Asianet News HindiAsianet News Hindi

शख्स ने ऑनलाइन खरीद ली सेनिटाइजर की 18 हजार बोतलें, कालाबाजारी करने के चक्कर में बुरा फंसा

कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर के देशों में लगातार फैलता ही जा रहा है। इससे बचाव के लिए सेनिटाइजर को जरूरी बताया गया है। सेनिटाइजर की भारी मांग को देखते हुए काफी संख्या में लोग इसकी कालाबाजारी में लग गए हैं।

Person bought 18 thousand bottles of sanitizer online, got stuck in black market MJA
Author
USA, First Published Mar 16, 2020, 2:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क। कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया भर के देशों में लगातार फैलता ही जा रहा है। इससे बचाव के लिए सेनिटाइजर को जरूरी बताया गया है। सेनिटाइजर की भारी मांग को देखते हुए काफी संख्या में लोग इसकी कालाबाजारी में लग गए हैं। अमेरिका में एक शख्स ने ब्लैक मार्केट में बेच कर बढ़िया मुनाफा कमाने के चक्कर में सेनिटाइजर की करीब 18 हजार बोतलें खरीद लीं, लेकिन उसकी उम्मीदों पर तब पानी फिर गया, जब ऑनलाइन सेल करने वाली कंपनी अमेजन ने मास्क और कुछ दूसरे आइटम्स के साथ इन सेनिटाइजर को भी मार्केट से वापस ले लिया। मैट कॉल्विन और नोह कॉल्विन नाम के दो भाइयों ने पहले 300 सेनिटाइजर की बोतलों का ऑर्डर दिया था, जो देखते ही देखते बिक गईं। इसके बाद उन्होंने इतनी बड़ी संख्या में सेनिटाइजर के ऑर्डर बुक किए। 

बहुत ज्यादा कीमत पर बेचा
दोनों भाइयों ने सेनिटाइजर की एक बोतल 8 डॉलर (करीब 592 रुपए ) से लेकर 70 डॉलर (करीब 5, 181 रुपए) तक में बेच कर लागत से कई गुना ज्यादा पैसा कमाया। यह बेहद ही अमानवीय काम था, क्योंकि वे कोरोना जैसी महामारी से बड़ी कमाई कर रहे थे। यह बात लोगों के बीच फैलते देर नहीं लगी कि जहां लोगों का जीवन इस महामारी से खतरे में है, वहीं कुछ लोग सेनिटाइजर, मास्क और कोरोना वायरस से बचाव के लिए दूसरी चीजों की कालाबाजारी करने में लगे हैं। इसकी बड़ी निंदा शुरू हुई और अथॉरिटीज पर यह दबाव बनाया गया कि इस अवैध कारोबार को रोका जाए।

अमेजन ने बिक्री पर लगा दी रोक
यह जानकारी मिलते ही अमेजन ने हजारों की संख्या में सेनिटाइजर की बोतलों, फेस मास्क और वाइप्स के ऑर्डर को लिस्ट से हटा दिया। कंपनी ने अपने कुछ विक्रेताओं को भी सस्पेंड कर दिया और उन्हें चेतावनी दी कि अगर वे तय कीमत से ज्यादा पर इन प्रोडक्ट्स को बेचते हैं, तो उनके अकाउंट सीज कर लिए जाएंगे। 

ईबे ने भी उठाया ये कदम
अमेजन के अपनी लिस्टिंग से प्रोडक्ट्स को हटा लेने के बाद दूसरी बड़ी ऑनलाइन कंपनी ईबे ने भी इसी तरह का कड़ा कदम उठाया और सेनिटाइजर्स, मास्क और दूसरे प्रोडक्ट की बिक्री पर रोक लगा दी। उसने अमेरिका में मास्क और सेनिटाइजर्स की अवैध बिक्री पर पाबंदी लगाने के लिए अपने सेलर्स पर कड़ी नजर रखनी शुरू कर दी। ईबे ने भी सेनेटाइजर्स का अवैध व्यापार करने वाले अपने सेलर्स के खाते सीज करने की चेतावनी दी है।

कालाबाजारियों को हुआ बड़ा नुकसान
अमेजन और ईबे के इस सख्त कदम उठाने के बाद अब कालाबाजारियों के हौसले पस्त हैं। जहां वे इस मानवीय आपदा से भारी मुनाफा कमाने की उम्मीद लगाए बैठे थे, अब उन्हें भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है। कॉल्विन नाम के उस शख्स को अब यह समझ में नहीं आ रहा है कि वह उन 18 हजार सेनिटाइजर्स की बोतलों का क्या करे, जिन्हें बेचना प्रतिबंधित कर दिया गया है। 

हजारों की संख्या में हैं कालाबाजारी
बता दें कि कॉल्विन अकेला ऐसा शख्स नहीं है, जिसने सेनिटाइर्जस की कालाबाजारी कर पैसा कमाना चाहा। अमेरिका में ऐसे हजारों व्यापारी हैं, जिन्होंने सेनिटाइजर्स और मास्क का स्टॉक कालाबाजारी करने के लिए जमा कर के रखा है। जबकि हॉस्पिटलों में भी इन्हें सिर्फ जरूरतमंदों को दिया जा रहा है। बहरहाल, अब अमेरिका में गैरकानूनी तरीके से सेनिटाइजर्स और मास्क की बिक्री नहीं हो सकती। अमेजन ने साफ कहा है कि उसने हजारों ऑर्डर कैंसल कर दिए हैं और लिस्टिंग से उन्हें हटा दिया है, साथ ही अपने हजारों सेलर्स के अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया है, जो कोरोनावायरस से लोगों की सुरक्षा करने की जगह अवैध तरीके से भारी  मुनाफा कमाना चाहते हैं।   

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios