Asianet News HindiAsianet News Hindi

संयुक्त किसान मोर्चा ने PM को लिखा पत्र, कहा- 6 मांगों को पूरा करे सरकार

आंदोलन कर रहे किसानों का कहना है कि जब तक सरकार संसद में कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती और छह मांगों को पूरा नहीं करती तब तक वे घर नहीं लौटेंगे।

Samyukt Kisan Morcha Letter to PM Narendra Modi farmers movement
Author
New Delhi, First Published Nov 21, 2021, 11:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा करते हुए आंदोलन कर रहे किसानों से घर लौट जाने की अपील की है। दूसरी ओर किसानों का कहना है कि जब तक सरकार संसद में कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को वापस नहीं ले लेती आंदोलन जारी रहेगा। वे घर नहीं जाएंगे। इसके साथ ही किसानों ने पीएम के सामने अपनी छह मांगें भी रखी हैं। 

संयुक्त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) ने रविवार को प्रधानमंत्री को एक खुला पत्र लिखकर छह मांग पूरा करने को कहा है। किसानों का कहना है कि सभी मांगें पूरा होने पर ही वे दिल्ली की सीमाओं से हटेंगे। संयुक्‍त किसान मोर्चा ने पीएम को लिखे पत्र में कहा है कि सरकार को तुरंत किसानों से वार्ता बहाल करनी चाहिए।

ये हैं किसानों की मांगें
1. न्यूनतम समर्थन मूल्य को सभी कृषि उपज पर, सभी किसानों का कानूनी हक बनाया जाए। देश के हर किसान को अपनी पूरी फसल पर कम से कम सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की गारंटी मिले।
2. सरकार द्वारा प्रस्तावित "विद्युत अधिनियम संशोधन विधेयक, 2020/2021" का ड्राफ्ट वापस लिया जाए।
3. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और इससे जुड़े क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए आयोग अधिनियम, 2021 में किसानों को सजा देने का प्रावधान हटाया जाए।
4. दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश और अनेक राज्यों में हजारों किसानों को किसान आंदोलन के दौरान सैकड़ों मुकदमों में फंसाया गया है। इन केसों को तत्काल वापस लिया जाए।
5. लखीमपुर खीरी हत्याकांड के सूत्रधार और सेक्शन 120B के अभियुक्त अजय मिश्रा टेनी खुले घूम रहे हैं। वह मंत्रिमंडल में मंत्री बने हुए हैं। उन्हें बर्खास्त और गिरफ्तार किया जाए।
6. किसान आंदोलन के दौरान अब तक लगभग 700 किसान शहादत दे चुके हैं। उनके परिवारों के मुआवजे और पुनर्वास की व्यवस्था हो। शहीद किसानों की स्मृति में एक शहीद स्मारक बनाने के लिए सिंधू बॉर्डर पर जमीन दी जाए।

ये भी पढ़ें

Andhra Pradesh flood : चेन्नई-विजयवाड़ा की 17 ट्रेनें रद्द, कई नेशनल हाईवे भी डूबे

TMC सांसदों का धरना कल, Tripura पुलिस बर्बरता के खिलाफ शाह से मिलने का समय मांगा

गरीबों के 164 करोड़ रुपए दबाए बैठा है सबसे बड़ा बैंक SBI, सरकार के आदेश के बाद भी नहीं लौटा रहा पैसे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios