Asianet News HindiAsianet News Hindi

Bangladesh में हिंदुओं पर अटैक के विरोध में RSS लाएगी प्रस्ताव; त्रिपुरा में VHP ने किया प्रदर्शन, 144 लागू

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हिंदुओं के खिलाफ हुई हिंसा (communal violence) के विरोध में RSS एक प्रस्ताव लाएगी। कर्नाटक के धारवाड़ में 28 अक्टूबर से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(RSS) की तीन दिन की बैठक हो रही है।

RSS and VHP came in front to protest against the attack on Hindus in Bangladesh
Author
Bengaluru, First Published Oct 28, 2021, 1:56 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

धारवाड़. कर्नाटक के धारवाड़ में 28 अक्टूबर से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(RSS) की तीन दिन की बैठक हो रही है। इसमें बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए हमले के विरोध में प्रस्ताव लाया जाएगा। संघ के सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र ठाकुर ने बैठक से पहले कहा कि बैठक में बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए हमले और मौजूदा हालात पर चर्चा करेंगे। यह बैठक वैदिक मंत्रोच्चार के साथ शुरू हुई। इस वार्षिक आयोजन में संघ प्रमुख मोहन भागवत और सर कार्यवाहक दत्तात्रय होसबाले सहित देशभर से 350 संघ के प्रमुख लोग शामिल हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान में TLP की खूनी Politics; पर भारत का इससे क्या लेना-देना, क्यों बौखला रहे इमरान, पढ़ें पूरी कहानी

त्रिपुरा में विहिप ने निकाला विरोध जुलूस, धारा 144 लागू
बांग्लादेश में हुई हिंसा के विरोध में 27 अक्टूबर को विश्व हिंदू परिषद(VHP) में जुलूस निकाला गया। विहिप के त्रिपुरा और मणिपुर के संपर्क मंत्री पूर्ण चंद्र मंडल ने मीडिया से कहा कि इस रैली का मुख्य उद्देश्य अपना विरोध जताना था। उन्होंने कहा कि जिस तरह से बांग्लादेश के 30 जिलों में उपद्रव हुआ, हिंदुओं को प्रताड़ित किया गया, यह रैली उसी का विरोध करने निकाली गई थी। रैली में हजारों लोग शामिल थे। इस दौरान कुछ जगह मामूली झड़प भी हुई। पुलिस ने 3500 से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है। पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से त्रिपुरा के धर्मनगर जिले में धारा 144 लागू की है।

यह भी पढ़ें-बांग्लादेश में फिर violence: मामूली बहस के बाद मुस्लिम और बौद्धों के गुटों में संघर्ष, झोपड़ी फूंकी, 8 घायल

यह हुआ था बांग्लादेश में
बांग्लादेश के कोमिल्ला शहर में हिंदुओं के खिलाफ 13 अक्टूबर से शुरू हुई हिंसा 17 अक्टूबर तक पूरे बांग्लादेश में चलती रही थी।  इस दौरान मंदिरों में तोड़फोड़ की गई और घरों को आग लगा दी गई थी।  यह हिंसा दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखकर भड़काई गई थी। साम्प्रदायिक हिंसा(communal violence) फैलाने वाले मुख्य आरोपी 35 वर्षीय इकबाल हुसैन को पुलिस ने पिछले दिनों पकड़ लिया था। बांग्लादेश में मंदिरों में तोड़फोड़ के विरोध में इस्कॉन संस्था ने 23 अक्टूबर को 150 देशों में प्रदर्शन किया था। अभी भी दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन जारी हैं।

यह भी पढ़ें-
Bangladesh हिंसा: इस एक सेल्फी के जरिये इकबाल तक पहुंची पुलिस, उसे पकड़वाने जासूस बन गए 3 दोस्त
और इस तरह 70 साल की उम्र में मुस्लिम से हिंदू बन गई इंडोनेशिया के पहले प्रेसिडेंट की बेटी, देखें कुछ Pics


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios