Asianet News HindiAsianet News Hindi

लखीमपुर Live: चार दिन बाद पहली गिरफ्तारी, आशीष मिश्रा के करीबियों पर पुलिस का शिकंजा, 2 अरेस्ट

लखीमपुर हिंसा मामले (Lakhimpur Kheri Case) में चार दिन बाद पहली गिरफ्तारी हुई है। आशीष मिश्रा के करीबियों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। आशीष पांडे और लवकुश राणा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ये दोनों आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) के साथी बताए जा रहे हैं। इनके अलावा पांच लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

Retired judge nominated to investigate Lakhimpur Kheri violence case Varun Gandhi shares video Akhilesh Yadav meet family
Author
Lakhimpur Kheri, First Published Oct 7, 2021, 12:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ। लखीमपुर हिंसा मामले (Lakhimpur Kheri Case) में चार दिन बाद पहली गिरफ्तारी हुई है। आशीष मिश्रा के करीबियों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। आशीष पांडे और लवकुश राणा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। ये दोनों आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) के साथी बताए जा रहे हैं। इनके अलावा पांच लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। इससे पहले योगी सरकार (Yogi Government) ने जांच के लिए न्यायिक आयोग (Judicial Commission) का गठन कर दिया। इसमें एक सदस्यीय इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) के रिटायर्ड जज (Retired judge) प्रदीप कुमार श्रीवास्तव (Pradeep Kumar Shrivastav) शामिल हैं। उनका मुख्यालय लखीमपुर (Lakhimpur) में ही होगा। दो महीने के भीतर उनको रिपोर्ट देनी है। सरकार ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी। वहीं, घटना के संबंध में भाजपा सांसद वरुण गांधी (BJP MP Varun Gandhi) ने गुरुवार सुबह एक बार फिर ट्वीट (Tweet) कर सरकार को घेरा। उन्होंने कहा- हत्या के जरिए प्रदर्शनकारियों को चुप नहीं कराया जा सकता है। इधर, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (SP Chief Akhilesh Yadav) और बसपा महासचिव (BSP General Secretary) सतीश मिश्रा (Satish Mishra) भी पीड़ित परिवार से मुलाकात करने के लिए पहुंच गए हैं।

बता दें कि लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान थार जीप ने सड़क पर चल रहे प्रदर्शनकारियों को कुचल दिया था। इसमें चार किसानों और एक पत्रकार की मौत हो गई थी। घटना से नाराज भीड़ ने 2 भाजपा कार्यकर्ता, जीप ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला था। आरोप है कि ये जीप गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की थी। घटना के कई वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें गाड़ी किसानों को कुचलकर आगे बढ़ती दिख रही है।

जानिए पल-पल के अपडेट्स...

  • भाजपा ने गुरुवार दोपहर नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा की है। इसमें 80 सदस्यों को जगह मिली। हालांकि, मेनका गांधी और वरुण गांधी को नई कार्यकारिणी से बाहर कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद वरुण लगातार योगी और मोदी सरकार पर हमलावर हैं। इसे देखते हुए मां मेनका और बेटा वरुण को कार्यकारिणी में जगह नहीं दी गई है। राष्ट्रीय कार्यकारिणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह समेत कई दिग्गज नेताओं के नाम हैं। 50 विशेष आमंत्रित सदस्य और 179 स्थायी आमंत्रित सदस्य (पदेन) भी होंगे, जिनमें मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, विधायक दल के नेता, पूर्व उपमुख्यमंत्री, राष्ट्रीय प्रवक्ता, राष्ट्रीय मोर्चा अध्यक्ष, प्रदेश प्रभारी, सह प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश महामंत्री संगठन और संगठक शामिल हैं।
  • पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने दोपहर में मोहाली में बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि अगर कल (शुक्रवार) तक केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के आरोपी बेटे आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की गिरफ्तारी नहीं हुई और उन्होंने जांच ज्वाइन नहीं किया तो मैं कल भूख हड़ताल पर बैठूंगा।
  • उत्तर प्रदेश का अल्पसंख्यक आयोग का प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी हिंसा के पीड़ित परिवार से मिलने पहुंच गया है। इसमें सिख प्रतिनिधि परविंदर सिंह ने कहा- CM ने हमें बुलाकर बात की थी। उनका निर्देश था कि आयोग को जाना चाहिए। दिवंगत पत्रकार के घर भी जाना चाहता हूं।
  • लखीमपुर मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुक्रवार तक के लिए टल गई है। कोर्ट ने UP सरकार से कल (शुक्रवार) तक स्टेटस रिपोर्ट (एफआईआर, आरोपी और गिरफ्तारी) दाखिल करने के लिए कहा है। कोर्ट ने इस केस को जनहित याचिका में रजिस्टर करने को कहा गया था, मगर कुछ गलतफहमी की वजह से इसे स्वत संज्ञान में डाल दिया गया। अब कल मामले में चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच सुनवाई करेगी।
  • प्रियंका गांधी ने कहा- मैं भाजपा के जो कार्यकर्ता मरे हैं, उनसे भी मिलना चाहती थी। मैंने आईजी से पूछा भी था, लेकिन उन्होंने कहा- वह नहीं मिलना चाहते हैं। मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं।
    निष्पक्ष जांच के लिए जिला स्तरीय कमेटी ने अपना काम शुरू कर दिया है। सरकार ने सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति (इलाहाबाद हाईकोर्ट) का एक सदस्यीय पैनल न्यायिक जांच के लिए बना दिया है। हमने एक वॉट्सएप नंबर  9454403800 जारी किया है। लोगों से इस पर सबूत भेजने की अपील की है। 
  • आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह ने बताया कि आरोपी आशीष मिश्रा की तलाश की जा रही है। गिरफ्तारी के लिए टीम लगातार छापेमारी कर रही हैं। आशीष के बारे में कुछ जानकारी नहीं है।
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का बयान सामने आया। उन्होंने कहा- पीड़ितों को अभी तक न्याय नहीं मिला। अगर आरोपी के पिता गृहराज्य मंत्री रहेंगे तो कैसे न्याय मिल पाएगा। जब तक वे बर्खास्त नहीं होंगे, निष्पक्ष जांच कौन करेगा? तीनों परिवारों ने एक ही बात कही कि मुआवजे से मतलब नहीं है, हमें न्याय चाहिए। इसके लिए मैं लडूंगी। जब तक मंत्री बर्खास्त नहीं होंगे और ये लड़का गिरफ्तार नहीं होगा। मैंने उन परिवारों को वचन दिया है। 
  • सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव लखनऊ से लखीमपुर के लिए निकल गए हैं। उन्होंने कहा- जो नामजद हैं जिन्होंने ऐसी घटना की है वो जेल जाएं। सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। हमें उम्मीद है कि इन परिवारों को न्याय मिलेगा। 
  • अखिलेश सबसे पहले किसान नक्षत्र सिंह को श्रद्धांजलि देंगे। वे लहबड़ी गांव जाएंगे। इसके बाद पत्रकार रमन कश्यप को श्रद्धांजलि देने उनके आवास निघासन जाएंगे। दोपहर में किसान लवप्रीत सिंह को भी श्रद्धांजलि देने उनके आवास पलिया जाएंगे।
  • पंजाब कांग्रेस ने तय कि है वह 10 हजार गाड़ियों के साथ लखीमपुर जाएगा। पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाएगा।

लखीमपुर: किसान और पत्रकार के परिजन से मिले राहुल-प्रियंका, बोले- मंत्री की बर्खास्तगी हो, देखें तस्वीरें

सभी 8 लोगों को 45-45 लाख मुआवजा मिला
यूपी सरकार ने हिंसा में मारे गए सभी 8 लोगों को 45-45 लाख रुपए का मुआवजे दिया है। दरअसल, सरकार और किसानों के बीच समझौता हुआ था, इसमें मरने वालों को 45-45 लाख रुपए आर्थिक सहायता, घायलों को 10-10 लाख की मदद और मृतक किसानों के परिवार से एक-एक शख्स को योग्यता के अनुसार सरकारी नौकरी की शर्त रखी गई थी।

लखीमपुर हिंसा: वरुण गांधी किसानों के समर्थन में खुलकर आए
BJP के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) किसानों के समर्थन में लगातार मुखर हैं। वे रोजाना मसले को लेकर सरकार से निष्पक्ष जांच की मांग रहे हैं। एक दिन पहले भी उन्होंने ट्वीट कर डीजीपी से जांच के लिए कहा था। आज फिर एक वीडियो ट्वीट किया। ये वीडियो बुधवार रात सामने आया था। इसमें तेज रफ्तार थार गाड़ी किसानों को कुचलती साफ दिखाई दे रही है। वरुण ने ट्वीट में लिखा- यह वीडियो बिल्कुल साफ है।   प्रदर्शनकारियों की हत्या करके उनको चुप नहीं कराया जा सकता। निर्दोष किसानों के बिखरे खून की जवाबदेही होनी चाहिए। सभी किसानों के अंदर अहंकार और क्रूरता का संदेश जाए, इससे पहले न्याय होना चाहिए।

 

प्रियंका गांधी पर भड़के अखिलेश यादव, दे डाली नसीहत और गिनाए अपराध और बोले-आप उंगली मत उठाओ

वीडियो में किसानों को कुचलते देखी जा रही थार जीप
इससे पहले इस वीडियो का कुछ हिस्सा पहले भी सामने आया था, जिसको लेकर विपक्षी दलों ने सरकार को निशाने पर लिया था। ताजा वीडियो ज्यादा बड़ा और साफ है। इसमें देखा जा रहा है कि किस तरह थार जीप तेजी से आई और किसानों को कुचलते हुए आगे बढ़ गई। आगे जाकर कार खुद भी रुक गई। इसके बाद पीछे लाठी-डंडे लेकर प्रदर्शनकारी भागते दिखते हैं। Asianet News Hindi वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता।

‘फोटो खिंचाने और राजनीतिक लाभ के लिए किसी भी हद तक जा सकती हैं प्रियंका मैडम...’ लखीमपुर हिंसा पर भाजपा

राहुल-प्रियंका ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का भरोसा दिया
बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी पहुंचे थे। रात में उन्होंने हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत के परिवार से मुलाकात की। इसके बाद दोनों नेता मृतक पत्रकार रमन कश्यप के परिवार से भी मिले थे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios