Amazing Invention  

(Search results - 7)
  • Amazing invention of student vegetable fruit electric energy generate bulb mobile charge kpr

    JharkhandDec 30, 2020, 12:13 PM IST

    11वीं के छात्र का कमाल: सब्जी-फल से जल रहा बल्ब और चार्ज होता मोबाइल, लोग कहते दूसरा कलाम है बच्चा

    रांची. फल और सब्जी को अक्सर हम खाने में उपयोग करते हैं। इनके अलावा उनका दूसरो कोई और यूज नहीं होता है। लेकिन झारखंड के छात्र ने इन फल-सब्जी को लेकर ऐसा कमाल कर दिखाया है, जिस पर यकीन करना मुश्किल लग रहा है। अब आप घर बैठे-बैठे सब्जियों फलों से इलेक्ट्रिक एनर्जी भी जनरेट कर सकते हैं और बल्ब जलाने के अलावा मोबाइल फोन चार्ज कर सकते हैं।

  • Amazing invent of jugaad science, amazing of e waste Jugaad kpa

    HatkeDec 15, 2020, 12:01 PM IST

    कचरे से कमाल, कबाड़ की जुगाड़ से बना दीं ऐसी-ऐसी चीजें कि लोग देखकर पूछते हैं, कैसे किया?

    देहरादून, उत्तराखंड. कोई भी चीज कबाड़ नहीं होती! हर चीज का अगर सही तरीके से उपयोग किया जाए, तो वो कमाल का आविष्कार साबित होती है। यह मोटरसाइकिल ऐसे ही कबाड़ की जुगाड़ से बनी है। कचरे से कैसे खूबसूरत चीजें बनाई जा सकती हैं, अगर देखना है, तो देहरादून के आईटीडीए के ई-वेस्ट स्टूडियो को देखने आइए। यहां प्लास्टिक की बोतलों और अन्य कचरा चीजों से स्टूडियो को खूबसूरत बनाया गया है।

  • Stories of agricultural machines and other amazing inventions made with indigenous jugaad technology kpa

    Other StatesDec 12, 2020, 11:59 AM IST

    जुम्मन मिस्त्री ने कबाड़ और लाउडस्पीकर की जुगाड़ से बना दिया टिड्डियों को भगाने वाला ये गजब यंत्र

    नवादा, बिहार. टिड्डियां हर साल अपना प्रकोप दिखाती हैं। जैसे ही फसलें खेतों में खड़ी होती हैं, टिड्डी दल उन्हें चाटने पहुंच जाता है। यह एक बड़ी समस्या है, जिसका देश-विदेश में उपाय खोजा जा रहा है। लेकिन भारत में कई किसान देसी तकनीक से ऐसी उपकरण बनाते रहे हैं, जो टिड्डियों को भगाने का अचूक तरीका साबित हुए हैं। देसी जुगाड़ का यह आविष्कार कुछ महीने पहले मीडिया की सुर्खियों में आया था। ऐसे आविष्कार आप भी कर सकते हैं। इसे बनाया था जुम्मन मिस्त्री उर्फ अवधेश कुमार ने।  जुम्मन मिस्त्री किसान भी हैं। वे खेतों में मंडराती टिड्डियों को लेकर परेशान थे। आखिरकार उन्होंने दिमाग दौड़ाया और यह मशीन बना ली। इसे नाम दिया टिड्डी रक्षक। उन्होंने दावा किया था कि इस यंत्र से टिड्डियां खेत में एक सेकेंड भी नहीं टिक पाएंगी। आगे पढ़ें इसी आविष्कार के बारे में...

  • an amazing invention made from Desi jugaad  science, jugaad from junk kpa

    RajasthanDec 1, 2020, 5:13 PM IST

    जब बिजली और डीजल ने रुलाया, तो किसान ने एक आइडिया निकाला और चल पड़ा इंजन, पैसा भी बचा

    भीलवाड़ा, राजस्थान. ये कहानियां दिमाग की बत्ती जला देंगी। कहते हैं जब सिर पर कोई समस्या मंडराती है, तो समझदार व्यक्ति उसका उपाय खोज निकालता है। ये मामले भी इससे ही जुड़े हैं। देसी जुगाड़ साइंस से इन लोगों ने ऐसे आविष्कार कर दिए कि इंजीनियर भी हैरान रह गए। आइए पहले जानते हैं राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के अमरगढ़ में रहने वाले किसानों की कहानी। यहां के गांवों में बिजली की बड़ी दिक्कत थी। इसलिए किसान डीजल के इंजन पर निर्भर थे। लेकिन डीजल इतना महंगा पड़ता था कि उन्हें टेंशन होने लगती थी। बस फिर क्या था...कुछ किसानों ने दिमाग लगाया और रसोई गैस से इंजन चलाने का तरीका खोज निकाला। आगे पढ़िए इसी कहानी के बारे में...

  • Desi Jugaad Science, These people made amazing inventions with the waste things kpa

    Other StatesSep 14, 2020, 5:17 PM IST

    कबाड़ से कमाल: देसी जुगाड़ के कुछ ऐसे आविष्कार, जिन्हें देखकर इंजीनियर भी सोच में पड़ जाते हैं

    भोपाल, मध्य प्रदेश. देश-दुनिया में रोज कुछ न कुछ आविष्कार होते रहते हैं। छोटे और बड़े स्तर पर। अगर बात मशीनरी या ऐसी ही किसी चीज से जुड़ी इंजीनियरिंग की है, तो लोग आधुनिक तकनीक से लैस चीजों को तरजीह देते हैं। लेकिन जब कभी उनके सामने देसी जुगाड़(Desi Jugaad Science) से निर्मित सस्ती और कमाल की उपयोग चीजें सामने आती हैं, तो वे हैरान रह जाते हैं। यहां हम आपको ऐसे लोगों से मिलवा रहे हैं, जिनके पास किसी भी तरह की इंजीनियरिंग की डिग्री नहीं है। लेकिन उन्होंने ऐसे-ऐसे आविष्कार किए, जो मिसाल बनकर सामने आए। इंजीनियर डे-15 सितंबर( Engineer Day) के मद्देनजर हम आपको खेती-किसानी से जुड़ीं कुछ देसी जुगाड़ से बनीं मशीनों या चीजों के बारे में बता रहे हैं। चूंकि हमारा देश कृषि प्रधान है, इसलिए ये चीजें बहुत उपयोगी हैं।

  • Innovative ideas, interest and amazing inventions by desi jugad science kpa

    ChhattisgarhSep 2, 2020, 5:11 PM IST

    कबाड़ से यह जुगाड़ गाड़ी बनाकर दो बच्चों ने दूर कर दी अपने मां-बाप की तकलीफ, यह है वजह

    सुकमा, छत्तीसगढ़. छोटे बच्चों का दिमाग बहुत शॉर्प होता है। उनके पास ढेरों सवाल होते हैं, जिनका वे समाधान ढूढ़ने में लगे रहते हैं। अब इसे ही देखिए। भला 8 और 5 साल के बच्चों से आप क्या उम्मीद करेंगे? यही कि वे खेलें-कूदें और खाएं-पीएं। मौजमस्ती करें। लेकिन यहां इन बच्चों ने लॉकडाउन में स्कूल आदि बंद होने का गजब फायदा उठाया। वे कहीं से कबाड़ में पड़े साइकिल के दो पहिये उठा लाए। अगले छोटे पहिये खुद जुगाड़ से बनाए और देसी तकनीक से यह गाड़ी तैयार कर दी। यह गाड़ी सिर्फ बच्चों के खेलने के काम नहीं आती, यह जंगल से लकड़ियां घर तक लाने में भी मददगार साबित हो रही है। इन आदिवासी बच्चों के मां-बाप जंगल से लड़कियां लाते वक्त बहुत थक जाते थे। इस गाड़ी ने उनकी परेशानी दूर कर दी है। जानिए पूरी कहानी...

  • IIT student's amazing: Invention of pollution control machine, named PM 2.5

    CareersOct 17, 2019, 9:08 AM IST

    IIT के छात्र का कमाल: प्रदूषण पर लगाम लगाने वाली मशीन का आविष्कार, नाम दिया PM 2.5

    आईआईटी खड़गपुर के स्नातक ने एक ऐसा उपकरण बनाने का दावा किया कि जिसे जब वाहनों के साइलेंसर पाइप के पास फिट किया जाएगा तो वह वायु प्रदूषण पर लगाम लगाएगा। छात्र ने इसे ‘‘पीएम 2.5’’ नाम दिया है। आईआईटी खड़गपुर के मैकेनिकल इंजीनियरिंग स्नातक देवयान साहा ने दावा किया।