Asianet News HindiAsianet News Hindi

पटाखों की चिंगारी से ईटानगर में अरुणाचल का सबसे पुराना बाजार जलकर खाक, फायरब्रिगेड पानी ढूंढ़ती रह गई

अरुणाचल की राजधानी ईटानगर के पास नाहरलागुन डेली मार्केट में मंगलवार सुबह भीषण आग लगने से करीब 700 दुकानें जलकर राख हो गईं। राज्य में सबसे पुराना बाजार अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर से लगभग 14 किमी दूर फायर स्टेशन और नाहरलागुन पुलिस स्टेशन के पास स्थित है। पढ़िए पूरी डिटेल्स...

Shocking fire accident after Diwali, At least 700 shops gutted as fire ravages Arunachal's oldest market kpa
Author
First Published Oct 25, 2022, 1:21 PM IST

ईटानगर. अरुणाचल की राजधानी ईटानगर के पास नाहरलागुन डेली मार्केट में मंगलवार सुबह भीषण आग लगने से करीब 700 दुकानें जलकर राख हो गईं। पुलिस ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सुबह करीब 4 बजे आग लगने खबर पता चली। हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। राज्य में सबसे पुराना बाजार अरुणाचल प्रदेश की राजधानी ईटानगर से लगभग 14 किमी दूर फायर स्टेशन और नाहरलागुन पुलिस स्टेशन के पास स्थित है। पढ़िए पूरी डिटेल्स...

पटाखों के कारण माना जा रहा है हादसा
पुलिस ने कहा कि आग दिवाली समारोह के लिए जलाए गए पटाखों या दीयों के कारण होने का संदेह है। उन्होंने दावा किया कि फायर फाइटर्स तुरंत हरकत में आए, लेकिन चूंकि दुकानें बांस और लकड़ी से बनी थीं और बाजार में सूखे सामानों की भरमार थी, इसलिए आग तेजी से फैल गई। घबराए दुकानदार सामान बचाने के लिए संघर्ष करते रहे, लेकिन एलपीजी सिलेंडर फटने से आग और बढ़ गई। पुलिस ने कहा कि तीन दमकल गाड़ियां, जिनमें से एक ईटानगर से लाई गई थी, ने आग पर काबू पाने के लिए घंटों संघर्ष किया। उन्होंने कहा कि आग से हुए नुकसान का सही आकलन किया जा रहा है, लेकिन यह करोड़ों रुपए में होने का अनुमान है। एसपी (राजधानी) जिमी चिराम ने कहा कि आग लगने के सही कारणों का पता दमकल विभाग द्वारा जांच पूरी होने के बाद ही चल पाएगा।

दुकानदारों ने लगाया लापरवाही का आरोप
दुकानदारों ने आरोप लगाया कि आग लगने की सूचना मिलते ही वे बगल के दमकल केंद्र पहुंचे, लेकिन वहां कोई कर्मी नहीं मिला। इसके अलावा, जब दमकल कर्मी पहुंचे, तो दमकल गाड़ियों में पानी नहीं था। दुकानदारों ने आरोप लगाया कि पानी फिर से भरने के लिए कर्मियों को लंबी दूरी तय करनी पड़ी और वे सुबह 5 बजे के आसपास ही पानी लेकर वापस आ सके, जिससे अधिकांश बाजार पहले ही जल चुका था। नाहरलगुन बाजार कल्याण समिति के अध्यक्ष किपा नई(Naharlagun Bazar Welfare Committee president Kipa Nai) ने कहा, "पुलिस ने भी कार्रवाई नहीं की। उन सभी को अपने कर्तव्यों का पालन करने में विफलता के लिए सेवा से बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए।"

दुकानदारों से बात करने के बाद अरुणाचल चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (एसीसी एंड आई) के अध्यक्ष तार नचुंग ने मांग की कि ड्यूटी पर सभी अग्निशमन कर्मियों को लापरवाही के लिए निलंबित कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि यह सरकार की विफलता है कि उसने आग बुझाने के लिए आवश्यक न्यूनतम बुनियादी ढांचा स्थापित नहीं किया है-जैसे कि पानी भरने के पॉइंट, जिसे तुरंत राजधानी परिसर में विभिन्न स्थानों पर उपलब्ध कराया जाना चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि अगर राजधानी के बीचोंबीच यही हाल है तो जिलों के क्या हाल होंगे?  ईटानगर के विधायक टेची कासो ने मीडिया से कहा कि राज्य सरकार एसीसी एंड आई के सहयोग से बाजार का पुनर्निर्माण करेगी। 

यह भी पढ़ें
बैन के बावजूद दिल्ली में जमकर फूटे पटाखे, धुएं से एयर क्वालिटी बेहद खराब हुई, जानिए पूरी डिटेल्स
गैस सिलेंडर फटने से भरभराकर गिर गया दो मंजिला मकान, युवक की मौत से मातम में बदली दिवाली की खुशियां

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios