Asianet News HindiAsianet News Hindi

मथुरा: विश्व प्रसिद्ध ठाकुर बांके बिहारी मंदिर में देश-विदेश से भेजी जा रही हैं राखियां, देखें वीडियो

 वृंदावन में भगवान बांके बिहारी मंदिर में देशभर से 10 हजार राखियां आ चुकी हैं। महाराष्ट्र के पुणे से भी एक अनूठी राखी आई है। राखी के साथ कलावा, रोली, चावल, मेवा के अलावा दो रेनकोट भी हैं। साथ में एक चिट्‌ठी भी है, जो ठाकुरजी के लिए लिखी गई है।

Aug 5, 2022, 6:26 PM IST

मथुरा: रक्षा बंधन 11 अगस्त को है। इस पर्व पर बहन अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं। भाई भी बहन की रक्षा का वचन देते हैं। कई बहनें भगवान कृष्ण को अपना भाई मानती हैं। वृंदावन में भगवान बांके बिहारी मंदिर में देशभर से 10 हजार राखियां आ चुकी हैं। महाराष्ट्र के पुणे से भी एक अनूठी राखी आई है। राखी के साथ कलावा, रोली, चावल, मेवा के अलावा दो रेनकोट भी हैं। साथ में एक चिट्‌ठी भी है, जो ठाकुरजी के लिए लिखी गई है।

मंदिर के कर्मचारियों ने जब रेनकोट देखा, तो वह अचंभित हुए। मंदिर के कर्मचारी दिनेश ने राखी के साथ आए पत्र को जब पढ़ा तो वह भी बहन की भावना देख भाव विभोर हो गए। चिट्‌ठी में लिखा है, "सपने में देखा कि बिहारीजी और राधारानी निधिवन में रास कर रहे हैं। उसी दौरान बारिश हो जाती है, जिसमें दोनों भीग गए। निधिवन जाते समय और रास रचाते समय ठाकुरजी और राधारानी न बरसात में न भीगें, इसलिए रेनकोट भेज रही हूं।"

Video Top Stories