Asianet News HindiAsianet News Hindi

पंजशीर में घुसे Taliban पर एयर स्ट्राइक, आखिर कौन आया पीछे से NRF को सपोर्ट देने?

Afghanistan में Taliban और नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स(NRF) के बीच जारी लड़ाई में एक चौंकाने वाला मोड़ सामने आया है। पंजशीर में घुसे तालिबान के ठिकाने पर एयर स्ट्राइक हुई है। 

Afghanistan crisis, Air strike on Taliban base in Panjshir province
Author
Kabul, First Published Sep 7, 2021, 8:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

काबुल. पंजशीर प्रांत जीतने का दावा करने वाले Taliban के ठिकाने पर एयर स्ट्राइक की खबर है। यह हवाई हमले किसने किए, यह खुलकर सामने नहीं आया है। बता दें कि पंजशीर में Taliban और नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स(NRF) के बीच भीषण लड़ाई जारी है। तालिबान NRF को सरेंडर करने के बोल रहा है, लेकिन वो तैयार नहीं है।

यह भी पढ़ें-Taliban की तकलीफ, देखिए अफगानिस्तान से जाते-जाते अमेरिका क्या कबाड़ा करके गया है, twitter पर रोया दु:खड़ा

तजाकिस्तान या रूस ने किए हवाई हमले
पंजशीर के शेर बोले जाने वाले अहमद मसूद कुछ दिनों से तजाकिस्तान में हैं। इसलिए माना जा रहा है कि तालिबान के ठिकानों पर यह एयर स्ट्राइक तजाकिस्तान या रूस के विमानों ने की है। बता दें कि पंजशीर में कई दिनों से जबर्दस्त लड़ाई छिड़ी हुई है।

यह भी पढ़ें-तालिबान के पंजशीर कब्जे के दावे को अहमद मसूद ने नकारा, बोले: खून की आखिरी बूंद तक हम लड़ेंगे

पाकिस्तान के खिलाफ फूटा गुस्सा
पाकिस्तान खुलकर तालिबान के सपोर्ट में आ गया है। अहमद मसूद भी 19 मिनट के अपने वीडियो इसका खुलासा कर चुके हैं कि पंजशीर के लड़ाके अकेले तालिबान से नहीं, पाकिस्तान से भी लड़ रहे हैं। पाकिस्तान पर तालिबान की मदद करने का पहले से ही आरोप लगता आ रहा है। NRF के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करने में पाकिस्तान के ड्रोन और एयरफोर्स का इस्तेमाल किया गया।

यह भी पढ़ें- BBC की साख पर बट्टा: Afghanistan में पाकिस्तान के प्रॉपगैंडा को सपोर्ट करने पर सोशल मीडिया पर खिंचाई

तालिबान का दावा बार-बार गलत निकला
Afghanistan में Taliban और नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स(NRF) के बीच जारी लड़ाई को लेकर दोनों पक्षों की ओर से लगातार अलग-अलग बयान आ रहे हैं। सोमवार को तालिबान ने पूरे पंजशीर जीतने का दावा किया था। इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान(Islamic Emirate of Afghanistan-IEA) के प्रवक्ता  जबीहुल्लाह मुजाहिद ने एक बयान में कहा गया कि भाड़े के दुश्मनों का आखिरी घोंसला यानी पंजशीर पूरी तरह से जीत लिया है। इस NRF ने गलत बताया है। उसने एक tweet किया है।

pic.twitter.com/AimalwgtnF

रूस पहले ही तालिबान को लेकर चिंतित
बता दें कि रूस अफगानिस्तान के संकट से चिंतित है। भारत में रूस के राजदूत निकोलाय कुदोशेव कह चुके हैं कि अफगानिस्तान को लेकर भारत और रूस की एक जैसी चिंताएं हैं। दोनों देश लगातार संपर्क में हैं। रूस के इलाकों और कश्मीर में अफगानिस्तान की जमीन से आतंकवाद फैलाए जाने का खतरा है। तालिबान सरकार को मान्यता देने पर भी रूस अभी भारत जैसी स्थिति में है। यानी कोई फैसला नहीं ले रहा है।

 pic.twitter.com/za7mNRtOzW

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios