Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रियंका गांधी का अलग अंदाज, आगरा जाते वक्त घायल युवती को देख रुकवाया काफिला, मरहम-पट्टी की, फोन नंबर दिया

गोमती नगर के पास उन्हें एक युवती के एक्सीडेंट की जानकारी मिली, जिसके बाद उन्होंने अपने काफिले को रुकवाया और गाड़ी में रखी फर्स्ट एड किट मंगवाकर घायल युवती के जख्मों को खुद साफ करने लगीं।

Uttar Pradesh, Priyanka Gandhi stopped on Agra border, congress leader was going to meet family of sweeper died in police custody
Author
Agra, First Published Oct 20, 2021, 4:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ : पुलिस-प्रशासन की इजाजत के बाद आगरा के लिए निकलीं प्रियंका गांधी का रास्ते में अलग अंदाज देखने को मिला। गोमती नगर के पास उन्हें एक युवती के एक्सीडेंट की जानकारी मिली, जिसके बाद उन्होंने अपने काफिले को रुकवाया और गाड़ी में रखी फर्स्ट एड किट मंगवाकर घायल युवती के जख्मों को खुद साफ करने लगीं। प्रियंका गांधी ने घायल युवती के जख्मों की साफ-सफाई की, उसपर दवाई लगाई, पट्टी बांधी और साथ ही उन्हें अपना नंबर भी दिया।

 

आगरा में पीड़ित परिवार से करेंगी मुलाकात
आगरा में वाल्मिकी समाज के एक युवक की पुलिस हिरासत में मौत होने के मामले में सियासत गरमाई हुई है। प्रियंका गांधी मृतक के परिवार से मिलने जाना चाहती थीं, लेकिन उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हालांकि बाद में प्रशासन ने 4 लोगों के साथ आगरा जाने की अनुमति दे दी। 

25 लाख की चोरी से जुड़ा है पूरा मामला
दरअसल, वाल्मीकि समाज के युवक अरुण कुमार जो कि सफाईकर्मी थे, उसको आगरा आगरा जिले के थाना जगदीशपुरा के मालखाने से 25 लाख की चोरी के मामले में गिरफ्तार किया था। लेकिन युवक की मंगलवार रात को मौत हो गई। जिसके बाद से इस मामले को लेकर जबरदस्त हंगामा हो रहा है। घटना के बाद से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। बवाल की आशंका के मद्देनजर थाने पर फोर्स तैनात कर दी गई है।

यह भी पढ़ें-Kushinagar: मोदी बोले- ये समाजवादी नहीं, परिवारवादी हैं, योगी के आगे माफी मांग रहे माफिया

पुलिस ने कुछ अलग सुनाई कहानी
वहीं इस पूरे मामले पर जगदीशपुरा थाना पुलिस का कहना है कि मालखाने से 25 लाख रुपए चोरी के केस में कई युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही थी। इसी केस में अरुण नाम के युवक को हिरासत में लिया था। उसने पूछातछ के दौरान चोरी करने के जुर्म को कबूला था। पैसे की बरामदगी के दौरान उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद हम उसे अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन कुछ देर बाद ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 मैं जहां भी जाती हूं मुझे रोक दिया जाता है...
प्रियंका गांधी बुधवार को मृतक के परिजनों से मिलने के लिए आगरा के लिए निकली थीं। लेकिन उससे पहले ही उन्हें लखनऊ में रोक दिया गया। उन्होंने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा-क्या मैं आगरा नहीं जा सकती हूं।  मैं जहां भी जाती हूं मुझे यूपी सरकार के दोबारा रोका जाता है। मैं पीड़ित के परिजनों से मिलना चाहता हूं, इसमें गलत बात क्या है।

इसे भी पढ़ें-ये देखो कैंची, फीता, माला, मिठाई लेकर आ गए भाजपाई... कुशीनगर एयरपोर्ट के उद्घाटन पर भड़के अखिलेश

'पीएम के संदेशों पर ही हमला हो रहा'
प्रियंका गांधी ने आगे कहा कि आज भगवान वाल्मीकि जयंती है, पीएम ने महात्मा बुद्ध पर बड़ी बातें की, लेकिन उनके संदेशों पर हमला कर रहे हैं। किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? आगरा पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत की घटना निंदनीय है। भगवान वाल्मीकि जयंती के दिन उप्र सरकार ने उनके संदेशों के खिलाफ काम किया है। उच्चस्तरीय जांच व पुलिस वालों पर कार्रवाई हो व पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios