Asianet News HindiAsianet News Hindi

कौन हैं महबूबा मुफ्ती, जिन्हें 3 महीने में दूसरी बार किया गया नजरबंद, आखिर क्या है वजह?

पीडीपी नेता और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को एक बार फिर नजरबंद कर दिया गया है। इस बात का खुलासा खुद महबूबा ने रविवार को ट्वीट करते हुए किया। बता दें कि महबूबा को पिछले 3 महीने में दूसरी बार हाउस अरेस्ट किया गया है। इससे पहले मई में भी उन्हें नजरबंद किया गया था।

Who is Mehbooba Mufti, who was placed under house arrest for the second time in 3 months kpg
Author
Jammu and Kashmir, First Published Aug 21, 2022, 1:21 PM IST

Mehbooba Mufri House Arrest: पीडीपी नेता और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को एक बार फिर नजरबंद कर दिया गया है। इस बात का खुलासा खुद महबूबा ने रविवार को ट्वीट करते हुए किया। महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए आरोप लगाया कि सरकार ने उन्हें नजरबंद कर दिया है। इतना ही नहीं, मुफ्ती ने अपने घर के बाहर खड़ी सीआरपीएफ की गाड़ी और मेन गेट पर लटक रहे ताले की तस्वीर भी शेयर की है।

हमें कश्मीरी पंडितों का दुश्मन प्रोजेक्ट कर रही सरकार : 
महबूबा मुफ्ती ने कहा कि केंद्र सरकार कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा को छुपाना चाहती है क्योंकि उसकी कठोर नीतियों की वजह से उन लोगों की टारगेट किलिंग हुई है, जिन्होंने भागने का विकल्प नहीं चुना। इस तरह सरकार हमें सबके सामने कश्मीरी पंडितों का दुश्मन प्रोजेक्ट कर रही है। इसी वह से मुझे नजरबंद कर लिया गया है। 

इस वजह से किया नजरबंद :
बता दें कि महबूबा मुफ्ती रविवार को सुनील कुमार भट्ट के परिवार से मिलने जा रही थीं। महबूबा ने कहा- मैं आज सुनील कुमार के परिवार से छोटीगाम में मिलने जा रही थी, लेकिन प्रशासन ने मेरी कोशिशों को नाकाम कर दिया। वहीं प्रशासन का दावा है कि हमें बंदर करना हमारी सुरक्षा के लिए जरूरी है, जबकि वो खुद घाटी के हर चौराहे और नुक्कड़ पर जाते हैं। भट्ट की 16 अगस्त को आतंकियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। 

सेब के बागान में काम करते वक्त मारी गोली : 
दक्षिण कश्मीर के शोपियां स्थित छोटीगाम गांव में सुनील कुमार भट्ट और उनके भाई पिंटू कुमार जब सेब के बागान में काम कर रहे थे, तभी आतंकियों ने उन पर हमला कर दिया था। इसमें सुनील कुमार भट्ट की मौत हो गई थी। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन अल बद्र ने ली थी। इससे पहले उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले के अजस के सदुनारा इलाके में गुरुवार-शुक्रवार(11-12 अगस्त) की दरमियानी रात अज्ञात बंदूकधारी आतंकवादियों ने एक गैर-स्थानीय मजदूर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

3 महीने पहले भी महबूबा हुई थीं हाउस अरेस्ट : 
महबूबा मुफ्ती को इससे पहले 13 मई को भी प्रशासन ने हाउस अरेस्ट किया था। तब वो बडगाम जा रही थीं। उस वक्त वे टारगेट किलिंग में मारे गए कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट के परिजनों से मिलने जा रही थीं। बता दें कि पिछले 8 महीने में 27 कश्मीरी हिंदुओं की हत्या हो चुकी है। 

कौन हैं महबूबा मुफ्ती?
महबूबा मुफ्ती पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की सबसे बड़ी बेटी हैं। उनकी छोटी बहन राजनीति से दूर हैं और चेन्नई में रहती हैं, जबकि, भाई मुंबई में रहता है। बता दें कि महबूबा का तलाक हो चुका है। महबूबा मुफ्ती का जन्म 22 मई, 1959 को कश्मीर के राजनीतिक परिवार में हुआ था। कश्मीर यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री लेने के बाद 1984 में उनकी शादी जावेद इकबाल से हुई थी। दो बेटियों के जन्म के बाद उनका तलाक हो गया। जावेद से तलाक के बाद बेटियों को महबूबा ने ही पाला।

ये भी देखें : 

लकड़ी काटने वाली मशीन से चीरा, आंखें निकाल पहनाया चश्मा; कश्मीरी पंडितों से हुई बर्बरता सुन कांप उठेगा कलेजा

8 PHOTOS: देखें कश्मीर में हो रही टारगेट किलिंग से किस तरह डरे हुए हैं हिंदू, घर-बार छोड़ पलायन को मजबूर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios