Asianet News HindiAsianet News Hindi

मेरठ: पुलिस ने सोशल मीडिया के जरिए दर- दर भटक रही महिला को परिवार से मिलाया, इतने साल से थी लापता

यूपी के मेरठ जिले की पुलिस ने 6 साल पहले उत्तराखंड से गायब हुई महिला को उसके परिवार से मिलाया है। महिला अपने परिवार और घर का पता नहीं बता पा रही थी। जिसके बाद पुलिस ने पीड़िता को फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किया था। 

Meerut Police reunited wandering woman with family through social media was missing for so many years
Author
First Published Sep 18, 2022, 10:29 AM IST

मेरठ: सोशल मीडिया लोगों को एक दूसरे से जोड़कर रखता है। वहीं सोशल मीडिया के जरिए एक महिला 6 साल बाद अपने परिवार से मिल पाई। करीब 6 वर्ष पहले उत्तराखण्ड के चमोली निवासी दीपा अपने परिवार से बिछड़ गई थी। बताया जा रहा है कि पति की मौत के बाद वह लापता हो गई थी। उसके परिवार ने अपने स्तर से दीपा की बहुत खोजबीन की। निराशा मिलने के बाद दीपा के घरवालों ने थाने में गायब होने की रिपोर्ट भी लिखवाई थी। लेकिन उसका कहीं पता नहीं चल सका। परिवार ने यह सोचकर सब्र कर लिया कि शायद दीपा की मौत हो गई। लेकिन सोशल मीडिया के जरिए 6 साल पहले लापता हुई दीपा एक बार फिर अपने परिवार के पास पहुंच गई।

पुलिस ने शेयर की थी महिला की फोटो
मेरठ पुलिस को जानकारी मिली कि एक महिला की हालत बहुत गंभीर है और वह झोपड़ी में पड़ी हुई है। जब पुलिस सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची तो देखा कि महिला सो रही थी। इसके बाद पुलिस उसको इलाज के लिए अस्पताल लेकर गई। हालत में सुधार होने के बाद पुलिस ने उससे घर परिवार के बारे में जानकारी लेनी चाही तो महिला अपने घर का पता भी नहीं बता पा रही थी। इसके बाद पुलिस ने उसे वृद्धाश्रम में रखने का फैसला किया। इसके साथ ही महिला के बारे में जानकारी जुटाने के लिए पुलिस ने उत्तराखंड और दिल्ली के थानों में सोशल मीडिया के जरिए महिला की फोटो शेयर कर दी। 

6 साल बाद परिवार से मिली महिला
सोशल मीडिया पर महिला का फोटो शेयर होने बाद खरखौदा पुलिस के पास उत्तराखण्ड के चमोली से फोन आया। इसके बाद एक परिवार ने महिला की पहचान कर ली और उसे लेने के लिए मेरठ पहुंच गया। महिला को देखते ही उसके परिवार ने 6 वर्ष पहले लापता हुई दीपा की पहचान कर ली। इतना ही नहीं दीपा भी अपने घर वालों को पहचान गई। ऐसे में गायब हुई यह महिला उत्तराखंड के चमौली से मेरठ कैसे पहुंची इसका जवाब महिला नहीं दे पा रही है। हालांकि घरवालों का कहना है कि जब दीपा की स्थिति सामान्य होगी तब शायद वह सभी सवालों के जवाब दे पाए। परिवार मेरठ पुलिस का धन्यवाद कर रहा है। मेरठ पुलिस की मदद से वह अपने परिवार के एक सदस्य से मिल पाए।

रोज-रोज के टॉर्चर से अच्छी विधवा की जिंदगी...और 1.5 लाख रु. देकर पत्नी ने करवा दिया पति का मर्डर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios