Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रियंका गांधी पर भड़के अखिलेश यादव, दे डाली नसीहत और गिनाए अपराध और बोले-आप उंगली मत उठाओ

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने यूपी सरकार (UP Government) पर भी निशाना साधा। कहा- जो लखीमपुर (Lakhimpur Khiri) में हुआ वह तानाशाही का उदाहरण है। ऐसा हिटलरशाही में भी नहीं हुआ। लखीमपुर में किसानों (Farmers) के साथ अन्याय हुआ है। सरकार में अहंकार भरा पड़ा है। गृह राज्य मंत्री (Ajay Mishra Tenu) ने धमकी दी है। उसका वीडियो वायरल हो रहा है। सरकार को इस्तीफा लेना चाहिए।
 

SP President Akhilesh Yadav attacked Congress leader Priyanka Gandhi and advice on statement of not being active
Author
Lucknow, First Published Oct 6, 2021, 4:22 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ। लखीमपुर खीरी मामले (Lakhimpur Khiri Case) में सरकार के खिलाफ मोर्चा संभाले विपक्ष भी एक-दूसरे पर तंज कसते देखा जा रहा है। एक दिन पहले सीतापुर (Sitapur) में प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने सपा-बसपा (SP-BSP) को लेकर कहा कि ये दोनों पार्टियां मैदान में संघर्ष करते नहीं दिखती। इस पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) नाराज हो उठे। उन्होंने कहा कि वो (Priyanka) कमरे में बंद थीं, इसलिए हमारा संघर्ष नहीं देख पाईं। किसी को हमारे संघर्ष पर उंगली उठाने की जरूरत नहीं है। अखिलेश ने प्रदेश के बड़े अपराध गिनाए और कहा- सपा लगातार संघर्ष कर रही है।

अखिलेश का कहना था कि सबसे ज्यादा संघर्ष समाजवादियों ने किया है।  सबसे ज्यादा लाठियां समाजवादियों ने खाई हैं। इसलिए किसी को टिप्पणी करने की जरूरत नहीं है कि कौन-क्या कर रहा है। आप क्या कर रहे हैं, ये आपको बताना चाहिए। दूसरी पार्टियों के नेताओं पर उंगली उठाने का आपको कोई हक नहीं है। अखिलेश से प्रियंका के झाड़ू लगाने वाले वीडियो पर सवाल किया गया तो वे बोले- इस पर कोई बहस नहीं है। सबको गिरफ्तार किया गया। किसी को कहीं रखा गया, जहां पुलिस ही नहीं थी, हमें वहां ले जाया गया। सरकार के पास इंतजाम नहीं है। 

Live: राहुल गांधी लखनऊ से निकले, छत्तीसगढ़-पंजाब सरकारें पीड़ित परिवारों को 50-50 लाख रुपए मुआवजा देंगी

भाजपा सरकार का महिलाओं के साथ बर्ताव ठीक नहीं: अखिलेश
उन्होंने कहा- सरकार इसलिए तैयार है कि कोई पीड़ित परिवार से नहीं मिल ले। पूरी फोर्स लगा रखी है। प्रियंका को हिरासत में लेते वक्त पुलिसिया व्यवहार पर राहुल गांधी के सवाल उठाने पर अखिलेश ने भी सरकार को घेरा। उनका कहना था कि बीजेपी (BJP) का यही तरीका है काम करने का।  हाथरस की बेटी हो या कहीं की भी। बता दें कि लखीमपुर में हिंसा के अगले ही दिन प्रियंका गांधी को तड़के सीतापुर के हरगांव के पास हिरासत में ले लिया गया था। उसी दिन अखिलेश यादव को भी हिरासत में लिया गया था।

गृह राज्य मंत्री को बचाना चाहती है सरकार: अखिलेश
अखिलेश ने कहा- मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में हत्या होती है। 6 पुलिसवाले जाते हैं- एक व्यापारी को पीटते हैं। उनकी जान चली जाती है। अभी भी पुलिस के लोग फरार हैं। महोबा में एक ब्राह्मण कारोबारी था, उसकी हत्या हो गई। आईपीएस अब तक फरार है। लखीमपुर में किसान कुचल दिए गए। एक पत्रकार की जान गई। कोई गिरफ्तार नहीं हो पाया। अखिलेश का कहना था कि गृह राज्य मंत्री के बेटे ने अपराध किया होगा तो कौन पकड़ेगा? इसलिए सरकार गृह राज्यमंत्री को बचाना चाहती है, ताकि सच्चाई बाहर न आ जाए।

Lakhimpur Violence: किसानों को रौंदते हुए निकल गई थार जीप, कोई बोनट पर उछला-कोई जमीन पर गिरा

इस बार कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगा सपा
अखिलेश से अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन को सवाल किया गया तो उन्होंने साफ कहा कि वे इस बार गठबंधन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि पुराना अनुभव ठीक नहीं था। जब उनसे पूछा गया कि क्या आपकी राहुल-प्रियंका से कोई बात हुई है तो उन्होंने कहा- नहीं, मेरी कोई बात नहीं हुई।

लखीमपुर खीरी कांड: मृतक किसान के बेटे ने सुनाई खौफनाक दास्तां, कहा-पिता को मेरी आंखों के सामने मार डाला...

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios