Asianet News HindiAsianet News Hindi

बांदा जेल में माफिया मुख्तार अंसारी पर और सख्त हुआ पहरा, हर महीने होगा बड़ा बदलाव

बांदा जेल में बंद पूर्व विधायक और माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी पर पहरा और सख्त किया जाएगा। डीआईजी जेल की रिपोर्ट के बाद जेल में मुख्तार अंसारी के बैरक की निगरानी और बढ़ा दी गई है।

Mukhtar Ansari in banda jail where mafia don is locked  there security was more strict after the vigilence team report
Author
Banda, First Published Jun 27, 2022, 11:58 AM IST

लखनऊ:  यूपी में योगी सरकार आने के बाद से माफियाओं और गुंडो की खैर नहीं है। इसी कड़ी में बांदा जेल में बंद पूर्व विधायक और माफिया डॉन मुख़्तार अंसारी पर पहरा और सख्त किया जाएगा। डीआईजी जेल की रिपोर्ट के बाद जेल में मुख्तार अंसारी के बैरक की निगरानी और बढ़ा दी गई है। 

मुख्तार पर जेल में कसा शिकंजा
डीआईजी जेल की रिपोर्ट के बाद  अब मुख्तार अंसारी के जेल में और सख्ती बढ़ा दी गई है। अब इसको लेकर कुछ बदलाव भी किये गए है। अब हर महीने  डिप्टी जेलर समेत 15 जेलकर्मियों को बदला जाएगा। अब हर महीने दूसरे जेल से डिप्टी जेलर समेत अन्य कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। इतना ही नहीं मुख़्तार की बैरेक के पास 20 सीसीटीवी कैमरे बढ़ाए जाएंगे, कैमरे ख़राब होते ही उन्हें तुरंत बदला जाएगा।

मुख़्तार के बैरक की निगरानी लखनऊ में बनी वीडियो वॉल से होगी
जानकारी के मुताबिक अब मुख़्तार अंसारी के बैरक की 24 घंटे निगरानी जेल मुख्यालय लखनऊ में बनी डिजिटल वीडियो वॉल से करने के भी निर्देश दिए गए हैं। साथ ही कहा गया है कि मुख्तार अंसारी के आसपास तैनात स्टाफ को बॉडी वॉर्न कैमरे पहनने होंगे। बता दें कि पिछले दिनों जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने बांदा जेल में छापेमारी की थी। जिसके बाद छापेमारी के दौरान जेल में कई अनियमितताएं सामने आई थीं। इतना ही नहीं डिप्टी जेलर ने डीएम और एसपी के साथ अभद्रता भी की थी। जिसके बाद डिप्टी जेलर को सस्पेंड कर दिया गया था।

मुख्तार की जेल में डीएम और एसपी ने की थी छापेमारी
मुक्तार अंसारी की जेल में डीएम अनुराग पटेल ने जेल में चेकिंग के दौरान मिली अनियमितताओं को लेकर शाशन को पत्र लिख कर जानकारी दी थी। उनकी शिकायत पर संज्ञान लेते हुए जेल पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक कारागार आनंद कुमार ने बांदा जेल के उप कारापाल (डिप्टी जेलर) वीरेशवर प्रताप सिंह को निलंबित कर दिया और उन्हें जांच होने तक मुख्यालय में रहने के आदेश दिए है।

मेरठ: मारपीट के मामले में जांच करने गई पुलिस के साथ हाथापाई, मौका पाकर आरोपी हुआ फरार

बाराबंकी: 4 माह पहले हुए निकाह के बाद पत्नी को तीन तलाक देकर भगाया, रात में 5 किमी पैदल चलकर मायके आई पीड़िता

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios