Asianet News HindiAsianet News Hindi

पुलिस ने जारी की उदयपुर हत्याकांड में पकड़े गए दोनों हत्यारों की तस्वीर, 8 दिन में बनाया था 7 से ज्यादा वीडियो

राजस्थान के उदयपुर में टेलर की नृसंश हत्या करने के बाद दोनों आरोपी भागकर राजसमंद में अपने दोस्त के घर जाकर छिपे थे, जिन्हे घटना के कुछ ही घंटों में पुलिस ने कार्रवाही करते हुए अरेस्ट कर लिया है।

udaipur violence latest update accused arrested sca
Author
Udaipur, First Published Jun 28, 2022, 8:55 PM IST

उदयपुर. उदयपुर में मंगलवार दोपहर को टेलर कन्हैयालाल नामक युवक की हत्या के बाद फरार हुए दोनों हत्यारों को पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार कर लिया है। करीब 5 घंटे के बाद दोनों आरोपियों को उदयपुर के पड़ोसी जिले राजसमंद से पकड़ा गया है। दोनों का नाम रियाज और गोस मोहम्मद है। दोनों उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के निवासी हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके भी दोनों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। बता दें, कुछ दिन पहले नुपुर शर्मा के सपोर्ट में कन्हैया लाल ने सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट किया था। जिसके बाद से उसे लगातार धमकियां मिल रही थी।

बताया जा रहा है कि हत्या करने के बाद दोनों ने जो वीडियो जारी किया था, उसमें दोनों ने अपना नाम बताया था। उसके आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का मानना है कि इस घटनाक्रम में कुछ और भी लोग शामिल हो सकते हैं। उनको भी पकड़ने की कोशिश की जा रही है । 

अपने दोस्त के घर जाकर छुप गए थे दोनों

उदयपुर पुलिस ने रियाज और गौस की गिरफ्तारी के मामले में फिलहाल कोई बयान जारी नहीं किया है। हालांकि सीएम ने गिरफ्तारी की बात कही है, हालांकि नाम की पुष्टि गहलोत के ट्वीट में नहीं है। रियाज और गौस को उदयपुर से करीब 120 किलोमीटर दूर राजसमंद जिले से उनके एक दोस्त के यहां से पकड़ा गया है। मंगलवार दोपहर में उदयपुर में हत्या करने के तुरंत बाद दोनों राजसमंद के लिए रवाना हो गए थे। इनमें से एक युवक भीलवाड़ा जिले का रहने वाला है और एक हर एक राजसमंद का। 

बताया जा रहा है कि दोनों ने 17 जून से लेकर 28 जून तक 7 से ज्यादा वीडियो बनाए थे और इन वीडियो को लगातार सोशल मीडिया पर पूरी प्लानिंग के तहत वायरल किया था। पुलिस तमाम वीडियो देख चुकी है। इन्हीं के आधार पर तीन अन्य लोगों की और तलाश की जा रही है। 

गौरतलब है कि उदयपुर में हुए इस बवाल के बाद 24 घंटे के लिए उदयपुर जिले में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। पूरे प्रदेश में पुलिस ने सख्त निर्देश दिए हैं। भारी पुलिस बंदोबस्त उदयपुर में किया गया है।

क्या है उदयपुर का मामला

28 जून, दिन मंगलवार। दोपहर में बाइक सवार 2 लोग शहर के धानमंडी इलाके में मौजूद सुप्रीम टेलर्स की दुकान में घुसे। दोनों ने दुकानदार कन्हैयालाल (40) से कहा- हमें कपड़े सिलवाने हैं। कन्हैया ने नाप लेना स्टार्ट कर दिया। तभी अचानक पीछे खड़े हत्यारे ने धारदार हथियार से उसके ऊपर हमला कर दिया। दोनों ने तलवार से कई वार कन्हैया के ऊपर किया। ऑन द स्पॉट उसकी मौत हो गई। बता दें, कुछ दिन पहले उसने नुपुर शर्मा के सपोर्ट में एक पोस्ट सोशल मीडिया पर डाला था। जिसके बाद समुदाय विशेष से उसको लगातार धमकियां मिल रही थी। उसने 6 दिन से दुकान भी नहीं खोली थी। इतना ही नहीं, उसने धमकी देने वालों के खिलाफ पुलिस में नामजद रिपोर्ट भी दर्ज करवाई थी लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। वो गोवर्धन विलास इलाके का रहने वाला था। हालांकि, पुलिस ने कन्हैयालाल के दोनों हत्यारे रियास और गोस मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के निवासी हैं।

इसे भी पढ़े- 

यह भी पढ़ें-उदयपुर में युवक की मौत पर बवाल: 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद, 6 IPS और 3000 पुलिस जवान तैनात

यह भी पढ़ें-उदयपुर में तनावः नुपुर शर्मा के सपोर्ट में पोस्ट डालने वाले का काटा सिर, अशोक गहलोत बोले- कड़ी सजा दिलाएंगे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios