Asianet News HindiAsianet News Hindi

Devi Mantra: नवरात्रि में करें इन मंत्रों का जाप, दूर होगी गरीबी और मिलेगा बीमारियों से छुटकारा

Navratri 2022: नवरात्रि के दौरान देवी को प्रसन्न करने के लिए कई विशेष उपाय किए जाते हैं। ये उपाय ज्योतिष और तंत्र-मंत्र से जुड़े हो सकते हैं। नवरात्रि के दौरान मंत्र जाप भी मुख्य रूप से किया जाता है। इन मंत्रों के जाप से व्यक्ति की हर इच्छा पूरी हो सकती है। 
 

Navratri 2022 Sharadiya Navratri 2022 Devi Mantra Mantra of Goddess Durga MMA
Author
First Published Sep 30, 2022, 6:00 AM IST

उज्जैन. हिंदू धर्म में मंत्रों का विशेष महत्व बताया गया है। इन मंत्रों का जाप यदि किसी विशेष समय पर किया जाए तो इसका फल बहुत ही जल्दी मिलता है। नवरात्रि भी ऐसा ही समय है। इस बार नवरात्रि (Navratri 2022) का पर्व 26 सितंबर से शुरू हो चुका है जो 4 अक्टूबर तक मनाया जाएगा। नवरात्रि के दौरान विशेष मंत्रों (Devi Mantra) का जाप करने से हर कामना पूरी हो सकती है। साथ ही इन मंत्रों के जाप से निगेटिविटी दूर होती है और पॉजिटिविटी बढ़ती है। आगे जानिए किस मनोकामना के लिए कौन-से देवी मंत्र का जाप करना चाहिए…

परिवार की शांति के लिए मंत्र
अगर आपके परिवार में अक्सर विवाद होता है तो आपको दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र का जाप करना चाहिए-
देवि! सर्वभूतेषु शांति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

कर्ज से मुक्ति के लिए मंत्र
जो लोग कर्ज से परेशान हैं वो लोग मां दुर्गा के इस मंत्र का जाप करें। इससे इन्हें धन लाभ के योग बन सकते हैं-
या देवि! सर्वभूतेषु लक्ष्मीरूपेण संस्थिता
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः 

शीघ्र विवाह के लिए मंत्र
जिन लड़कों के विवाह में बाधा आ रही हो उनके लिए दुर्गा सप्तशती में विशेष मंत्र दिया गया है- 
पत्नी मनोरमां देहि, मनो वृत्तानु सारिणीम तारिणीम दुर्ग संसार सागरस्य कुलोद्भवाम।

किस्मत चमकाने के लिए मंत्र
अगर आपको लगता है कि किस्मत आपका साथ नहीं दे रही तो आपको दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र का जाप करना चाहिए-
देहि सौभाग्यमारोग्यं देहि मे परमं सुखम्।
रूपं देहि जयं देहि यशो देहि द्विषो जहि॥

गरीबी मिटाने के लिए
अगर आप गरीबी से परेशान हैं तो धन लाभ की इच्छा रखते हैं तो दुर्गा सप्तशती के इस मंत्र का जाप करें-
दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो:
स्वस्थै: स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि।
दारिद्रयदु:खभयहारिणि का त्वदन्या
सर्वोपकारकरणाय सदार्द्रचित्ता।।

रोग नाश के लिए
अगर आप किसी गंभीर बीमारी से परेशान हैं तो चिकित्सक के उपचार के साथ-साथ इस मंत्र का जाप भी करें-
रोगानशेषानपहंसि तुष्टा
रुष्टा तु कामान् सकलानभीष्टान् ।
त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां
त्वामाश्रिता ह्याश्रयतां प्रयान्ति।।

इस विधि से करें मंत्रों का जाप 
शारदीय नवरात्रि में सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद माता दुर्गा की पूजा करें। इसके बाद कुशा (एक प्रकार की घास) के आसन पर बैठकर लाल चंदन के मोतियों की माला से इन मंत्रों का जाप करें। इन मंत्रों की प्रतिदिन 5 माला जाप करने से मन को शांति तथा प्रसन्नता मिलती है। यदि जाप का समय, स्थान, आसन, तथा माला एक ही हो तो यह मंत्र शीघ्र ही सिद्ध हो जाते हैं।



ये भी पढ़ें-

Navratri Rashi Anusar Upay: देवी को राशि अनुसार चढ़ाएं फूल, मिलेंगे शुभ फल और दूर होंगे ग्रहों के दोष


Dussehra 2022: पूर्व जन्म में कौन था रावण? 1 नहीं 3 बार उसे मारने भगवान विष्णु को लेने पड़े अवतार

Navratri Upay: नवरात्रि में घर लाएं ये 5 चीजें, घर में बनी रहेगी सुख-शांति और समृद्धि
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios