Asianet News HindiAsianet News Hindi

Comedian Faruqui विवाद में हुई Zakir Khan की एंट्री, लोगों ने क्यों कहा- मुस्लिम नहीं-कंटेट की दिक्कत

बेंगलुरु में शो के कैंसिल होने पर कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी (Comedian Munawar Faruqui) ने ट्वीट कर कहा, नफरत की जीत हुई, कलाकार हार गया। मेरा काम हो गया! अलविदा! 

Twitter users compare comedian Munawar Faruqui to zakir khan kpn
Author
New Delhi, First Published Nov 29, 2021, 6:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी (Comedian Munawar Faruqui) की एक ट्विटर पोस्ट को लेकर विवाद छिड़ गया है। फारुकी का शो 28 नवंबर को बेंगलुरु के गुड शेफर्ड ऑडिटोरियम (Good Shepherd Auditorium) में होने वाला था, लेकिन पुलिस की तरफ से उसे कैंसिल कर दिया गया। इसके बाद फारुकी ने लिखा था, नफरत की जीत हुई, कलाकार हार गया। मेरा काम हो गया! अलविदा। उनके इस पोस्ट पर ट्वीट यूजर्स ने कहा, कॉमेडी करने है तो जाकिर खान (zakir khan) से सीखो। मुनव्वर फारुकी की तरह किसी धर्म का मजाक उड़ाने की जरूरत नहीं है।

पहले जान लें कि मुनव्वर फारुकी ने क्या लिखा?
बेंगलुरु में शो के कैंसिल होने पर कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी ने ट्वीट कर कहा, नफरत की जीत हुई, कलाकार हार गया। मेरा काम हो गया! अलविदा! अन्याय। उन्होंने कहा कि रविवार को उनके शो का 600 से अधिक टिकट बिके थे। कार्यक्रम वाली जगह पर तोड़फोड़ की धमकी देने का आरोप लगा था, जिसके बाद शो को रद्द कर दिया गया। मुझे एक मजाक के लिए जेल में डाल दिया। मैंने अपना शो रद्द करने के लिए कभी नहीं किया। यह ठीक नहीं है। 

फारुकी के विवाद में जाकिर खान कहां से आ गए?
मुनव्वर फारुकी के ट्वीट पर कई लोगों ने समर्थन किया तो कई ने विरोध। लेकिन फिर फारुकी की तुलना जाकिर खान से की जाने लगी। वजह है कि कईयों ने कमेंट्स किए की मुस्लिम होने की वजह से फारुकी को टारगेट किया गया। तब अन्य यूजर्स ने जाकिर खान का उदाहरण दिया। लोगों ने कहा कि बात मुस्लिम की नहीं है, बल्कि किसी कॉमेडियन के कंटेट की है। मुनव्वर अपनी पोस्ट में महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की डीपी लगाकर पार्थ लिखते हैं। लोगों ने लिखा, फारुकी। आप इसी के लायक हैं। किसी के धर्म को लेकर जोक करना आप के लिए कंटेट हो सकता है। लेकिन दूसरे को दुख पहुंच सकता है। हम जाकिर खान की इज्जत करते हैं। उनके शो को देखते हैं। उनके शो कैंसिल नहीं होते हैं। क्योंकि उनके कंटेट में दम होता है। वे साफ और अच्छी कॉमेडी करते हैं। 

ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा, मुनव्वर फारुकी के मुस्लिम होने पर कोई दिक्कत नहीं है। दिक्कत उनके कंटेट पर है। वे हिंदू देवताओं पर जोक करते हैं। लेकिन अल्लाह पर कभी मजाक नहीं किया। एक अन्य ने कहा, फारुकी। फूहड़ कंटेट बनाना बंद करो। जाकिर खान से सीखो।

ये भी पढ़ें...

पति ने क्यों कहा, डिलीवरी के वक्त लेबर रूम में तुम्हारा देवर भी रहेगा, ये सुनकर भड़क गई पत्नी

मेरा चेहरा-होंठ सबकुछ कॉपी कर लिया, एडल्ट डॉल के लिए खुद के चेहरे के इस्तेमाल पर भड़की मॉडल

नेता हो तो ऐसी: लेबर पेन हुआ तो साइकिल चलाकर हॉस्पिटल पहुंची, इसके बाद जो हुआ पूरी दुनिया कर रही सलाम

गजब का ऑफर: रोबोट में लगाने के लिए चेहरे की जरूर, छोटी सी शर्त पूरी करने पर मिलेंगे 1.5 करोड़ रुपए

Shocking: बेघर लड़की ठंड से बचने के लिए अपना जिस्म बेचती है, रात बीत जाए इसलिए पुरुषों के साथ सोती ह

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios