कानपुर (Uttar Pradesh). यूपी के कानपुर में शुक्रवार को एक गोदाम में 2 छात्रों के शव संदिग्ध अवस्था में मिले।  एक का शव सिक्योरिटी गार्ड के रूम में मिला, जबकि दूसरे का शव पेड़ से लटकता मिला। मौके पर पहुंची पुलिस और फारेंसिक टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें लिखा है, मेरी मौत का जिम्मेदार मैं खुद हूं। सॉरी मम्मी पापा आई लव यू फैमली। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

क्या है पूरा मामला
मामला काकादेव थाना क्षेत्र स्थित गीता नगर का है। यहां एक पेंट का गोदाम है, जो काफी समय से बंद पड़ा है। कल्याणपुर के कश्यप नगर में रहने वाले द्वारिका पाल का बेटा दीपक सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। नौकरी के साथ ही वह जेके इंस्टीट्यूट से आईटीआई डिप्लोमा की पढ़ाई भी कर रहा था। जानकारी के मुताबिक, दीपक नाइट शिफ्ट की डयूटी करने के लिए गुरुवार को घर से निकला था। शुक्रवार सुबह घर नहीं पहुंचने पर पिता ने मॉर्निंग की शिफ्ट में रहने वाले गार्ड सुरेश को फोन किया। उसने फैक्ट्री पहुंचकर देखने की बात कही। 

मृतक के पिता ने जताई ये आशंका
सुरेश ने बताया, जब वह फैक्ट्री पहुंचा तो गेट खटखटाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। उसने दीपक के मोबाइल पर फोन भी किया, लेकिन रिसीव नहीं हुआ। किसी अनहोनी के शक में उसने पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस फैक्ट्री के अंदर दाखिल हुई तो देखा कमरे में दीपक का शव लटक रहा था। वहीं, कंपाउड में गूलर के पेड़ से दूसरे लड़के का शव लटक रहा था। इसके पास से इंस्टीट्यूट का कार्ड मिला। उसका नाम सचिन कुमार है, वह सैफई का रहने वाला है। मृतक दीपक के पिता के मुताबिक, एक लड़का मेरे बेटे का दोस्त है, लेकिन मैं उसका नाम नहीं जानता। बेटा इस तरह का कदम नहीं उठा सकता। घर में भी कोई बात नहीं हुई। मुझे लग रहा है कि दोनो बच्चों की किसी ने रात में हत्या की। 

पुलिस का क्या है कहना
सर्किल ऑफिसर अजीत सिंह चौहान ने बताया, फैक्ट्री काफी समय से बंद थी। दीपक ने बीती रात फांसी लगाकर सुसाइड किया। उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है। प्रथम दृष्टया में लग रहा है कि दोनों दोस्तों ने सुसाइड किया। दोनो का पोस्टमार्टम कराया जाएगा, जो तथ्य सामने आएंगे, उसी आधार पर कार्यवाई की जाएगी।