डोली से पहले उठी पिता की अर्थी, रोते हुए बेटी बोली- आपने ऐसा क्यों किया, मातम में बदल गई परिवार की खुशियां

| Nov 27 2022, 04:10 PM IST

डोली से पहले उठी पिता की अर्थी, रोते हुए बेटी बोली- आपने ऐसा क्यों किया, मातम में बदल गई परिवार की खुशियां

सार

यूपी के जिले लखनऊ के मोहनलालगंज में डोली से पहले पिता की अर्थी उठ गई। जिसके बाद बेटी फूट-फूटकर रोते हुए बोलती है कि पापा आपने ऐसा क्यों किया। इस वजह से पूरे परिवार की खुशियां मातम में तब्दील हो गई।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के जिले लखनऊ में बेटी की विदाई से पहले एक पिता फंदे पर झूल गया। परिवार में बेटी की शादी की तैयारियां चल रही तो वहीं दूसरी ओर युवक का शव घर के पास आटा चक्की में फंदे से लटकता मिला। रविवार को शादी होने के साथ-साथ लड़की की बारात आनी है। घर में तमाम रिश्तेदार जुटे हुए हैं और घटना के बाद से लोगों की खुशियां मातम में बदल गई। ऐसा बताई जा रही है कि इस घटना के पीछे की वजह आर्थिक तंगी बताई जा रही है। यह वारदात शनिवार की रात को हुई और परिवार के लोगों को रविवार की सुबह जानकारी हो पाई।

चक्की से गुजारा नहीं होने की वजह से प्रॉपर्टी का किया काम
जानकारी के अनुसार यह मामला शहर के मोहनलालगंज थाना क्षेत्र के टिकरा गांव का है। यहां के निवासी सुनील द्विवेदी (51) रहते थे और उनकी छह बेटियां और एक बेटा है। रिश्तेदारों को कहना है कि सुनील के घर की माली हालत ठीक नहीं है। वह जिम्मेदारियों के बोझ तेल दबा हुआ था और जैसे-तैसे उसने तीन बेटियों की शादी कर दी थी। उसने घर के पास ही आटा चक्की खोल रखी थी और इससे गुजारा न होने पर प्रॉपर्टी डीलिंग का भी काम करने लगा था। इसके बाद भी परिवार का खर्च चलाने में काफी मुश्किल आ रही थी और बेटा अभी कुछ नहीं करता है। इससे उसे परिवार से कोई मदद भी नहीं मिल पा रही थी। आगे बताता है कि जैसे-तैसे उसने इधर-उधर से कर्ज लेकर चौथे नंबर की बेटी नव्या द्विवेदी की शादी तय की थी।

Subscribe to get breaking news alerts

बेटी की शादी को लेकर घर के बाहर सज चुका था टेंट
मृतक की बेटी नव्या की शादी कानपुर के आकाश पांडेय से होनी है और आज बारात आनी है। कुछ दिनों से काफी परेशान चल रहे थे। इसके साथ ही शादी में काफी रुपए खर्च हो जाएंगे और लोगों को चुकाने के लिए इंतजाम कहां से करेंगे। घर के पास खेत में टेंट लगा था और जयमाला के लिए स्टेज भी लग चुका था। दूसरी तरफ बेटियां समेत परिवार के अन्य लोग जोर-जोर से रो रहे थे। मृतक के दोनों भाई अशोक द्विवेदी और आनंद द्विवेदी के चेहरे पर भी भाई के जाने का गम साफ नजर आ रहा था। मृतक के बड़े भाई अशोक द्विवेदी का कहना है कि सुनील दूसरे नंबर का भाई था और तीनों भाई अलग-अलग रहते हैं।

मृतक के भाई ने बताया कि किस वजह से था परेशान
मृतक के भाई सुनील के परिवार में सिर्फ वहीं कमाने वाला था। घर का खर्च चलाने में उसे कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। वो आगे बताते है कि बेटी की शादी में उसने काफी लोगों से कर्ज लिया था और वह तनाव में था। परिवार में कई बार इसका जिक्र भी कर चुका था और सिर्फ इसी वजह से उसने जान दे दी। उसके घर की बाउंड्री से ही लगी आटा चक्की है। मृतक के भाई आगे कहते है कि सुबह सुनील अपने कमरे में नहीं मिला तो लोग उसकी तलाश में जुट गए। खोजते-खोजते आटा चक्की में पहुंचे तो अंदर उसकी लाश हुक से फंदे के सहारे लटक रही थी। 

बेटी पिता को लेकर पूछने पर फूट-फूटकर रोने लगी
नव्या से जब पिता को लेकर पूछ गया तो वह फूट-फूटकर रोने लगी और फिर समझाने पर सिसकते हुए बताया कि पापा हमेशा हम लोगों को लेकर फिक्रमंद रहते थे। उन्होंने एक-एक रुपया जोड़कर और कर्ज लेकर रिश्ता तय किया था। मुझे नहीं मालूम था, मेरी विदाई से पहले वह दुनिया छोड़ देंगे। भाई अभी छोटा है और वह पढ़ाई ही कर रहा है। नव्या आगे कहती है कि पापा अकेले घर का खर्च चलाते थे। वह शादी के इंतजाम में अंदर से टूट गए थे। इसको लेकर मोहनलालगंज कोतवाली प्रभारी कुलदीप दुबे ने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। मामले की जांच की जा रही है।

एकतरफा प्यार में प्रेमी ने प्रेमिका के घर में लगाई आग, पीड़ित परिवार ने बेटियों को लेकर पुलिस से की ऐसी मांग

अखिलेश यादव और जयंत का इंतजार कर रहे आजम खान, बोले- रामपुर में उपचुनाव नहीं हो रहा सिर्फ दहशत का है माहौल

कुशीनगर: बहला-फुसलाकर ससुराल से पत्नी को घर लाया पति ने की शर्मनाक हरकत, युवक की मां ने बेटे का दिया पूरा साथ

ट्रेन के बाद अब गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर नमाज पढ़ने का वीडियो वायरल, लोगों के पूछने पर यात्री ने दिया ये जवाब