक बारिश, लेकिन 8 राज्य अच्छे की आस में तरसे-पढ़ें पूरी डिटेल्स

 भारत मौसम विज्ञान विभाग(India Meteorological Department) ने कहा कि उत्तर-पश्चिम भारत और कच्छ के कुछ हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं। मौसम कार्यालय के अनुसार, भारत में 7 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है।

Monsoon season and heavy rain alert in India kpa
Author
First Published Sep 20, 2022, 8:26 AM IST

नई दिल्ली. दक्षिण पश्चिम मानसून(southwest monsoon) आजकल में वापसी के पहले फेज में प्रवेश करने के लिए पूरी तरह तैयार है। भारत मौसम विज्ञान विभाग(India Meteorological Department) ने कहा कि उत्तर-पश्चिम भारत और कच्छ के कुछ हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं। मौसम कार्यालय के अनुसार, भारत में 7 प्रतिशत अधिक बारिश हुई थी, लेकिन चावल के कटोरे वाले राज्यों उत्तर प्रदेश और बिहार सहित 8 राज्यों में कम बारिश हुई, जिससे इस खरीफ सीजन में कृषि उत्पादन कम हो सकता है। (यह तस्वीर पिछले दिनों की अमृतसर की है, जहांं तेज बारिश और हवा से फसल खराब हो गई थी)

कई राज्यों में कम बारिश हुई
मौसम विभाग के अनुसार, झारखंड, दिल्ली, पंजाब, त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर ऐसे राज्य हैं, जहां कम वर्षा दर्ज की गई है। दक्षिण-पश्चिम मानसून का मौसम 1 जून से शुरू होता है और 30 सितंबर तक जारी रहता है। भारत में 1 जून से 19 सितंबर के बीच 872.7 मिमी वर्षा हुई, जो इस रिव्यू पीरियड के लिए 817.2 मिमी की सामान्य वर्षा से 7 प्रतिशत अधिक थी। मौसम कार्यालय ने कहा, "उत्तर पश्चिम भारत में निचले क्षोभमंडल स्तर(tropospheric levels) पर एंटी साइक्लोनिक फ्लो के कारण अगले पांच दिनों के दौरान पश्चिमी राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के आसपास के क्षेत्रों में मौसम शुष्क(dry weather) रहने की संभावना है।

इन राज्यों में भारी, हल्की या मध्यम बारिश का अलर्ट
भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department-IMD)  के अनुसार,आजकल में सिक्किम, ओडिशा के कुछ हिस्सों, छत्तीसगढ़, विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना और पूर्वी मध्य प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। बाकी पूर्वोत्तर भारत, आंध्र प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, केरल, लक्षद्वीप, तटीय कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश और दक्षिण गुजरात में हल्की बारिश संभव है।

दिल्ली के कुछ हिस्सों में मंगलवार को हल्की बारिश की संभावना
दिल्ली के कुछ हिस्सों में सोमवार को हल्की बारिश हुई और अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 33.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी के आधिकारिक मार्कर माने जाने वाले सफदरजंग वेधशाला ने 5.8 मिमी बारिश दर्ज की, जबकि लोधी रोड में 4.6 मिमी बारिश हुई। न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जो साल के इस समय के लिए सामान्य है। आर्द्रता का स्तर 95 फीसदी से 77 फीसदी के बीच रहा। मौसम विज्ञानी ने मंगलवार को बहुत हल्की बारिश की संभावना के साथ आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहने की संभावना जताई है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस और 24 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। इससे पहले रविवार को अधिकतम तापमान 34.7 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। 

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन उत्तर कोंकण और गोवा, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। दक्षिण-पश्चिम उत्तर प्रदेश में एक-दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। सिक्किम पश्चिम असम, त्रिपुरा, तटीय आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, केरल और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश होती रही। जबकि उत्तराखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, कोंकण और गोवा और लक्षद्वीप में हल्की बारिश दर्ज की गई।

यह भी पढ़ें
2300 साल पुरानी इस हेरिटेज साइट को गैर इस्लामी बताकर ISIS ने कर दिया था तबाह, फिर से चर्चा में है ये खंडहर
Shocking: मेक्सिकों में 7.7 तीव्रता के भूकंप से हिलीं बिल्डिंग्स,1985 व 2017 में ठीक इसी दिन मचा था कोहराम

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios