Asianet News HindiAsianet News Hindi

UP: जब काशी में अचानक एक बच्चे ने छुए अमित शाह के पैर, जानिए गृह मंत्री ने क्या दिया अनमोल तोहफा...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) यूपी दौरे (UP Visit) पर हैं। वे शुक्रवार को वाराणसी (Varanasi) पहुंचे। यहां उन्होंने काल भैरव मंदिर (Kaal Bhairav ​​temple) में पूजा-अर्चना की। मंदिर में पूजा कराने वाले महंत नवीन गिरी ने बताया कि शाह की तरफ से काल भैरव की विशेष पूजा और तेल का उतारा कराया गया। इसके साथ ही कपूर की भी आरती की गई। मान्यता है कि ऐसी पूजा करने से जो कोई भी रुकावट होती हैं वह दूर हो जाती हैं। चुनाव के पहले ऐसी पूजा करने से भाजपा (BJP) को जरूर सफलता मिलेगी।

UP Varanasi kaal Bhairav Temple ojas Gujrati amit shah caressed and wrote blessings in copy UDT
Author
Varanasi, First Published Nov 13, 2021, 10:35 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने शुक्रवार को बाबा काल भैरव के दरबार (Kaal Bhairav ​​temple) में मत्था टेका। यहां शाह की तरफ से विशेष पूजा-अर्चना और विशेष आरती की गई। इसके बाद जब शाह मंदिर से बाहर निकल रहे थे तो अचानक रुक गए। यह देख हर कोई चौंक गया। यहां एक बच्चा ओजस गुजराती (Ojas Gujarati) मिल गया और उसने शाह के पैर छू लिए। शाह ने बच्चे को दुलारा और उससे बातचीत की। गृह मंत्री शाह का ये अंदाज काशी की गलियों में चर्चा का केंद्र बना रहा। 

दरअसल, जब गृह मंत्री अमित शाह मंदिर से लौट रहे थे तो मिठाई की दुकान के पास एक बच्चा खड़ा था। जब गृहमंत्री सामने से गुजरे तो ये बच्चा अचानक सामने आ गया और उसने शाह के पैर छू लिए। यह देख शाह भी खुद को रोक नहीं पाए और फिर उससे बात भी की और उसको आशीर्वाद दिया। सिर पर हाथ फेरा और बच्चे के हाथों में जो कॉपी थी, उस पर आशीर्वाद रूपी वचन भी लिखे। शाह ने बच्चे की कॉपी पर लिखा- मेरा आशीर्वाद तुम्हारे साथ है ओजस। इससे पहले शाह ने मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की। 

चुनाव से पहले काल भैरव की शरण में जाते हैं शाह और मोदी
बता दें कि 2014 से अब तक जब भी भाजपा का चुनावी शंखनाद होता है तब सबसे पहले गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी में बाबा काल भैरव के दरबार में मत्था टेकते हैं। इससे पहले शुक्रवार को  गृह मंत्री अमित शाह ने वाराणसी में पार्टी की बैठक में कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया। सूत्रों की मानें तो शाह ने इशारों-इशारों में सिर्फ सपा को प्रतिद्वंदी माना। उन्होंने कहा- सपा के अलावा कोई नहीं टिक सकता। अगर कार्यकर्ता जोर लगा देंगे तो कोई भी लड़ाई में नहीं रह पाएगा। उन्होंने कहा कि दो बड़े दल भी बीजेपी के सामने मिलकर लड़े, लेकिन कुछ नहीं कर सके। शाह ने सदस्यता अभियान को मजबूत करने की भी अपील की।

शाह ने चुनावी तैयारियों की समीक्षा की
शाह ने यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) की तैयारियों की समीक्षा की और 300 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को ‘बूथ जीता-चुनाव जीता' का संकल्प दिलाया। शाह ने ट्वीट किया- आज वाराणसी में भाजपा के विधानसभा प्रभारियों के साथ बैठक कर उत्‍तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जो नाराज है उनको मनाने के साथ साथ अन्य दलों से भी जो मजबूत हो, उन्हें लाने की कोशिश करनी चाहिए। शाह ने कहा कि सभी 75 जिलों में 75 ऐसे कार्यकर्ता तैयार करें जो पूरे दम से बूथ मजबूत करने में योगदान दें। उन्होंने कहा कि हम बीजेपी को अगले 35 सालों तक केंद्र और राज्य में सत्ता में बनाए रखने की योजना पर काम कर रहे हैं।

गृहमंत्री Amit Shah ने किया सीएम Ashok Gehlot को फोन, खुद मुख्यमंत्री ने बताई ये बात..जानिए क्या हुई बातचीत

UP में एक-दूसरे का किला भेदने की तैयारी में BJP-SP, शाह आजमगढ़ में गरजेंगे तो गोरखपुर में अखिलेश ने कमर कसी

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios