सुलतानपुर में बहन की डोली से पहले उठी भाई की आर्थी, दर्दनाक हादसे ने छीन ली सभी खुशियां

| Nov 26 2022, 01:09 PM IST

सुलतानपुर में बहन की डोली से पहले उठी भाई की आर्थी, दर्दनाक हादसे ने छीन ली सभी खुशियां

सार

सुलतानपुर में एक परिवार की खुशियां गम में बदल गई। यहां बहन की डोली उठने से पहले भाई की अर्थी घर पहुंची। दरअसल पत्नी की दवा लेने गया युवक हादसे का शिकार हो गया। जिसके बाद घर की खुशियों पर ग्रहण लगने का यह मामला सामने आया। 

सुलतानपुर: बंधुआकला के दादुपुर के रहने वाले हनुमान सिंह के घर में शादी की खुशियां मातम में बदल गई है। दरअसल उनके घर से बेटी की डोली उठने से पहले बेटे की अर्थी उठी। इस हादसे के बाद पुलिस से भी शिकायत की गई है।

अस्पताल में इलाज के दौरान हुई सत्य प्रकाश की मौत 
परिजनों ने बताया हनुमान सिंह के पुत्र सत्य प्रकाश अपनी पत्नी नेहा को दिखाने के लिए डॉक्टर के पास गए हुए थे। इसी बीच अमहट चौराहे के पास तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। इस हादसे में दोनों लोग सड़क के दूसरी ओर जा गिरे। आसपास के लिए लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को अस्पताल पहुंचाया। हालांकि जिला अस्पताल में इलाज के दौरान सत्य प्रकाश की मौत हो गई। शनिवार को ही उनकी बहन की शादी है। हालांकि इससे पहले गुरुवार को खुशियों में ग्रहण लग गया।

Subscribe to get breaking news alerts

कन्यादान की हो रही थी तैयारी, किया गया बेटे का अंतिम संस्कार 
शादी वाले घर में जब बेटे की अर्थी पहुंची तो परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। उन्हें समझ में ही नहीं आ रहा था कि कुछ समय पहले ही जो बेटा अपनी पत्नी को लेकर डॉक्टर के पास गया था उसके साथ क्या घटित हो गया। घरवाले विश्वास नहीं कर पा रहे थे कि इस हादसे में पलभर में उनकी सारी खुशियां छिन गई हैं। जहां महीनों से घर में कन्यादान की तैयारी चल रही थीं वहां अब बेटे के दाह संस्कार की तैयारियां हुई। इस हादसे के बाद से परिजनों का बुरा हाल है। इस घटना को लेकर परिजनों ने पुलिस से शिकायत भी की है और आरोपी ट्रक चालक को खोजने की गुहार लगाई है। हालांकि ट्रक चालक वाहन समेत मौके से फरार हो गया था। पुलिस आसपास के क्षेत्रों में लगे सीसीटीवी कैमरों आदि की मदद से आरोपी ट्रक चालक को पकड़ने के प्रयास में लगी हुई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाएगी। 

बीएचयू के प्रोफेसर ने विश्वनाथ मंदिर वास्तु पर किया रिसर्च, कहा- इतिहास में 6 मंडपों को तोड़ा गया