Asianet News HindiAsianet News Hindi

कासगंज में अल्ताफ की मौत का मामला गरमाया: अखिलेश के सवालों पर योगी के मंत्री बोले- उनको टोंटी का विशेष ज्ञान

कासगंज (Kasganj) में सदर कोतवाली पुलिस की हिरासत में अल्ताफ नाम के युवक की संदिग्ध मौत के बाद मामला गरमा गया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने आत्महत्या वाली थ्योरी पर सवाल खड़े किए तो योगी सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (Sidharth Nath Singh) ने उन्हें जवाब दिया और तंज भी कसा। सिंह ने कहा कि उन्हें (अखिलेश) टोटी का बड़ा ज्ञान है।
 

UP Kasganj Altaf death Case Minister Siddharth nath Singh taunted bottleneck when Akhilesh Yadav was questioned UDT
Author
Lucknow, First Published Nov 11, 2021, 3:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कासगंज। यूपी के कासगंज (Kasganj) जिले में पुलिस हिरासत में 22 साल के लड़के अल्ताफ की संदिग्ध मौत मामले ने तूल पकड़ लिया है। पुलिस की ‘टोंटी से फांसी’ लगाने की थ्योरी पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। पुलिस (Police) के रवैये को लेकर भी कई गंभीर आरोप लग रहे हैं। विपक्षी पार्टियों ने भाजपा सरकार (Yogi Government) को निशाने पर लिया है। इसके बाद अब यूपी सरकार के प्रवक्ता और मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह (Sidharth Nath Singh) ने पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि अखिलेश पर तंज कसा और कहा- उन्हें (अखिलेश) टोंटी का बड़ा ज्ञान है।

मंत्री सिंह ने कहा- ‘एक प्रक्रिया की तहत कार्रवाई की गई है। मरने वाले अल्ताफ के पिता ने एक वायरल वीडियो में संतुष्टि बताई है लेकिन विपक्ष इसे सांप्रदायिकता का रंग चढ़ाने का काम कर रही है। ये सिर्फ इसलिए क्योंकि एक मुस्लिम की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हुई है, इसलिए विपक्षी दल तुष्टीकरण की नीति के तहत ये सब कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा- ‘भारत के अंदर कहीं पर भी ऐसी चीजें होती हैं तो उसकी जांच होती है। मानवाधिकार आयोग होता है, इस मामले में पिता का एक वीडियो भी वायरल हुआ जिसमें वो संतुष्ट हैं। उन्होंने दावा किया और कहा- अल्ताफ के पिता के साथ कोई जबरदस्ती नहीं हुई है। मामले में जांच की जाएगी और उसके हिसाब से कार्रवाई होगी।

अखिलेश अपना टोंटी ज्ञान फॉरेंसिक वालों को भी दें...
सिद्धार्थ नाथ सिंह का कहना था कि एक जजमेंट के साथ एक कैंपेन शुरू किया गया, ये विपक्ष की हताशा को दिखाता है। वहीं, पूर्व सीएम अखिलेश यादव के आत्महत्या पर सवाल खड़े किए जाने पर सिंह ने कहा- ‘अखिलेश यादव को टोंटी का बड़ा ज्ञान है। टोंटी के विषय में जितना उनको ज्ञान है उतना किसी और को ज्ञान नहीं हो सकता। अखिलेश यादव अपना टोंटी ज्ञान फॉरेंसिक वालों को भी दें।’बता दें कि 2017 में बीजेपी सत्ता में आई तो आरोप लगाया था कि अखिलेश यादव मुख्यमंत्री आवास छोड़ने से पहले बाथरूम की टोंटी तक निकालकर ले गए हैं। सिद्धार्थ नाथ सिंह का इशारा उसी तरफ था।

वायरल वीडियो में अल्ताफ के पिता ने कहा- बेटे ने डिप्रेशन में फांसी लगाई
अल्ताफ के पिता का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उन्होंने बेटे के डिप्रेशन में आकर फांसी लगाने की बात कही। वीडियो में अल्ताफ के पिता चांद मियां कह रहे हैं कि उन्हें पुलिस से कोई शिकायत नहीं है। हालांकि, ये वीडियो सामने आने के बाद चांद मियां ने आरोप लगाया कि पुलिस के दबाव में उन्होंने बयान दिया और उनसे अंगूठा लगवा लिया। उन्होंने कहा- ‘मैं अनपढ़ हूं, मुझसे दवाब में अंगूठा लगवाया और बयान बुलवाया गया है।’ उन्होंने कहा- ‘मेरे बेटा आत्महत्या नहीं कर सकता, उसकी हत्या की गई है, अभी तक पुलिस भागी हुई लड़की और उसके परिजन को नहीं पकड़ पाई है।’

यह है मामला
बता दें कि सदर कोतवाली की हवालात में अल्ताफ की मौत हो गई थी। पुलिस का कहना है कि अल्ताफ ने हवालात में शौचालय में लगी नल की टोंटी से फांसी लगाकर आत्महत्या की है। पुलिस ने अल्ताफ को लड़की भगाने के आरोप में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। हवालात में उसकी संदिग्ध मौत हो गई।

UP: गायत्री प्रजापति गैंगरेप का दोषी, सजा पर फैसला कल, मंत्री रहते इसने अखिलेश सरकार में की सबसे तेज तरक्की

अपराध वाला इत्र vs रामराज की खुशबू: अखिलेश के समाजवादी इत्र पर BJP बोली- पापों की दुर्गंध नहीं जाएगी

UP Election 2022 : यूपी की चुनावी फिजा को कितनी महकाएगी समाजवादी परफ्यूम, जानें इसके पीछे का सियासी मकसद..

-UP Election 2022: जिस घर की दीवारों पर प्लास्टर भी नहीं, वहां कहां से आया अखिलेश यादव के लिए आरामदायक सोफा?

UP Election 2022: बसपा के शिल्पकार रहे रामअचल राजभर सपा में शामिल, लालजी वर्मा भी हुए साइकिल पर सवार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios