Asianet News HindiAsianet News Hindi

Omicron Update : भारत पहुंचा कोरोना का नया वैरिएंट ओमीक्रोन, कर्नाटक में संक्रमित मिले 66 और 46 साल के दो लोग

 कर्नाटक में ओमीक्रोन से संक्रमित दो मरीज पाए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी पुष्टि की है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक ओमीक्रोन संक्रमित दोनों व्यक्तियों की उम्र 66 वर्ष और 46 वर्ष है।

omicron covid-19 new variant india  tension on omicron guidelines Karnataka
Author
New Delhi, First Published Dec 2, 2021, 5:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। जिसका डर था वही हुआ। कोरोना का (Covid 19) ओमीक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variant) आखिरकार भारत (India) पहुंच ही गया। कर्नाटक (Karnataka) में ओमीक्रोन से संक्रमित दो मरीज पाए गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय  ने इसकी पुष्टि की है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक ओमीक्रोन संक्रमित दोनों व्यक्तियों की उम्र 66 वर्ष और 46 वर्ष है।ये 11 और 20 नवंबर को बेंगलुरू आए थे। उनके संपर्क में आए सभी लोगों की पहचान कर ली गई है और उनकी निगरानी की जा रही है। ICMR के DG बलराम भार्गव ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की 37 लैब (Lab) में संक्रमितों की जीनोम सीक्वेंसिंग की जा रही है। इसी दौरान दोनों व्यक्तियों में ओमीक्रोन की पुष्टि हुई। 

डेल्टा के मुकाबले 5 गुना ज्यादा खतरनाक ओमीक्रोन
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के हवाले से स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना का ओमीक्रोन वैरिएंट (Omicron Variant) डेल्टा के मुकाबले 5 गुना ज्यादा खतरनाक है और यह बाकी के मुकाबले तेजी से फैल सकता है। 
अब तक दुनिया भर 29 देशों में ओमीक्रोन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की पहचान हो चुकी है। WHO ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की कैटेगरी में रखा है। सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में इस वैरिएंट से संक्रमित मरीज की पहचान की गई थी। हालांकि, नीदरलैंड का कहना है कि उसके देश में 23 नवंबर को इससे संक्रमित एक मरीज मिला था। 

टीकाकरण पूरा करना प्राथमिकता 
नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि बूस्टर डोज के लिए देश में वैज्ञानिक कारण खोजे जा रहे हैं। यह किस समय दिया जाए, किस दिया जाए इसके लिए वैज्ञानिक तर्क देख रहे हैं। वर्तमान में हमारे लिए यह जरूरी है कि पहले सभी वयस्कों को दोनों डोज के साथ टीकाकरण का कार्य पूरा करें। 

एट रिस्क कैटेगरी क्षेत्रों से फ्लाइट आ रहीं 
भारत ने 11 देशों को एट रिस्क कैटेगरी में रखा है। हालांकि, एयर बबल समझौते के तहत इन देशों से उड़ानें भारत आ रही हैं। बुधवार को भी इन देशों से आई उड़ानों में करीब 3400 यात्री आए थे। इनमें से 6 कोरोना संक्रमित मिले थे। 
ओमीक्रोन के संक्रमण को देश में फैलने से रोकने के लिए पिछले दिनों मोदी सरकार ने हाई लेवल मीटिंग की थी। सरकार ने विदेशों से आने वाले यात्रियों की कड़ी जांच करने के निर्देश दिए थे। हालांकि, दिल्ली, महाराष्ट्र, झारखंड समेत कई राज्यों ने केंद्र सरकार से विदेशों से आने वाले अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। 

इंटरनेशनल फ्लाइट के नियम बदले
केंद्र सरकार ने नए वैरिएंट को देखते हुए इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नियमों में बदलाव किया है। इसके तहत एट रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर RT-PCR जांच करानी होगी। रिपोर्ट आने तक वे एयरपोर्ट नहीं छोड़ सकेंगे। 

राहत : तमिलनाडु में 11 एट रिस्क देशों से आए सभी 477 लोग निगेटिव 
तमिलनाडु में बुधवार को 11 एट रिस्क श्रेणी वाले देशें से 477 लोग भारत आए। यहां सभी का कोविड टेस्ट किया गया। राहत की बात ये है कि सभी 477 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री एमए सुब्रमण्यन ने बताया कि चेन्नई के 4 मेडिकल कॉलेज में अलग से वार्ड बनाए गए हैं। यह त्रिची, कोयंबटूर, मदुरै और चेन्नई में हैं। यहां गरीबों से RT-PCR जांच के लिए लगने वाला 600 रुपए का शुल्क नहीं लिया जा रहा है। 

यह भी पढ़ें
बिहार हो जाएगा मालामाल: यहां मिला देश का सबसे बड़ा सोना भंडार, लोग मिट्टी को धोकर निकालते हैं गोल्ड
लैंसेट का रिसर्च : मॉडर्ना की वैक्सीन दूसरी डोज के 5 महीने बाद भी काफी प्रभावी, 7 लाख से अधिक लोगों पर अध्ययन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios