Naxalite Attack In Chhattisgarh  

(Search results - 10)
  • <p>Naxalite attack in Chhattisgarh, attack in Bijapur, Naxalite attack in Bijapur</p>

    Fake CheckerApr 9, 2021, 4:19 PM IST

    क्या बीजापुर में जान गंवाने वाले जवानों को नहीं मिलेगा शहीद का दर्जा? जानें क्या है इस वायरल पोस्ट का सच?

    फेसबुक पर एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने कोबरा जवानों को शहीद का दर्जा देने से इनकार कर दिया है। इस वायरल पोस्ट का संबंध छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सल हमले से है, जिसमें 23 जवान शहीद हो गए। ऐसे में बताते हैं कि आखिर वायरल पोस्ट का सच क्या है?

  • <p>Naxalite attack in Chhattisgarh, Naxalite attack, attack in Bijapur, Bijapur Naxalite attack</p>

    TrendingApr 7, 2021, 3:24 PM IST

    गुरिल्ला युद्ध और लगातार 7 दिनों तक लड़ाई...नक्सलियों ने जिस कोबरा जवान को पकड़ा है उसकी ऐसी है ट्रेनिंग

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले के दौरान लापता जवान राकेश्वर सिंह नक्सलियों के कब्जे में है। नक्सलियों ने उनकी एक फोटो जारी की है, जिसमें वे नक्सलियों के कैंप में बैठे नजर आ रहे हैं। राकेश्वर सिंह कोबरा बटालियन के हैं, जिन्हें जंगल में लड़ने के लिए खास ट्रेनिंग दी जाती है। कोबरा जवान 7 दिनों तक लगातार जंगल में लड़ सकते हैं। इन्हें जंगल वॉरियर्स भी कहा जाता है।

  • undefined

    ChhattisgarhApr 7, 2021, 10:46 AM IST

    नक्सली हमलाः इस जवान ने भाई को मौत के मुंह से निकालन गंवा दी अपनी जान, 19 साल बाद बनने वाला था पिता

    किशोर एंड्रीक नक्सलियों से लोहा लेते समय अपने भाई को बचाने के लिए अपनी जान की परवाह नहीं की। बता दें कि शनिवार को जिस वक्त किशोर नक्सलियों से लोहा ले रहे थे, उसी समय उनके भाई हेमंत एंड्रीक भी नक्सलियों से लड़ रहे थे।

  • <p>Naxalite attack in Raipur, Naxalite attack, Naxalite, Naxalite attack in Chhattisgarh</p>

    TrendingApr 5, 2021, 4:54 PM IST

    इंटेल इनपुट-नक्सली कमांडर हिडमा का पता...सबकुछ था फिर कैसे शहीद हुए 23 जवान, ऐसे रची गई पूरी साजिश

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया और 23 जवान शहीद हो गए। घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई, जिसमें नक्सलियों के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई के लिए एक रोडमैप तैयार किया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गृहमंत्री अमित शाह के साथ हुई मीटिंग में निर्देश दिए गए हैं कि नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन प्रहार में किसी भी तरीके की कमी नहीं आएगी। नक्सलियों को घुसकर मारने के लिए ऑपरेशन चलाया जाएगा।
     

  • undefined

    Uttar PradeshApr 5, 2021, 11:51 AM IST

    नक्सली हमला: ड्यूटी पर जाने से पहले पत्नी से कहा था, जल्द घर आऊंगा, घर आने वाला है नन्हा मेहमान

    चंदौली/अयोध्या (Uttar Pradesh) । छत्तीसगढ़ स्थित बीजापुर के जंगल में शनिवार को हुए नक्सलियों से मुठभेड़ में 22 जवानों के शहीद होने की खबर है, जिनके शहादत की खबर सुनकर परिवार के लोगों में कोहराम मच गया गया है। शहीद होने वाले जवानों में चंदौली के लाल धर्मदेव कुमार और अयोध्या राम मंदिर से दो किमी दूर स्थित रानोपाली गांव निवासी राज कुमार यादव भी हैं। बता रहे हैं कि धर्मदेव अभी 10 दिन पहले ही ड्यूटी पर लौटे थे और जाते-जाते प्रेग्नेंट बीवी से जल्द आने का वादा करके गए थे। वहीं, कुछ ऐसी की कहानी राज कुमार यादव के भी घर है। जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं।

  • undefined

    NationalApr 5, 2021, 7:49 AM IST

    नक्सली हमला: गांववालों ने पुलिस को बातों में उलझाया और नक्सलियों ने बरसा दी थीं गोलियां

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर के तर्रेम में शनिवार को हुए नक्सली हमले ने सबको हिलाकर रख दिया है। इस हमले में 24 जवान शहीद हो गए। घायल जवानों ने बताया कि नक्सलियों पुलिसबल को फंसाने ट्रैप लगाया था। इसमें गांववालों ने उनका साथ दिया। गांववालों ने पुलिसटीम को बातों में उलझाया और फिर नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस मामले में गांववालों की भूमिका भी संदिग्ध निकली है। इस घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज छत्तीसगढ़ पहुंचे।

  • undefined

    ChhattisgarhFeb 26, 2021, 12:10 PM IST

    Police जवानों को मौत देने निकले थे नक्सली, कुछ ऐसा खतरनाक हुआ कि पेड़ से लटके मिले खुद के ही चीथड़े

     जहां विस्फोट हुआ वहां आसपास में कई प्रेशर बम लगाए गए थे। विस्फोट के बाद नक्सलियों ने ये बम वापस निकाल लिए। इससे छोटे-छोटे गड्ढे हो गए हैं। यहां से कुछ दूरी पर बोड़ागांव में बीएसएफ का कैंप है। जहां पर जवान  रात को गश्त करते हुए कभी-कभी इन पेड़ों की नीचे आराम करते हैं। इसी चलते क्सलियों ने प्रेशर बम लगाए थे। 

  • undefined

    ChhattisgarhDec 1, 2020, 3:36 PM IST

    छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का उत्पात, दंतेवाड़ा में सरपंच की हत्या, बीजापुर में गाड़ी को ब्लास्ट से उड़ाया

    छत्तीसगढ़ में पुलिस के लगातार कड़े शिकंजे से बौखलाए नक्सलियों ने उत्पात मचाना शुरू कर दिया है। नक्सलियों ने 2 दिसंबर को बस्तर संभाग बंद का ऐलान किया है। इस बीच दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने एक सरपंच की हत्या कर दी। वहीं, बीजापुर में एक गाड़ी को ब्लास्ट से उड़ा दिया। गंगालूर में दो गांववालों की हत्या का समाचार है।
     

  • undefined

    ChhattisgarhMar 23, 2020, 3:48 PM IST

    जो अब कभी घर नहीं लौटेंगे, उनका चेहरा आखिरी बार देखकर फट गई अपनों की छाती

    सुकमा. छत्तीसगढ़. ये तस्वीरें पत्थर दिल को भी रुला सकती हैं। शनिवार को नक्सलियों से लोहा लेने निकले करीब 500 जवानों में से 17 घने और खतरनाक जंगलों से वापस नहीं लौट सके। नक्सलियों ने गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया था। इसमें 17 जवान शहीद हो गए थे। रातभर उनकी लाशें जंगलों में पड़ीं रहीं। अगले दिन रविवार को सर्चिंग के बाद उनके शवों को जंगल से लाया जा सका। सोमवार को जब इन शहीद जवानों को पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि दी गई, तो लोग फूट-फूटकर रो पड़े। जो लोग अनजान थे, वे भी खुद के आंसू नहीं रोक पाए थे। इस हमले में 12 जवान घायल हुए थे। उन्हें रायपुर रेफर किया गया है।

  • undefined

    ChhattisgarhMar 23, 2020, 9:59 AM IST

    बेटे के शहीद होने की खबर सुनकर रोते हुए बोली मां, मेरा कलेजा मजबूत है, दूसरा बेटा भी फोर्स में जाएगा

    सुकमा, छत्तीसगढ़. नक्सली हमले में अपने बेटे के शहीद होने की खबर सुनकर लाजिमी है कि मां फूट-फूटकर रोएगी..लेकिन इस जवान की मां की आंखों में आंसुओं के साथ गर्व भी था। जब इसके शहीद होने की खबर लेकर थाना प्रभारी घर पहुंचे..तो वहां जो देखा-सुना..उससे वो भी रो पड़े। जब उन्होंने इस शहीद की मां से कहा कि खुद का संभालिए..तो जवाब मिला-'मेरा कलेजा बहुत मजबूत है...अब मेरा दूसरा बेटा भी फोर्स में जाकर देशसेवा करेगा!' अपना जवान बेटा खोने वाली एक मां को इस तरह कहते देख..वहां मौजूद लोगों की आंखों में भी आंसू निकल आए। लेकिन उन्हें गर्व भी था कि यह जवान उनके गांव का रहने वाला था। बता दें कि शनिवार को सुकमा में हुए नक्सली हमले में 17 जवान शहीद हो गए थे। इनमें अमरजीत खलखो जशपुर जिले का रहने वाला था। इन जवानों के शहीद होने की खबर अगले दिन यानी रविवार को सर्चिंग के बाद पता चली थी। अमरजीत औरीजोरा हर्राड़ाड के रहने वाले थे। अमरजीत ने 2 साल पहले ही सीएएफ ज्वाइन किया था।  शहीद के पिता अमृत खलखो की 3 साल पहले करंट लगने से मौत हो गई थी। इसके बाद घर की सारी जिम्मेदारी अमरजीत के कंधे पर आ गई थी। घर में मां, छोटा भाई और नानी हैं।