Asianet News HindiAsianet News Hindi

हाल ही में नासा का ये महत्वपूर्ण मिशन हो गया था फेल, क्या आई अड़चन और जानिए अब फिर कब से हो रहा शुरू

रॉकेट का क्रू कैप्सूल खाली है और फिलहाल इसमें तीन पुतले रखे जाएंगे। वैज्ञानिकों की मानें तो अब  ईंधन भरने की प्रक्रिया में बदलाव किया जा रहा है, जिससे पिछली बार वाली गड़बड़ी फर नहीं हो।

nasa test another rocket on moon mission apa
Author
First Published Sep 2, 2022, 7:02 AM IST

ट्रेंडिंग डेस्क। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के 13 चयनित जगहों पर एस्ट्रानॉट्स उतारने की योजना पर काम कर रहा है। इसके लिए नासा का आर्टेमिस रॉकेट बीते 29 अगस्त को चंद्रमा की 42 दिन की यात्रा पर जााने वाला था, मगर ऐन वक्त पर इसमें गड़बड़ी सामने आ गई, जिससे उड़ान को तुरंत रोक दिया गया। 

अब नासा आगामी शनिवार, 3 सितंबर को अपने नए रॉकेट की उड़ान की टेस्टिंग करेगा। वैज्ञानिकों की मानें तो अब  ईंधन भरने की प्रक्रिया में बदलाव किया जा रहा है, जिससे पिछली बार वाली गड़बड़ी फर नहीं हो। उन्होंने इस बात का अनुमान जताया है कि बीते 29 अगस्त को उड़ान फेल होने की प्रमुख वजह रॉकेट के एक सेंसर में आई खराबी हो सकती है। 

कैप्सूल में तीन पुतले रखे जाएंगे 
यह खास रॉकेट नासा की ओर से अब तक बनाया गया, सबसे ताकतवर रॉकेट होगा। इसकी लंबाई 98 मीटर यानी 322 फुट है। यह केनेडी स्पेस सेंटर में अपनी टेस्टिंग साइट पर है। वैज्ञानिकों ने बताया कि इस रॉकेट का क्रू कैप्सूल खाली है और फिलहाल इसमें तीन पुतले रखे जाएंगे। टेस्टिंग सफल रही तो यह 50 साल पहले अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अपोलो प्लानिंग के बाद चांद पर जाने वाला पहला कैप्सूल होगा। 

चांद पर कहां होगी लैंडिंग 
यही नहीं, नासा ने चंद्रमा के साऊथ पोल के पास जिन 13 जगह की लैंडिंग चिन्हित की है, उसके नाम जारी किए जा चुके हैं। हर क्षेत्र में आर्टिमस-3 की लैंडिंग के लिए कई संभावित साइट है। नासा ने एक बयान में बताया कि इस बार मिशन में चंद्रमा पर कदम रखने वाली पहली महिला भी चालक दल का हिस्सा होगी। जिन 13 क्षेत्रों को लैंडिंग के लिए चिन्हित किया गया है, उनमें फौस्तिनी रिम-ए (Faustini Rim A), पीक नियर शेकलेटन (Peak near Shackleton), कनेक्टिंग रिज (Connecting Ridge), कनेक्टिंग रिज एक्सटेंशन (Connecting Ridge Extension), डे गेरलेश रिम 1 (De Gerlache Rim 1), डे गेरलेश रिम 2 (De Gerlache Rim 2), डे गेरलेश-कोचेर मैसिफ (De Gerlache-kocher Massif), हावर्थ (Haworth), मालापेर्ट मैसिफ (Malapert Massif), लेबनिट्ज बेटा प्लूटो (Leibnitz Beta Plateau), नोबील रिम 1 (Nobile Rim 1), नोबील रिम 2 (Nobile Rim 2), एमंडसेन रिम (Amundsen Rim) शामिल है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

पार्क में कपल ने अचानक सबके सामने निकाल दिए कपड़े, करने लगे शर्मनाक काम 

किंग कोबरा से खिलवाड़ कर रहा था युवक, वायरल वीडियो में देखिए क्या हुआ उसके साथ  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios