Asianet News HindiAsianet News Hindi

जोधपुर में छात्रसंघ चुनाव रिजल्ट से पहले विश्वविद्यालय के बाहर हुई फायरिंग, मचा बवाल... 3 गुना पुलिस बल तैनात

राजस्थान में कोरोना के कारण दो साल बाद छात्रसंघ के चुनाव हुए है। वोटिंग होने के बाद आज यानि शनिवार के दिन खबर आ  रही है कि जोधपुर में वोट काउंटिंग के यूनिवर्सिटी के बाहर फायरिंग की घटना हो गई है। इसके चलते भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

jodhpur news firing outside university during student union election vote counting asc
Author
Jodhpur, First Published Aug 27, 2022, 11:44 AM IST

जोधपुर. राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव के परिणाम जारी होने से पहले राजस्थान के दूसरे सबसे बड़े विश्वविद्यालय के बाहर फायरिंग से दहशत फैल गई है। फायरिंग की इस घटना के बाद हालात ये हो गए हैं कि पुलिस ने सुरक्षा के लिए लगाए गए पुलिसकर्मियों की संख्या चार गुना कर दी है। पुलिस अफसर भी मौके पर पहुंचे गए हैं और पूरी रात से फायरिंग करने वालों की तलाश की जा रही है। इस घटना के बाद हालात काबू में रहें इसलिए पूरे जिले में भारी पुलिस बंदोबस्त कर दिया गया है। दरअसल देर रात जोधपुर के रातानाड़ा पुलिस थाने में केस भी दर्ज कराया गया है ।

यह है पूरा मामला
मामले की जांच कर रही पुलिस ने बताया कि जोधपुर में स्थित जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय के बाहर देर रात कार सवार कुछ युवक आए थे। उन्होनें पहले तो तेज आवाज में गाने बजाए और  उसके बाद फायरिंग कर दी। तीन से चार बार हवाई फायरिंग करने के बाद जैसे ही इसकी सूचना विश्वविद्यालय के आसपास गश्त कर रहे पुलिसकर्मियों को लगी तो बवाल मच गया। पुलिसकर्मियों ने कार का पीछा किया लेकिन कार अंधेरी गलियों में ओझल हो गई। उधर इस घटना की सूचना जैसे ही पुलिस अफसरों को मिली तो  रातों रात ही अफसर दौड़कर वहां आ पहुंचे।

दोनो ही पार्टियों ने जाट छात्रों को दिया है टिकट
गौरतलब है कि जोधपुर में जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय में इस बार चुनाव के परिणम बेहद चौकाने वाले सामने आने वाले हैं। एनएसयूआई और एबीवीपी दोनो ने ही जाट छात्रों को टिकिट दिया है। इस टिकिट वितरण के बाद पहले ही अंदाजा लगाया जा रहा था कि परिणाम चौकाने वाले हो सकते हैं। परिणामों के बाद किसी तरह का बवाल नहीं हो इस कारण विश्वविद्यालय के बाहर करीब दो सौ पुलिसकतर्मी लगाए गए थे, अब इनकी संख्या करीब छह सौ कर दी गई है।

आपको बता दे कि राजस्थान में कोरोना के कारण दो साल तक छात्रसंघ के चुनाव नहीं हो पाए थे। राज्य सरकार ने इस बार चुनाव कराने की परमिशन दी थी। जिसके बाद चुनाव हुए,लेकिन इस बार यह लगातार विवादों में बना रहा।

यह भी पढ़े- राजस्थान छात्रसंघ चुनाव 2022 अपडेटः शुरू हुई मतगणना, भारी पुलिस तैनात, जीत के बाद रैली निकालने पर रोक

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios