राजस्थान में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का टाइगर से होगा सामना: मुकुंदरा टाइगर रिजर्व चलेगी नहीं पैदल

| Dec 01 2022, 05:01 PM IST

राजस्थान में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का टाइगर से होगा सामना: मुकुंदरा टाइगर रिजर्व चलेगी नहीं पैदल

सार

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान शेड्यूल में मुकुंदरा टाइगर रिजर्व से होकर निकलना तय है। यहां टाइगर की चहलकदमी के चलते पैदल के बजाए गाड़ियों पर जाएंगे राहुल गांधी व बाकी कार्यकर्ता।

जयपुर (jaipur). कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 5 दिसंबर से राजस्थान में प्रवेश करने जा रही है। यात्रा वसुंधरा राजे के चुनावी गढ़ झालावाड़ से इंट्री करेगी। यात्रा के तीसरे दिन वह कोटा जिले के बॉर्डर में प्रवेश कर लेगी। इस इंट्री के साथ ही कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल कार्यकर्ताओं और राहुल गांधी को पैदल चलने की बजाए गाड़ियों में सवार होकर आगे चलना पड़ेगा। क्योंकि मुकुंदरा टाइगर रिजर्व होने के चलते वहां टाइगर की चहलकदमी होती रहती है। जिसके पहले अब वन विभाग ने यह निर्णय लिया है।


60-80किमी में फैला है टाइगर रिजर्व, घूमते दिख जाते हैं टाइगर
आपको बता दें कि राजस्थान में मुकुंदरा टाइगर हील करीब 60 से 80 किलोमीटर में फैला हुआ है। जो राजस्थान के बूंदी जिले और कोटा जिले दोनों के कुछ-कुछ एरिया को कवर करता है। यहां पिछले 5 सालों से टाइगर रिजर्व बना हुआ है। ऐसे में अब यात्रा के पहले वन विभाग राजस्थान का प्रशासन यह जोखिम नहीं उठाना चाहता की यात्रा में बाघों के चलते किसी तरह की परेशानी हो। मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में कुछ छोटी नदियां और तालाब भी है। ऐसे में यहां टाइगर के अलावा अन्य भी कई खतरनाक जानवरों की आवाज आती है। जिससे हमेशा खतरा बना रहता है।

Subscribe to get breaking news alerts

सालभर रहती हैं हरियाली, दुनिया में है इसके चर्चे
मुकुंदरा टाइगर रिजर्व ही पूरे राजस्थान में केवल एक ऐसा इलाका है जहां साल के 365 दिन हरियाली रहती है। मानसून में तो यह हाडोती इलाके का मुख्य पर्यटन स्थल होता है। जिसे देखने के लिए केवल राजस्थान ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों से भी लोग यहां आते हैं। और ट्रैकिंग भी करते हैं। इस टाइगर रिजर्व में ही गडरिया महादेव का एक मंदिर भी है। इसके चर्चे देश ही नहीं बल्कि दुनिया में भी है।

गौरतलब है कि राजस्थान में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा करीब 6 जिलों को कवर करेगी पूर्णविराम ऐसे में यह यात्रा करीब 521 किलोमीटर चलेगी। जिसमें राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के करीब 500 कार्यकर्ता शामिल होंगे। जो इंटरव्यू के जरिए सिलेक्ट किए हुए हैं। इसके अलावा स्थानीय नेता भी इस यात्रा में शामिल हो सकते हैं। आम आदमी का यात्रा में शामिल होना सख्त मना है।

यह भी पढ़े- राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा का रूट: राहुल गांधी कहां जाएंगे, कहां लंच-डिनर करेंगे, स्पेशल रिपोर्ट में सबकुछ