Asianet News HindiAsianet News Hindi

बाबा महाकाल को लगाया गया गुलाल, ऐसे मनी यहां होली

 उज्जैन फाल्गुन पूर्णिमा पर 9 मार्च की शाम महाकाल मंदिर में होली की शुरुआत हुई। नैवेद्य कक्ष में चंद्रमौलेश्वर को गुलाल लगाया गया। शाम 6.30 बजे सांध्य आरती के पहले भगवान महाकाल को गुलाल चढ़ाया गया। आरती के बाद पुजारी और भक्त ने प्रांगण में होलिका दहन किया। 

वीडियो डेस्क। उज्जैन फाल्गुन पूर्णिमा पर 9 मार्च की शाम महाकाल मंदिर में होली की शुरुआत हुई। नैवेद्य कक्ष में चंद्रमौलेश्वर को गुलाल लगाया गया। शाम 6.30 बजे सांध्य आरती के पहले भगवान महाकाल को गुलाल चढ़ाया गया। आरती के बाद पुजारी और भक्त ने प्रांगण में होलिका दहन किया। होली और धुलेंडी पर मंदिरों में भगवान को हर्बल गुलाल ही लगाया जाएगा। शहर में सबसे पहले महाकाल मंदिर की होली जली। यहां रात 8 बजे होलिका दहन हुआ। इसके बाद शहर में होली जलाने की शुरुआत हुई। 

Video Top Stories