Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना के कारण ओलंपिक का स्थगित होना लगभग तय, दर्शकों के बिना होगी मशाल रिले

तोक्यो ओलंपिक मशाल रिले गुरूवार को फुकुशिमा से शुरू होगी लेकिन इसमें ना तो मशाल होगी, ना मशालवाहक और ना ही दर्शक । यूनान से 12 मार्च को ओलंपिक ज्योति यहां पहुंच गई है ।

The postponement of Olympics due to Corona is almost certain, torch relay will be without spectators KPB
Author
Tokyo, First Published Mar 24, 2020, 3:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

तोक्यो. तोक्यो ओलंपिक मशाल रिले गुरूवार को फुकुशिमा से शुरू होगी लेकिन इसमें ना तो मशाल होगी, ना मशालवाहक और ना ही दर्शक । यूनान से 12 मार्च को ओलंपिक ज्योति यहां पहुंच गई है । इसे लालटेन में एक वाहन पर रखकर घुमाया जायेगा। इस बीच तोक्यो ओलंपिक के स्थगित होने की पूरी संभावना बन गई है । दुनिया भर से खेल महासंघ , मौजूदा और पूर्व खिलाड़ी इसके लिये दबाव बना रहे हैं जबकि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने चार सप्ताह के भीतर फैसला लेने की घोषणा की है । 

कोविड 19 के चलते सड़कें सूनी पड़ी है क्योंकि लोगों से सामाजिक दूरी बनाये रखने के लिये कहा गया है। 

राष्ट्रीय प्रसारक एनएचके और जापान की समाचार एजेंसी क्योदो ने यह जानकारी दी । आयोजन समिति के सीईओ तोशिरो मुतो ने कहा ,‘‘ काश कम से कम एक धावक मशाल रिले में साथ रह पाता ।’’

लगातार ओलंपिक स्थिगत करने की उठ रही मांग 
इस बीच अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति पर तोक्यो ओलंपिक को स्थगित करने के लिये दबाव लगातार बढ रहा है और अब अमेरिका ने भी खेलों को आगे बढाने का समर्थन कर दिया है जबकि खिलाड़ियों ने चार सप्ताह की समय सीमा की निंदा की है । कनाडा और आस्ट्रेलिया पहले ही कोविड 19 के कारण ओलंपिक से पीछे हट चुके हैं । अब अमेरिकी ओलंपिक समिति ने कहा है कि खेलों को स्थगित करना ही सर्वश्रेष्ठ विकल्प है । विश्व एथलेटिक्स समेत दुनिया भर के खेल महासंघों ने 24 जुलाईसे नौ अगस्त तक होने वाले इन खेलों को आगे बढाने की मांग की है ।

4 सप्ताह के अंदर फैसला लेगा आईओसी 
आईओसी ने इस बारे में चार सप्ताह के भीतर फैसला लेने का ऐलान किया है । आईओसी के एक वरिष्ठ अधिकारी डिक पाउंडने कहा ,‘‘ मुझे लगता है कि आईओसी ओलंपिक को रद्द नहीं करना चाहती और 24 जुलाई से खेल हो नहीं सकते ।ऐसे में स्थगित ही किये जा सकते हैं ।’’ आईओसी अध्यक्ष थामस बाक, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे, तोक्यो के गर्वनर और आयोजन समिति के प्रमुख मंगलवार की रात टेलीफोन पर बात करेंगे ।

अमेरिका के 68 फीसदी खिलाड़ी अभी ओलंपिक के खिलाफ 
अमेरिकी ओलंपिक समिति ने 1780 अमेरिकी खिलाड़ियों के बीच कराये गए सर्वे के बाद स्थगन का समर्थन किया है ।उसके 68 प्रतिशत खिलाड़ी चाहते हैं कि खेल बाद में कराये जायें । कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दुनिया भर में खेल गतिविधियां ठप्प हैं । ओलंपिक क्वालीफायर भी नहीं हो सके हैं । अमेरिकी ओलंपिक और पैरालम्पिक समिति ने कहा ,‘‘खिलाड़ियों के जवाब से सबसे अहम बात सामने आई है कि मौजूदा हालात सुधरने पर भी अभ्यास के माहौल, डोप नियंत्रण , क्वालीफिकेशन जैसी प्रक्रियाओं में बाधा आयेगी ।’’

आईओसी के 4 सप्ताह में निर्णय सुनाने पर भी विरोध 
अमेरिकी जिम्नास्टिस , अमेरिकी तैराकी और ट्रैक एंडफील्ड पहले ही इसकी मांग कर चुके हैं । इस बीच ब्रिटिश ओलंपिक संघ के अध्यक्ष ह्यूज राबर्टसन ने स्काय स्पोटर्स से कहा कि अगर संक्रमण जारी रहा तो टीम नहीं भेजी जा सकती । इस बीच खिलाड़ियों की बात रखने वाले एक संगठन ग्लोबल एथलीट ने चार सप्ताह की मियाद के लिये आईओसी की आलोचना की है । इसने एक बयान में कहा ,‘‘ यह गैर जिम्मेदाराना, अस्वीकार्य और खिलाड़ियों के हितों की अनदेखी करने वाला है।’’ ब्रिटिश साइकिलिस्ट कालम स्किनर ने बाक पर निजी हितों को तरजीह देने का आरोप लगाया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios