Asianet News HindiAsianet News Hindi

गलतफहमियों से रिलेशनशिप में आ जाती है दरार, संबंध ठीक रखने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके

कोई भी रिश्ता भरोसे की बुनियाद पर मजबूत होता है। अगर आपस में गलतफहमियां पैदा हो जाएं तो रिश्ते में खटास आते देर नहीं लगती। इसलिए गलतफहमियों से हर हाल में बचने की कोशिश करनी चाहिए।

Misunderstandings can destroy relationships, follow these 5 ways to keep the relationship right MJA
Author
New Delhi, First Published May 4, 2020, 6:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रिलेशनशिप डेस्क। कोई भी रिश्ता भरोसे की बुनियाद पर मजबूत होता है। अगर आपस में गलतफहमियां पैदा हो जाएं तो रिश्ते में खटास आते देर नहीं लगती। इसलिए गलतफहमियों से हर हाल में बचने की कोशिश करनी चाहिए। जब आप किसी के साथ रिश्ता बनाते हैं, तो पार्टनर से आपको उन बातों की उम्मीद नहीं रखनी चाहिए, जो पूरी नहीं हो सकतीं। जब रिश्ता बनता है तो शुरुआती दौर में काफी उत्साह होता है। उस समय पार्टनर्स को लगता है कि वे एक-दूसरे के लिए क्या नहीं कर सकते, लेकिन वास्तव में ऐसा हो नहीं पाता। इससे आगे चत कर निराशा पैदा होने लगती है। कई बार दोस्त भी पार्टनर्स के बीच गलतफहमियां पैदा करने की कोशिश करते हैं। जिन लोगों में परस्पर भरोसे और विश्वास की कमी होती है, वे दूसरों के कहने पर पार्टनर से रिश्ता तोड़ लेते हैं। जानें रिलेशनशिप को मजबूत बनाए रखने के कुछ टिप्स।

1. भरोसा मत तोड़ें
जब आप किसी से रिश्ता बनाते हैं, तो उस पर पूरा भरोसा भी करें। छोटी-मोटी बातों को लेकर पार्टनर से ज्यादा पूछताछ नहीं करें। इससे पार्टनर को लगेगा कि आप उसकी प्राइवेसी में दखल दे रहे हैं। इसलिए पार्टनर की हर छोटी-मोटी बातों में दखल देने की कोशिश नहीं करें। यह मान कर चलें कि पार्टनर आपसे खुद जरूरी बातें बताएगा। अगर आप पार्टनर पर भरोसा रखेंगे तो वह भी आपके साथ गलत ढंग से पेश नहीं आएगा। 

2. बेवजह गुस्सा नहीं करें
कई बार जब रिश्ते काफी गहरे हो जाते हैं तो हम एक-दूसरे को कुछ भी कह देते हैं। अक्सर हम मामूली बातों पर भी गुस्से में आ जाते हैं। गुस्से में इंसान ऐसी बातें भी बोल देता है, जो बेहद आपत्तिजनक होती हैं। इससे पार्टनर के मन पर गहरी चोट लग सकती है और रिश्ता टूट सकता है। इसलिए अगर गुस्सा आए तो उस समय बात करने से परहेज करें।

3. शक मत करें
कुछ लोग अपन पार्टनर पर मामूली बातों को लेकर भी शक करने लगते हैं। अगर पार्टनर ज्यादा समय फोन पर बिजी रहा तो इसे लेकर भी उन्हें शक होता है। कहावत है कि शक की बीमारी का इलाज हकीम लुकमान के पास भी नहीं था। अगर आपको किसी बात को लेकर संदेह हो तो आप पार्टनर से खुल कर बात करें। 

4. पार्टनर के स्वभाव को समझें
हर दो इंसान का स्वभाव एक जैसा नहीं होता। कुछ लोग काफी बात करने वाले होते हैं तो कुछ ज्यादा बात नहीं करते। कुछ लोगों की आदत होती है कि वे अपने बारे मे सब कुछ बता देते हैं तो कुछ लोग जरूरी बातें ही बताते हैं। इसलिए अगर पार्टनर से रिलेशन ठीक रखना है तो उसके स्वभाव को समझना होगा। साथ ही, पार्टनर के मूड को भी भांप कर बात करना चाहिए।

5. पार्टनर की चर्चा सबसे मत करें
कुछ लोगों की आदत होती है कि वे पार्टनर की चर्चा अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और परिचितों से भी करने लगते हैं। कई बार वे पार्टनर की काफी प्रशंसा करते हैं, लेकिन अगर कभी खटपट हो गई हो तो इसकी चर्चा करने से भी बाज नहीं आते। इसका बहुत गलत असर पड़ता है और गलतफहमियां पैदा होती हैं। इससे नेगेटेविटी बढ़ती है और रिलेशनशिप में दरार आने लगती है।      

  
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios