16

मामले की जांच पड़ताल राम नगरिया थाना पुलिस कर रही है। पुलिस ने बताया कि जिनकी मौत हुई है वे दौसा जिले के सरकारी अस्पताल में हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर संतोष मीणा हैं। संतोष मीणा नामी डॉक्टर थे और उनकी पत्नी सीमा मीणा भी यहीं पर डॉक्टर हैं। 

26

पुलिस ने बताया कि संतोष के 17 साल के बेटे की मौत नवम्बर 2021 में हो गई थी। कोरोना के कारण बेटा कुछ बीमार रहा । वह तेजी से रिकवर भी कर रहा था लेकिन इस बीच अचानक 14 नवम्बर को तेज फीवर हुआ। माता पिता दोनो चिकित्सक थे। लेकिन बेटे ने हाथों में दम 

36

बेटे की मौत के बाद परिवार ने जैसे तैसे खुद को संभाला। इस बीच डॉक्टर सीमा मीणा ने फिर से मां बनने की ठानी और ज्यादा उम्र होने के बाद भी वे मां बनी। घर में आई मासूम बेटी ने परिवार को व्यस्त कर दिया। लेकिन नियति क्रूर निकली। 

46

कुछ दिन पहले दौसा जिले में ही सवेरे वॉक के दौरान सतोंष और उनकी पत्नी सीमा पार्क के पास से गुजर रहे थे। तभी एक घोड़ा बिदक गया और उसने सीमा मीणा पर लातें बरसा दीं। उसके बाद घोड़ा दौड़ गया। सीमा को अस्पताल में भर्ती कराया गया, कुछ दिन इलाज के बाद वे कोंमा में चली गई। उधर खुश मिजाज संतोष मीणा फिर से तनाव में डूब गए।

56

पत्नी को जयपुर के एक नामी अस्पताल मे भर्ती कराया गया, लेकिन वह कोमा से बाहर नहीं निकल सकीं। इस बीच देर रात संतोष मीणा की भी मौत हो गई। उनका शव उनकी कार  में मिला। इसे तनाव के चलते हार्ट अटैक माना जा रहा है।

66

 घर पर अब आठ महीने की बच्ची और बारह साल की उसकी बड़ी बहन बचे हैं। हंसता खेलता परिवार कुछ ही महीनों में उजड़ गया है।