Asianet News HindiAsianet News Hindi

Diwali In Ayodhya : अयोध्या में जलेंगे दिए, लेकिन काशी के कुम्हारों के घर होंगे जगमग..खुशी का नहीं ठिकाना

भगवान राम की नगरी अयोध्या में भव्य दीपोत्सव (Ayodhya deepotsav 2021)कार्यक्रम की शुरूआत हो चुकी है। शाम होते ही 12 लाख दियों से अयोध्या जगमाएगी। घर से लेकर नदी-सड़क मंदिर-मठ में हर तरफ सिर्फ दीपक ही दीपक दिखाई देंगे। 

Diwali 2021, Varanasi potters will have a great festival as there made diya are been used for Ayodhya Deepotsav
Author
Ayodhya, First Published Nov 3, 2021, 2:59 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

काशी/अयोध्या (उत्तर प्रदेश). भगवान राम की नगरी अयोध्या में भव्य दीपोत्सव (Ayodhya deepotsav 2021)कार्यक्रम की शुरूआत हो चुकी है। शाम होते ही 12 लाख दियों से अयोध्या जगमाएगी। घर से लेकर नदी-सड़क मंदिर-मठ में हर तरफ सिर्फ दीपक ही दीपक दिखाई देंगे। पूरा शहर जगमग हो जाएगा। एक साथ इतने दिए जलाए जाएंगे जिससे एक नया विश्व रिकॉर्ड बनेगा। इस अद्भुत रोशनी से काशी के कुम्हारों के घर भी रोशन होंगे। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के कुम्हारों को  दो लाख दीये बनाने का ऑर्डर मिला था। खुद इन कुम्हारों ने बताया उन्हें एक दिए के हिसाब से कितना पैसा मिला है। आइए जानते हैं कैसे और कितने रुपए में तैयार किए हैं ये दिए....

कुम्हारों के खिले चेहरे, कहा ये दिवाली सबसे खास
दरअसल, वाराणसी के शिवपुर में सुद्धिपूर गांव को कुम्हारों का गांव है। जहां अस्सी प्रतिशत लोग कुम्हार जाति के लोग निवास करते हैं। उनकी रोजी रोटी ही मिट्टी के बर्तन बनाने का कार्य करते हैं। लेकिन पिछले दो सालों से कोरोना की वजह से उनका काम मद्दा पड़ा हुआ है। लेकिन इस दिवाली इन कुम्हारों के लिए बेहद खास है। क्योंकि पूरे गांव को 2 लाख दिए बनाने का ऑर्डर जो मिला है। जिन्होंने दिन रात एक करके यह दिए बनाए। दिवाली के समय जहां हर तरफ लोग देखे जा रहे थे। वहीं इस गांव में सन्नाटा पसरा हुआ था। क्योंकि समय पर दिए बनाकर जो देना था। बजुर्ग-बच्चे से लेकर महिलाएं तक  दिए बनाने में लगी हुई थीं।

100 दियों का इतना मिलता पैसा
सुद्धिपूर गांव के 20 परिवारों को 2 लाख दियों को बनाने का आर्डर मिला था। गांव के लोगों ने बताया कि इस बार इन्हें दियों के दामों की मजदूरी भी बढ़कर मिली है। पिछले साल 40 रुपये प्रति सैकड़ा मेहनताना मिलता था। लेकिन इस बार इन दामों में बढ़ोतरी हुई और 55 रुपए सैकड़ा मिला है। इस हिसाब से इस साल की दिवाली की खुशी हमारी दोगुनी हो गई। हम दो सालों से भगवान राम की नगरी अयोध्या के लिए यह दिए बना रहे हैं। कोरोना ने काम को ठंडा कर दिया था। लेकिन अब हमारी आजीविका फिर अच्छे से चल पड़ी है।

यह भी पढ़ें-Diwali In Ayodhya : आज अयोध्या में भव्य दीवाली, जलेंगे 12 लाख दिए..ये हैं वह लोग जो रामनगरी को चमका रहे

यह भी पढ़िए-Diwali 2021: पटाखों पर कई राज्यों में फुल बैन, जानिए कहां कितनी छूट..कैसे कर सकेंगे दीवाली पर आतिशबाजी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios