लाइफस्टाइल डेस्क। कहते हैं कि सच्चा प्यार बड़ी किस्मत से मिलता है। आज की दुनिया स्वार्थ से भरी हुई है। इसमें शायद ही कोई ऐसा खुशकिस्मत हो जिसे सच्चा प्यार मिल जाए और वह जीवन भर उसका साथ निभाए। अक्सर लड़कियां भावुक दिल की होती हैं और कोई भी जब उनसे प्यार भरी बातें करता है तो वे उस पर यकीन कर लेती हैं। शुरुआत में तो उनके साथी ऐसा व्यवहार करते हैं कि लड़की को उन पर पूरा भरोसा हो जाए। लेकिन आगे चल कर उनके रिश्ते में जब इंटिमेसी आ जाती है तो पार्टनर लड़की को धोखा देने की कोशिश करने लगते हैं। वे तरह-तरह से उसका शोषण करना चाहते हैं। उसके साथ जिस्मानी संबंध बनाने से लेकर कई बार धोखेबाज प्रेमी उनसे पैसों की ठगी भी करते हैं और ब्लैकमेल करने से भी बाज नहीं आते। इसलिए किसी से रिलेशनशिप बनाते हुए बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। जानें कैसे पार्टनर हो सकते हैं धोखेबाज।

1. लड़की की अचीवमेंट पर नहीं होते खुश
धोखेबाज पार्टनर के चरित्र की खासियत होती है कि वे जेलस नेचर के होते हैं। अगर उनकी पार्टनर को किसी फील्ड में कोई अचीवमेंट मिलती है तो वे भीतर से खुश नहीं होते, बल्कि इसका दिखावा करते हैं। इसकी पहचान आसानी से की जा सकती है।

2. उनमें होती है नेगेटिविटी 
धोखेबाज किस्म के लोगों के स्वभाव में नेगेटिविटी पाई जाती है। आपकी किसी बात पर वे उत्साह नहीं दिखाते। अगर आपने उनके सामने अपनी कोई योजना रखी तो वे आपका उत्साह बढ़ाने की जगह ये बताने लगेंगे कि इसमें कितनी परेशानी आएगी और इससे कोई फायदा नहीं होगा। दरअसल, ऐसे लोग हीन भावना के शिकार होते हैं और यह कभी नहीं चाहते कि उनका पार्टनर उनसे आगे बढ़ जाए। इसे लेकर वे हमेशा आशंकित रहते हैं।

3. कभी वादा पूरा नहीं करते
ऐसे लोगों की खासियत होती है कि अगर ये कोई वादा करते हैं तो उसे कभी पूरा नहीं करते और तरह-तरह के बहाने बनाते हैं। अगर वे कहते हैं कि किसी काम में मदद करेंगे या साथ चलेंगे तो ऐन वक्त पर कोई ना कोई बहाना बना देते हैं। जब उन्हें लगता है कि उन्हें फोन किया जा सकता है तो ऐसे समय में वे फोन स्विचऑफ कर देते हैं।

4. संबंध बनाने पर देते हैं जोर
ऐसे लोग जब भी अपनी गर्लफ्रेंड से मिलते हैं तो उससे संबंध बनाने पर जोर देते हैं। यह उनका एकमात्र मकसद होता है। अगर इसमें वह सफल हो जाते हैं तो फिर बार-बार ऐसा करने को कहते हैं। अगर लड़की ने मना किया या शादी करने की बात कही तो ऐसे लोग अचानक संबंध तोड़ देते हैं और संपर्क करने का हर जरिया बंद कर देते हैं। 

5. बुरे वक्त में कभी नहीं देते साथ
ऐसे लोगों के चरित्र की ये विशेषता होती है कि अपना काम तो जिद कर के किसी तरह निकलवा लेते हैं, लेकिन अगर पार्टनर किसी परेशानी में पड़ा तो उससे कन्नी काट लेते हैं और किसी तरह की मदद करना तो दूर, मिलना तक गवारा नहीं करते। जब पार्टनर की हालत अच्छी हो जाती है तो फिर ये बहाने बना कर उससे संपर्क जोड़ना चाहते हैं। ऐसे लोगों से हमेशा सावधान रहना चाहिए और इन्हें कभी पास नहीं फटकने देना चाहिए।