Asianet News Hindi

शनि जयंती: पेड़-पौधों के ये छोटे-छोटे उपाय करने से भी बच सकते हैं शनिदेव के प्रकोप से

इस बार शनि जयंती 10 जून, शुक्रवार को है। इस दिन शनिदेव के उपाय करने से शुभ फल प्राप्त होते हैं और साढ़ेसाती व ढय्या के अशुभ प्रभाव में कमी आती है।

Shani Jayanti: Even by taking these small measures of trees and plants, you will be saved from the wrath of Shani Dev KPI
Author
Ujjain, First Published Jun 6, 2021, 9:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

उज्जैन. शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए पेड़-पौधों से जुड़े कुछ आसान भी किए जा सकते हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, जानिए शनिदेव को प्रसन्न करने के पेड़-पौधे से जुड़े उपाय…

1. शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए रोज सुबह-शाम पीपल पर जल चढ़ाना चाहिए और शनि मंत्रों का जाप करना चाहिए।
2. शमी, कीकर, आम और खजूर का वृक्ष शनि ग्रह का कारक है। इसके अलावा कांटेदार पौधे और बिच्छोल (एक प्रकार का पौधा) की जड़ पर भी शनि का अधिकार होता है। इन पेड़-पौधों पर जल चढ़ाना चाहिेए।
3. शमी का पौधा घर के मेन गेट पर दोनों ओर लगाने से घर में किसी भी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी का प्रवेश नहीं होता।
4. शनि के दोष और दुर्भाग्य दूर करने के लिए शमी के पौधे के सामने नियमित रूप से सरसों के तेल का दीपक लगाएं। इसके लिए मिट्टी के दीपक का प्रयोग करना शुभ होता है।
5. प्रतिदिन सूर्यदेव की ओर मुख करके शमी के पौधे में पानी डालने से शनि का प्रकोप कम होता है और व्यक्ति के जीवन की सभी बाधाएं और बुरा समय दूर हो सकता है।
6. किसी जरूरी काम या यात्रा पर जाते समय शमी को प्रणाम करके निकलना शुभ फलदायक होता है। ऐसा करने से काम में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं और सफलता की संभावनाएं बढ़ती हैं।

शनि के बारे में ये भी पढ़ें

शनि जयंती 10 जून को, जानिए क्या होता है जब किसी पर पड़ती है शनि की टेढ़ी नजर

कुंडली के प्रथम भाव में हो वक्री शनि तो बनाता है धनवान, जानिए अन्य किस भाव में क्या असर डालता है?

किसी राशि पर कब शुरू होती है शनि की साढ़ेसाती, वर्तमान में किन राशियों पर है इसका प्रभाव?

शनि की विशेष स्थिति से कुंडली में बनता है शश योग, इससे रंक भी बन सकता है राजा

कैसे मकान पर होता है शनि का प्रभाव, क्या होता है ऐसे घर में रहने से?

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios