Asianet News HindiAsianet News Hindi

फारूख अब्दुल्ला की बीजेपी को चेतावनी, बोले- नफरत को हथियार बनाया तो भारत के इतने टुकड़े होंगे कि रोक नहीं पाओगे

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला गुरुवार को बीजेपी पर हमलावर थे। उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव जीतने के लिए नफरत का हथकंड़ा अपनाती है।

National Conference President Farooq Abdulla controversial statement on India National integrity and hate speeches
Author
Srinagar, First Published Oct 21, 2021, 9:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर। नेशनल कांफ्रेंस (National Conference) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdulla) ने बीजेपी (BJP) पर चुनाव जीतने के लिए नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि केंद्र में दुबारा सत्ता में आने के लिए बीजेपी ने नफरत फैलाया अब यूपी चुनाव (UP elections 2022) जीतने के लिए नफरत फैलाना शुरू कर दिया है। हालांकि, बीजेपी को कोसते-कोसते पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने यह कह दिया कि हिन्दुस्तान के इतने टुकड़े होंगे कि इसे रोका नहीं जा सकेगा।

फारूक अब्दुल्ला ने देश बचाने का किया आह्वान

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir)  के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला गुरुवार को बीजेपी पर हमलावर थे। उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव जीतने के लिए नफरत का हथकंड़ा अपनाती है। अभी यूपी सहित कई राज्यों में चुनाव होने वाले हैं। बीजेपी का नफरत फैलाने वाला एजेंडा शुरू हो चुका है। 

नफरत बढ़ती रही तो भारत बिखरेगा

उन्होंने लोगों से जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ देश को बचाने के लिए नफरत से लड़ने का आह्वान करते हुए चेतावनी दी कि अगर नफरत बढ़ती रही तो भारत को बिखरने से नहीं रोका जा सकता। 

उन्होंने पूछा कि, 'बालाकोट! बालाकोट! क्या लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC)बदल गई? क्या हमें पाकिस्तान से जमीन का कोई टुकड़ा वापस मिला? एलओसी की लाइन अभी भी वही है। हमने वहां अपना विमान गिराया। हमें क्या मिला? भाजपा फिर सत्ता में आई। वे आज भी यही कर रहे हैं। वे यूपी जीतने के लिए नफरत फैला रहे हैं।'

इसे भी पढ़ें- 

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने बेच दी अरब प्रिंस से गिफ्ट में मिली घड़ी, दस लाख डॉलर बनाने का आरोप

मिलिट्री प्रोजेक्ट्स की मॉनिटरिंग अब ऐप से, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लांच किया पोर्टल, 9 ऐप और होंगे लांच

ट्वीटर का मनमानी रवैया: बांग्लादेश में हमलावरों का दे रहा साथ, सद्गुरु ने पूछा: यह कैसी निष्पक्षता?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios