Asianet News HindiAsianet News Hindi

Gujarat Visit पर प्रेसिडेंट: 3 दिन गुजरात में रहेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कई कार्यक्रमों में होंगे शामिल

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर गुजरात में रहेंगे। वे 28 अक्टूबर को गुजरात पहुंचे। गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के अहमदाबाद आगमन पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उनका स्वागत किया। 

President Ram Nath Kovind on Gujarat visit, will attend many programs
Author
Ahmedabad, First Published Oct 29, 2021, 9:04 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अहमदाबाद. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) 30 अक्टूबर तक गुजरात में रहेंगे। इस दौरान वे कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। राष्ट्रपति 28 अक्टूबर को गुजरात पहुंचे। गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के अहमदाबाद आगमन पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उनका स्वागत किया। 

गरीबों के सस्ते आवासों का उद्घाटन करेंगे
राष्ट्रपति गुजरात में कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्‍द गरीबों को घर दिलाने से जुड़ी आवास परियोजनाओं(housing schemes) का उद्घाटन करेंगे। इस योजना के तहत करीब 1000 सस्ते घर बनाए गए हैं। इस दौरान राष्ट्रपति पांच परिवारों को घरों की की चाबियां सौपेंगे। राष्‍ट्रपति भावनगर जिले के तलगजर्दा में स्थित मोरारी बाबू के आश्रम श्री चित्रकूटधाम का भी दौरा करेंगे। बता दें कि गुजरात के तलगाजडा में मोरारी बापू का श्री चित्रकूट धाम आश्रम है। मोरारी बापू ने पिछले साल अयोध्या में निर्माणाधीन रामलला मंदिर के लिए 5 करोड़ रुपए दान किए थे।

यह भी पढ़ें-G-20 Summit: PM मोदी 5 दिनी विदेश यात्रा पर; आतंकवाद जैसे मुद्दों पर होगी बड़ी चर्चा; UK के PM से भी मिलेंगे

लगातार यात्राएं कर रहे राष्ट्रपति
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इससे पहले 20 अक्टूबर को बिहार गए थे। वे बिहार के विधानसभा भवन के शताब्दी समारोह में शामिल हुए थे। राष्ट्रपति 4 साल बाद यानी 2017 के बाद बिहार गए थे। राष्ट्रपति बिहार की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान गुरुद्वारा पटना साहिब तथा महावीर मंदिर गए थे, जहां उन्होंने मानवता के कल्याण तथा कोरोना से मुक्ति के लिए प्रार्थना की थी। वे विपस्सना ध्यान केंद्र भी गए जहां उन्होंने वैश्विक शांति हेतु आराधना की थी।

यह भी पढ़ें-पीएम मोदी की उत्तराखंड यात्रा: केदारनाथ धाम में पूजा के बाद आदि शंकराचार्य की प्रतिमा का करेंगे लोकार्पण

इससे पहले राष्ट्रपति 14 और 15 अक्टूबर को लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए थे। उन्होंने लद्दाख के द्रास में दशहरा मनाया था। राष्ट्रपति आमतौर पर दिल्ली में ही दशहरा मनाते रहे हैं, लेकिन इस रामनाथ कोविंद ने यह परंपरा तोड़ी थी। कोविंद ऐसे पहले राष्ट्रपति माने जा रहे हैं, जो काफी सक्रियता से कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें-दिल्ली सरकार की Rai-फटाखे नहीं; दीया जलाओ, लोग बोले-'होली पर पानी मत फैलाओ, दिवाली पर पटाखे मत चलाओ, हद है'

सोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहते हैं
रामनाथ कोविंद सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं। वे लगातार विभिन्न मुद्दों पर अपनी बात शेयर करते हैं। हाल में जब देश में 100 करोड़ वैक्सीनेशन का आंकड़ा पूरा हुआ था, तब उन्होंने tweet किया था-देश ने आज एक इतिहास रचा है। सभी देशवासियों ने मिलकर 100 करोड़ वैक्सीनेशन का लक्ष्य पार कर लिया है। विश्व पटल पर भारत ने आत्मनिर्भरता का एक नया उदाहरण प्रस्तुत किया है। इस उपलब्धि के लिए मैं सभी देशवासियों को बधाई देता हूं।

छठ पूजा पर उन्होंने tweet किया था-छठ-पूजा अब एक ग्लोबल फेस्टिवल बन चुका है। नवादा से न्यू-जर्सी तक और बेगूसराय से बोस्टन तक छठी मैया की पूजा बड़े पैमाने पर की जाती है। यह इस बात का प्रमाण है कि बिहार की संस्कृति से जुड़े उद्यमी लोगों ने विश्व-स्तर पर अपना स्थान बनाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios