Uttarakhand Flood  

(Search results - 14)
  • undefined

    NationalFeb 16, 2021, 6:50 PM IST

    कहीं 56 साल पहले रखे अमेरिका के प्लूटोनियम पैक की वजह से तो नहीं टूटा ग्लेशियर, जानिए क्या है मामला

    उत्तराखंड में चमोली में ग्लेशियर टूटने से 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, अब तक 58 शव मिल चुके हैं। लेकिन अब चमोली त्रासदी ने उत्तराखंड और गंगा नदी में परमाणु विकिरण की गंभीर चिंता भी पैदा कर दी है। उधर, इस घटना की वजह का पता लगाने के लिए उत्तराखंड सरकार ने एक विभाग बनाया है।

  • undefined

    NationalFeb 16, 2021, 3:18 PM IST

    चमोली हादसा: मौत के सैलाब का 10वां दिन, टूटने लगी लापता लोगों के जीवित होने की आस

    चमोली, उत्तराखंड. ग्लेशियर टूटने से आए सैलाब को 10 दिन हो गए हैं। इस दौरान 56 लोगों के शव मिल चुके हैं, जबकि 149  लोग लापता हैं। ये लोग सैलाब में बहकर कहां गए होंगे, किसी को नहीं पता। ये न जिंदा ढूंढे जा सके हैं और न किसी की लाश मिली है। इनके परिजनों की उम्मीद भी अब टूटने लगी है। इस बीच मंगलवार को तपोवन स्थित NTPC की टनल से मलबा हटाने का काम जारी है। इसमें अंदर शव होने की आशंका है।

  • <p>Glacier burst in Chamoli, disaster in Uttarakhand, Chamoli disaster, glacier bursting, glacier in Himalayas, floods in Uttarakhand, Uttarakhand accident photo</p>

    NationalFeb 12, 2021, 3:02 PM IST

    सुरंग के बाहर ये डॉग 3 दिन से कर रहा है इंतजार, भगाने पर भी नहीं हटता, जानें क्या है इसकी पूरी कहानी

    उत्तराखंड के चमोली में तपोवन हाइडल परियोजना स्थल पर बचाव कार्य जारी है। इस बीच सुरंग के बाहर एक कुत्ता तीन दिनों से अपने मालिक का इंतजार कर रहा है। ग्लेशियर टूटने के बाद आई बाढ़ से बचने वाले राजिंदर कुमार ने बताया कि जब हम काम करते थे तो हम उसे (डॉग) खाना देते थे। सोने के लिए बोरी भी दे देते थे।

  • <p>Glacier burst in Chamoli, disaster in Uttarakhand, Chamoli disaster, glacier bursting, glacier in Himalayas, floods in Uttarakhand, Uttarakhand accident photo</p>

    NationalFeb 12, 2021, 7:30 AM IST

    आपदा के बाद की दर्दनाक तस्वीरः एक साथ जलाए गए 7 शव, DNA संरक्षित किए गए ताकि पहचान हो सके

    उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद अब तक 36 लोगों के शव मिले हैं। चमोली पुलिस के मुताबिक, 36 शवों के अलावा 16 मानव अंग बरामद किये जा चुके हैं, जिसमें से 10 शवों की शिनाख्त हो गयी है, जिन शवों की शिनाख्त नहीं हो पायी है उन सभी शवों का डीएनए संरक्षित किये गये हैं।  11 फरवरी को 7 शवों और 7 मानव अंगों का धार्मिक रीति रिवाज और सम्मान के साथ दाह संस्कार किया।
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 8, 2021, 5:19 PM IST

    ऋषभ पंत ने उत्तराखंड बाढ़ पीड़ितों के लिए उठाया ये कदम

    टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने उत्तराखंड में ग्लेशियर फटने (से हुई तबाही पर शोक जताया है। पंत ने पीड़ितों की मदद के लिए अपनी मैच फीस डोनेट करने का ऐलान किया है। उत्तराखंड के चमौली जिले के तपोवन इलाके में रविवार सुबह ग्लेशियर फटने से 150 के करीब लोग लापता हैं। कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। पंत ने ट्वीट किया- 'उत्तराखंड में हुई जनहानि से काफी दुखी हूं। बचाव कार्य के लिए मैं अपनी मैच फीस देने का ऐलान करता हूं। साथ ही लोगों ने मदद के लिए हाथ बढ़ाने का आग्रह करता हूं।'

  • undefined

    NationalFeb 8, 2021, 3:51 PM IST

    उत्तराखंड : रेस्क्यू टीम ने 26 शव निकाले, अभी भी 197 लोग लापता, इनमें से 35 तपोवन की सुरंग में फंसे

    उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही हुई है। अब तक इस आपदा में 202 लोग लापता हैं। जबकि अब तक 19 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं। प्रशासन राहत-बचाव कार्यों में जुटा है। इसमें आईटीबीपी, एनडीआरएफ, सेना और कई केंद्र-राज्य की एजेंसियां रेस्क्यू अभियान चला रही हैं। 

  • undefined

    NationalFeb 7, 2021, 10:15 PM IST

    मोबाइल सिग्नल ने बचाई 16 जिंदगियां, जानिए कैसे ITBP सुरंग में फंसे लोगों की मिली जानकारी

    उत्तराखंड के चमोली के तपोवन में ग्लेशियर टूटने की वजह से धौलीगंगा नदी में बाढ़ आ गई। इसके चलते आसपास के इलाकों में पानी भर गया। इस हादसे में सरकारी कंपनी NTPC के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 मजदूरों की जान जाने की आशंका है।

  • undefined

    NationalFeb 7, 2021, 9:27 PM IST

    जानिए कैसे टूटता है ग्लेशियर और इस त्रासदी से निपटने के लिए कैसी थी उत्तराखंड सरकार की तैयारी

    उत्तराखंड के चमोली में रविवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे बड़ा हादसा हुआ। यहां तपोवन में ग्लेशियर टूटकर ऋषिगंगा नदी में गिरा। इससे बाढ़ के हालात पैदा हो गए और धौलीगंगा पर बन रहा बांध बह गया। इस हादसे में सरकारी कंपनी NTPC के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे करीब 150 मजदूरों की जान जाने की आशंका है।

  • undefined

    Other StatesFeb 7, 2021, 8:44 PM IST

    उत्तराखंड तबाही: 8 घंटे बाद टनल से जिंदा निकले लोगों ने बयां किया खौफनाक मंजर, बाहर आते ही चूम ली धरती


    देहरादून. उत्तराखंड में रविवार सुबह ग्लेशियर टूटने से चमोली जिले में बड़ा हादसा हो गया। इस प्राकृतिक आपदा में 150-180 लोगों के मौत की आशंका जताई जा रही है। जिसमें से  10 से 11 शव बरामद हो चुके हैं। वहीं तपोवन इलाके की एक टनल में फंसे 16 लोगों को आईटीबीपी को जिंदा बचा लिया है। जैसे ही यह लोग बाहर निकले तो उनकी आंखों से आंसू छलक आए। सुरक्षित निकलने पर लोगों ने जय हो बद्री विशाल के नारे लगाए। लेकिन उनके चेहरे पर आठ घंटे का खौफनाक मंजर साफ नजर आ रहा था। आइए जानते हैं कैसे जवानों ने इन लोगों को मौत के मुंह से बाहर निकाला...
     

  • undefined

    Other StatesFeb 7, 2021, 5:57 PM IST

    क्या है ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट, जिसे देवभूमि में आए सैलाब ने कर दिया तबाह..गायब हैं यहां के 150 मजदूर


    देहरादून. उत्तराखंड में रविवार को ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया। इस प्राकृतिक आपदा में  150-180 लोगों के मौत की आशंका जताई जा रही है। मौके पर लोगों को बचाने के लिए एनडीआरएफ, आईटीबीपी, थल सेना और वायु सेना के जवान राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। दरअसल, इस हादसे में सबसे ज्यादा नुकसान ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट को हुआ है और यहां काम करने वाले कई मजदूर लापता हैं। आइए जानते हैं क्या है ऋषि गंगा पावर प्रोजेक्ट...

  • undefined

    Other StatesFeb 7, 2021, 2:50 PM IST

    वो भयानक महाप्रलय जिसमें हुई थीं हजारों मौत, लाशों का लगा था ढेर..एक 'चमत्कार' से बच गया था शिव मंदिर


    देहरादून. उत्तराखंड में रविवार को ग्लेशियर टूटने से चमोली जिले में बाढ़ आ गई। इसके बाद धौलीगंगा नदी में जल स्तर अचानक बढ़ गया। जिसमें 100 से 150 लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है। यह प्राकृतिक आपदा  17 जून 2013 जैसी तबाही की याद दिलाती है। जिसमें  करीब 10 हजार लोग बह गए थे। यह घटना इतनी भयानक थी कि आज भी लोगों को जख्म नहीं भर पाए हैं। कई लोगों का कहना है कि ऐसा मंजर उन्होंने पूरी जिंदगी में कभी नहीं देखा। जहां हर तरफ सिर्फ पानी ही पानी नजर आ रहा था और लोग कचरे की तरह बहे जा रहे थे। इस दौरान करीब 5 हजार गांवों क नुकसान पहुंचा था। लेकिन इस दौरान एक चमत्कार भी लोगों ने देखा था। यहां सिर्फ केदारनाथजी का मंदिर ही बचा था। बाकि सब कुछ बह गया था। 
     

  • undefined

    NationalFeb 7, 2021, 2:16 PM IST

    पहाड़ों पर जल सैलाब, सब कुछ तबाह....2013 जैसी तबाही का मंजर दिखा रही उत्तराखंड की बाढ़, 150 लोग बहे

    उत्तराखंड में रविवार को ग्लेशियर टूटने से चमोली जिले में बाढ़ आ गई। इससे 100-150 लोगों के हताहत होने की आशंका है। यह जानकारी उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने दी। वहीं, इस हादसे के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत,  ITBP डीजी और  NDRF डीजी से बात की। इसके अलावा दिल्ली से कुछ एनडीआरएफ की टीमें एयरलिफ्ट कर उत्तराखंड भेजी जा रही हैं। 

  • undefined
    Video Icon

    Other StatesJul 20, 2020, 2:37 PM IST

    बादल फटने से ऐसा आया जलजला कि पुल से लेकर घर..सबकुछ बह गए

    मानसून धीरे-धीरे उत्तरभारत की ओर तेजी से बढ़ रहा है। इस दौरान उत्तराखंड में भारी बारिश हो रही है। यहां बादल फटने से कई घर बह गए..पहाड़ी इलाकों में बने छोटे पुल भी मलबे के साथ बहकर चले गए। इन हादसों में 3 लोगों की मौत की खबर है। वहीं, कई लोग लापता हैं। मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

  • undefined
    Video Icon

    Other StatesAug 18, 2019, 2:23 PM IST

    उत्तरकाशी में बादल फटने से जलप्रलय : VIDEO

    वीडियो को देखने के बाद 2013 में केदारनाथ में घटित हुई घटना की याद आ जाती है। केदारनाथ की घटना 16 जून, 2013 को मंदाकिरनी नदी ने प्रलयकारी विनाश किया था।