Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान के सियासी संग्राम पर उप नेता प्रतिपक्ष राठौड़ का बड़ा बयान, कहा- 'जूतों में दाल बांट रही कांग्रेस

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को कांग्रेस पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने के साथ प्रदेश कांग्रेस में शुरू हुए सियासी संग्राम पर उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने बड़ा बयान दिया। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में हुए तबादलों को लेकर भी सरकार को घेरा।

sikar news rajasthan political crises deputy leader of opposition rajendra rathore gave big statement asc
Author
First Published Sep 28, 2022, 10:15 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने के साथ प्रदेश कांग्रेस में शुरू हुए सियासी संग्राम पर उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने बड़ा बयान दिया है। राठौड़ ने इसे अंतहीन संग्राम बताते हुए कहा है कि कांग्रेस जूतों में दाल बांटने का काम कर रही है। राठौड़ बुधवार को कांग्रेस नेता सुभाष महरिया व नंदकिशोर महरिया के कार शोरूम के उद्घाटन समारोह में आए थे। जहां उन्होंने कांग्रेसी मित्र नेताओं के सामने ही कांग्रेस को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में जिस तरह कुर्सी की जंग हो रही है उससे प्रदेश में विकास पूरी तरह ठप हो गया है। इस सियासी जंग से कांग्रेस का बिखराव की तरफ जाना भी जाहिर हो रहा है।

गहलोत व सरकार को घेरा
उन्होंने प्रदेश में तबादलों को लेकर भी प्रदेश सरकार को घेरा। कहा कि जब मंत्री इस्तीफा दे चुके हैं तो रोजाना तबादला सूची कैसे जारी हो रही है। उन्होंने कहा कि इससे साफ है कि प्रदेश कांग्रेस सरकार के मंत्रियों का तबादला उद्योग अब भी जारी है। सीएम गहलोत को निशाना बनाते हुए उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार के इस राज में दूसरी बार कांग्रेस की कलह पूरे देश के सामने आ चुकी है। बोले, कांग्रेस में जो अंतर्विरोध शुरू हुआ है वह अंतहीन होगा। आगे कहा कि कांग्रेस आलाकमान के आदेश का जो अनादर हुआ है वह सबके सामने है। प्रदेश में मंत्री व विधायकों के बाद गेंद अब पूरी तरह से विधानसभा अध्यक्ष के पाले में है।

एक मंच पर दिखे प्रतिद्वंद्वी
शोरूम में प्रतिद्वंद्वियों का साथ दिखना भी चर्चा का विषय रहा। यहां पहले कांग्रेस नेता महरिया के शोरूम पर भाजपा नेता राठौड़ का आना सुर्खियों में रहा। बाद में सुभाष महरिया के पुराने प्रतिद्वद्वी भाजपा के पूर्व विधायक प्रेम सिंह बाजौर का भी वहां पहुंचकर उनके साथ वार्ता करना सबको चौंका देने वाला था। मामले में राजेन्द्र राठौड़ का कहना था कि वे विश्वविद्यालय के समय से सुभाष महरिया के अच्छे दोस्त हैं। राजनैतिक दल भले ही अलग-अलग हो लेकिन दोस्ती तो हमेशा रहेगी। उन्होंने कहा कि वैसे भी राजनीति में सबसे ज्यादा संभावनाएं होती हैं।

यह भी पढ़े- 5 बच्चों की मां की मौत के बाद शव को अस्पताल में छोड़ कर भागा पति, मृ़तका की मां ने लगाए गंभीर आरोप

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios