Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार खोल दिए थे अपने पिता के वो राज, जिन्हें नहीं जानते हम और आप

सद्भावना दिवस से पहले प्रियंका गांधी का एक वीडियो सुर्खियो में है, जिसमें वे खुद उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार रैली के दौरान यह कहती नजर आ रही हैं कि गांव वाले उनके पिता को डांट दिया करते थे। जानिए ऐसा क्यों होता था। 

sadbhawna diwas 2022 priyanka gandhi vadra reveals her father late rajeev gandhi apa
Author
new delhi, First Published Aug 19, 2022, 11:05 AM IST

ट्रेंडिंग डेस्क। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार खुद स्वीकार किया था कि उनके पिता राजीव गांधी जनता के भइया थे। उन्होंने यह भी कहा था कि गांव वाले तो उनके पिता को डांट भी दिया करते थे। हालांकि, यह सब बातें उन्होंने बीते मई में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कही थी। अंतिम चरण के चुनाव प्रचार में प्रियंका को उनके पिता याद आए थे। 

प्रियंका गांधी ने अपने पिता के भले मन और उनकी नीयत को याद करते हुए इसकी तारीफ की। उन्होंने इस रैली में इस बात का जिक्र करते हुए कहा था, मेरे पिता अमेठी से सांसद थे और देश के प्रधानमंत्री थे। मैं अक्सर खुद उनके साथ जीप में बैठकर जाती थी। वे गांव-गांव में जाते और लोगों से मिलते थे। गांव वाले भी उन्हें खूब प्रेम करते थे। प्रियंका ने इस रैली में कहा था कि गांव का गरीब से गरीब व्यक्ति भी उनको अपने घर ले जाता था, अपने पास बिठाता था और खाने को देता था। 

 

 

'काम नहीं करोगे तो वोट मांगने मत आना' 
उन्होंने बताया कि ज्यादातर लोग उन्हें राजीव भैया कहते थे। कोई भी गलती होने पर उन्हें छोड़ता नहीं था। उनसे पूछते कि भैया आपने सड़क तो बना दी थी, मगर अब इसमें गड्ढे हो गए हैं। भैया आपने बिजली के खंभे तो लगवा दिए थे, मगर उसके तार कब आएंगे। भैया हमारी जो पाठशाला है, वो ठीक नहीं है। इसे ठीक कराइए। इसमें तो अध्यापक भी नहीं आ रहे हैं। ऐसी ही कई बातें वे अपने पिता की याद में करती रहीं। उन्होंने तो यह तक कह दिया कि गांव वाले कभी-कभी पिता जी को डांट भी देते थे। वे कहते थे कि ए भइया अगर काम नहीं करोगे तो वोट मांगने मत आना। हम वोट नहीं देंगे तुम्हें। 

सद्भावना दिवस के रूप में मनाया जाता है राजीव गांधी का जन्मदिन
दरअसल, प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में चुनाव प्रचार करने गाजीपुर पहुंची थीं। यहीं चुनाव प्रचार रैली में उन्होंने अपने पिता राजीव गांधी को लेकर ये बातें कही थीं, जो वायरल हो गई। हालांकि, राजीव गांधी के शनिवार, 20 अगस्त को जन्मदिन से पहले से यह बयान एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। बता दें कि राजीव गांधी का जन्मदिन 20 अगस्त को सद्भावना दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

हटके में खबरें और भी हैं..

भगवान कृष्ण के जीवन से सीखने लायक हैं ये 10 बातें, अपनाए तो कभी नहीं होंगे निराश

पार्क में कपल ने अचानक सबके सामने निकाल दिए कपड़े, करने लगे शर्मनाक काम 

किंग कोबरा से खिलवाड़ कर रहा था युवक, वायरल वीडियो में देखिए क्या हुआ उसके साथ 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios