Asianet News HindiAsianet News Hindi

Varuthini Ekadashi 2022: 26 अप्रैल को एकादशी पर करें ये उपाय, धन लाभ के साथ दूसरी इच्छाएं भी होंगी पूरी

हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व बताया गया है। हिंदू पंचांग के अनुसार एक महीने में 2 बार एकादशी तिथि आती है। इस प्रकार एक साल में 24 एकादशी आती है। इनमें से हर एकादशी का विशेष महत्व धर्म ग्रंथों में बताया गया है।

Varuthini Ekadashi 2022 Varuthini Ekadashi 2022 Remedy Varuthini Ekadashi 2022 Significance MMA
Author
Ujjain, First Published Apr 25, 2022, 9:51 AM IST

उज्जैन. वैशाख मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को वरुथिनी एकादशी (Varuthini Ekadashi 2022) कहते हैं। इस बार ये एकादशी 26 अप्रैल, मंगलवार को है। इस दिन भगवान विष्णु के वराह रूप की पूजा करने का विधान है। वरुथिनी एकादशी पर व्रत-उपवास और पूजा करने से हर तरह के कष्ट, पाप और परेशानियां खत्म हो जाती हैं, ऐसा धर्म ग्रंथों में लिखा है। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. प्रवीण द्विवेदी के अनुसार, इस दिन कुछ विशेष उपाय (Varuthini Ekadashi 2022 Ke Upay) करने से सभी तरह की परेशानियां दूर हो सकती हैं। ये उपाय इस प्रकार हैं…

1. धर्म ग्रंथों के अनुसार वरुथिनी एकादशी पर जल और अनाज दान करने का विशेष महत्व है। इस दिन लोगों के लिए प्याऊ का निर्माण करवाएं। ये संभव न हो तो किसी प्याऊ पर 11 मटकों का दान करें। इसके अलावा मंदिर के अन्नक्षेत्र में अनाज का दान करें। इससे आपकी परेशानियां दूर हो सकती हैं।
2. अगर आप धन लाभ की इच्छा रखते हैं तो वरुथिनी एकादशी पर भगवान विष्णु के साथ देवी लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा करें और केसर मिश्रित दूध से दोनों का अभिषेक करें। इससे आपकी ये इच्छा पूरी हो सकती है।
3. अगर आप किसी रोग से पीड़ित हैं तो एकादशी पर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें या किसी योग्य ब्राह्मण से करवाएं। इससे आपको रोगों से मुक्ति मिल सकती है। ये उपाय यदि हर एकादशी पर करें तो अन्य परेशानियां भी दूर हो सकती हैं।
4. वरुथिनी एकादशी पर विधि-विधान से भगवान विष्णु की पूजा करें और पीले फलों जैसे कैले और आम का भोग लगाएं। बाद में इन्हें गरीबों में बांट दें। इससे आपकी समस्याओं का समाधान हो सकता है।
5. एकादशी पर किसी योग्य ब्राह्मण को घर पर भोजन के लिए आमंत्रित करें। उन्हें उनकी इच्छा अनुसार भोजन करवाएं। इसके बाद उन्हें पीले वस्त्र, हल्दी, पीले फल आदि चीजों का दान करें। इससे भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और हर इच्छा पूरी करते हैं।
6. वरुथिनी एकादशी पर भगवान विष्णु के वराह रूप की पूजा करने से भी शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

ये भी पढ़ें-

Shukra rashi parivartan April 2022: 27 अप्रैल को बदलेगी शुक्र की चाल, इन 3 राशि वालों की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

इन 4 राशि के लड़कों में होता है गजब का आकर्षण, लड़कियों में बना रहता है इनका क्रेज, क्या आप भी हैं इनमें शामिल?

Chanakya Niti: जिन महिलाओं में होती हैं ये 3 खास बातें, वो हमेशा दूसरों से सुपीरियर साबित होती हैं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios