Asianet News HindiAsianet News Hindi

Sardar Patel 145th jayanti:सरदार साहब की प्रेरणा से देश आतंरिक और बाहरी चुनौतियों से निपटने में सक्षम बना

सरदार पटेल की जयंती (Patel Jayanti) पर पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने वीडियो संदेश भेजकर देशवासियों को बधाई दी है। पीएम ने कहा कि देश में हो रहा आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण, देश में भौगोलिक और सांस्कृतिक दूरियों को मिटाने का काम कर रहा है। 

Sardar Patel 145th jayanti: PM Modi address on Rashtriya Ekta Divas
Author
New Delhi, First Published Oct 31, 2021, 12:35 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। सरदार पटेल (Sardar Patel) की 145वीं जयंती पर केवडिया में राष्ट्रीय एकता दिवस समारोह (Rashtriya Ekta Divas) आयोजित किया गया। सरदार पटेल की जयंती (Patel Jayanti) पर पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने वीडियो संदेश भेजकर देशवासियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल सिर्फ एक ऐतिहासिक शख्सियत नहीं हैं, बल्कि हर देशवासी के दिल में रहते हैं और जो लोग उनके एकता के संदेश को आगे ले जा रहे हैं, वे एकता की अटूट भावना के सच्चे प्रतीक हैं। उन्होंने कहा कि देश के कोने-कोने में राष्ट्रीय एकता परेड और स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर होने वाले कार्यक्रम उसी भावना को प्रदर्शित कर रहे हैं।

हम एक रहेंगे तो ही आगे बढ़ पाएंगे

उन्होंने कहा कि भारत सिर्फ एक भौगोलिक इकाई नहीं है बल्कि आदर्शों, संकल्पनाओं, सभ्यता-संस्कृति के उदार मानकों से परिपूर्ण राष्ट्र है। धरती के जिस भू-भाग पर हम 130 करोड़ से अधिक भारतीय रहते हैं, वो हमारी आत्मा का, हमारे सपनों का, हमारी आकांक्षाओं का अखंड हिस्सा है। सैकड़ों वर्षों से भारत के समाज में, परंपराओं में, लोकतंत्र की जो मज़बूत बुनियाद विकसित हुई उसने एक भारत की भावना को समृद्ध किया है। लेकिन हमें ये भी याद रखना है कि नाव में बैठे हर मुसाफिर को नाव का ध्यान रखना ही होता है। हम एक रहेंगे, तभी आगे बढ़ पाएंगे, देश अपने लक्ष्यों को तभी प्राप्त कर पाएगा।

इसे भी पढ़ें: राष्ट्रीय एकता दिवस: लौहपुरुष को जयंती पर किया गया याद, राष्ट्रपति कोविंद, गृहमंत्री शाह, नीतिन गडकरी ने दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रीय एकता को संजोने वाले आदर्शों को नई ऊंचाई मिली: पीएम

उन्होंने कहा कि सरदार पटेल हमेशा चाहते थे कि, भारत सशक्त हो, भारत समावेशी भी हो, भारत संवेदनशील हो और भारत सतर्क भी हो, विनम्र भी हो, विकसित भी हो। उन्होंने देशहित को हमेशा सर्वोपरि रखा। आज उनकी प्रेरणा से भारत, बाहरी और आंतरिक, हर प्रकार की चुनौतियों से निपटने में पूरी तरह से सक्षम हो रहा है। पिछले 7 वर्षों में देश ने दशकों पुराने अवांछित कानूनों से मुक्ति पाई है, राष्ट्रीय एकता को संजोने वाले आदर्शों को नई ऊंचाई दी है। जम्मू-कश्मीर हो, नॉर्थ ईस्ट हो या दूर हिमालय का कोई गांव, आज सभी प्रगति के पथ पर अग्रसर हैं। 

पीएम ने कहा कि देश में हो रहा आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण, देश में भौगोलिक और सांस्कृतिक दूरियों को मिटाने का काम कर रहा है। जब देश के लोगों को एक हिस्से से दूसरे हिस्से में जाने से पहले ही सौ बार सोचना पड़े, तो फिर काम कैसे चलेगा? जब देश के कोने-कोने में पहुंचने की आसानी होगी, तो लोगों के बीच दिलों की दूरी भी कम होगी, देश की एकता बढ़ेगी। एक भारत-श्रेष्ठ भारत की इसी भावना को मजबूत करते हुए, आज देश में सामाजिक, आर्थिक और संवैधानिक एकीकरण का महायज्ञ चल रहा है। जल-थल-नभ-अंतरिक्ष, हर मोर्चे पर भारत का सामर्थ्य और संकल्प अभूतपूर्व है। 

इसे भी पढ़ें:

राकेश टिकैत का ऐलान-अगर किसानों के साथ जबर्दस्ती हुई तो किसान थानों-कलक्ट्रेट में लगाएंगे टेंट

क्रूरता की हद: शादी समारोह में म्यूजिक बजाने पर 13 लोगों को उतारा मौत के घाट

PM Modi Italy visit: पोप फ्रांसिस से मुलाकात पर भारतीय क्रिश्चियन समाज इस तरह दे रहा अपनी प्रतिक्रिया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios