Asianet News Hindi

27 फरवरी तक रहेगा माघ मास, शुभ फल पाने के लिए इस महीने में करें ये 6 काम

29 जनवरी से नया हिन्दी माह माघ शुरू हो गया है। ये हिन्दी पंचांग का ग्यारहवां महीना है। इस महीने में मौनी अमावस्या (11 फरवरी) और बसंत पंचमी (16 फरवरी) मनाई जाएगी। ये महीना 27 फरवरी तक रहेगा।

Magh month will remain till 27 February, do these 6 works in this month to get auspicious results KPI
Author
Ujjain M. P., First Published Jan 31, 2021, 10:41 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार माघ महीने में श्रीमद् भगवद् गीता और रामायण का पाठ करने का विशेष महत्व है। जानिए शुभ फल पाने के लिए इस महीने में क्या करें…

1. माघ माह में रोज सुबह स्नान के बाद घर के मंदिर में धूप-दीप जलाएं, पूजा करें। पूजन के बाद अपने समय के अनुसार ग्रंथ का पाठ करना चाहिए।
2. माघ माह में पवित्र नदियों में डुबकी लगाने की परंपरा है। इसी वजह से इस माह में हरिद्वार, काशी, मथुरा, उज्जैन जैसे धार्मिक शहरों में काफी भक्त पहुंचते हैं और यहां की पवित्र नदियों में स्नान करते हैं।
3. इस महीने में जरूरतमंद लोगों को धन और अनाज का दान जरूर करें। इन दिनों ठंड काफी अधिक रहती है, ऐसे में कंबल, तिल-गुड़ का दान जरूर करें। किसी गौशाला में पैसों के साथ ही हरी घास भी दान करनी चाहिए।
4. इस माह में रोज सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद सूर्य को तांबे के लोटे से जल चढ़ाएं। जल चढ़ाते समय ऊँ सूर्याय नम: मंत्र का जाप करें।
5. रोज सुबह तुलसी को जल चढ़ाएं और सूर्यास्त के बाद तुलसी के पास दीपक जलाएं। ध्यान रखें शाम को तुलसी को स्पर्श नहीं करना चाहिए।
6. चतुर्थी, एकादशी, पूर्णिमा, अमावस्या जैसी तिथियों पर व्रत-उपवास और पूजा-पाठ के साथ ही दान-पुण्य भी जरूर करें।

ज्योतिषीय उपायों के बारे में ये भी पढ़ें

28 जनवरी को पौष पूर्णिमा पर 3 शुभ योग, सुख-समृद्धि पाने के लिए इस दिन करें ये आसान काम

28 जनवरी को गुरु पुष्य और पूर्णिमा का शुभ योग, ये आसान उपाय करने से हो सकता है धन लाभ

नवरत्नों की अंगूठी या ब्रेसलेट बनवाते समय रखें ये सावधानियां, नहीं तो हो सकता है नुकसान

मंगल ग्रह का रत्न है मूंगा, ये किन लोगों को पहुंचाता है फायदा और किसे नुकसान, जानिए इसकी खास बातें

उपरत्न है हकीक, कई रंगों में मिलता है ये, इससे दूर हो सकती है आपकी अनेक परेशानियां

शनि का रत्न है नीलम, ये बहुत तेजी से दिखाता है असर, बिना ज्योतिषीय सलाह के कभी न पहनें

केतु का रत्न है लहसुनिया, इसे कब और कैसे पहनना चाहिए? जानिए इससे जुड़ी खास बातें

राहु का रत्न है गोमेद, इसे पहनने से पहले रखें ये सावधानियां, नहीं तो हो सकता है नुकसान

सूर्य का रत्न है माणिक्य, किन लोगों को इससे हो सकता है फायदा और किसे नुकसान?

लाल किताब: बृहस्पति का धातु है सोना, इसे पहनते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

लाल किताब: सास-बहू में रोज होता है विवाद तो करें इन 7 में से कोई 1 उपाय

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios