Asianet News HindiAsianet News Hindi

Attack on Hindus: बांग्लादेश के बाद PAK में कट्टरपंथी मुसलमानों के निशाने पर हिंदू, कोटरी में मंदिर तोड़ा

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पर हुई हिंसा(Bangladesh Violence) का मामला अभी गर्म ही है कि पाकिस्तान में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की खबर है। यहां के सिंध प्रांत में कोटरी में कट्टरपंथियों ने एक मंदिर में तोड़फोड़ कर दी।

Attacks on Hindus in Pakistan, Another ancient Hindu Temple vandlized in Kotri
Author
Islamabad, First Published Oct 30, 2021, 8:48 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

इस्लामाबाद. इस्लामिक कट्टरपंथ(Islamic fundamentalism) से जूझ रहे पाकिस्तान से फिर हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की खबर है। पाकिस्तान (Pakistan) के सिंध प्रांत (Sindh province) के कोटरी (Kotri) में कट्टरपंथियों ने एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ कर दी। इस घटना को लेकर अल्पसंख्यकों में आक्रोश है। माना जा रहा है कि उपद्रवी दिवाली को देखते हुए पाकिस्तान में साम्प्रदायिक हिंसा की साजिश रच रहे हैं। 

pic.twitter.com/wtaCI1CM1u

यह भी पढ़ें-Danger Zone में पाकिस्तान: TLP के हिंसक आंदोलन से डरी इमरान सरकार, देने लगे अल्लाह की दुहाई; ये बोले मंत्री

कई जगह मंदिरों में तोड़फोड़ और चोरियां
जानकारी के अनुसार, हमलावरों ने कोटरी मंदिर में तोड़फोड़ के बाद दान पेटी और जेवरी आदि लूट लिए। कोटरी पुलिस ने FIR दर्ज करके जांच शुरू की है। घटना 29 अक्टूबर को सामने आई है। हालांकि इस मामले में अभी पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगे हैं। इस मामले में अल्पसंख्यक मामलों के प्रांतीय मंत्री ज्ञान चंद इसरानी(Gyan Chand Israni) ने एसएसपी से रिपोर्ट मांगी है। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, हमलावरों ने गुरुवार रात हैदराबाद (Hyderabad) प्रांत के जमशाोरो(Jamshoro) के कोटरी के दरिया बैंड इलाके के एक प्राचीन शिव मंदिर पर हमला किया। हमलवार तोड़फोड़ के बाद करीब 25 लाख रुपए का सामान लूट ले गए।

यह भी पढ़ें-बांग्लादेश में फिर violence: मामूली बहस के बाद मुस्लिम और बौद्धों के गुटों में संघर्ष, झोपड़ी फूंकी, 8 घायल

दिवाली पर हिंसा की साजिश
इस मामले को लेकर अल्पसंख्यकों में आक्रोश है। इन घटनाओं को मीडिया से शेयर करते हुए स्थानीय निवासी डॉ. भवन कुमार ने द एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया कि अज्ञात आदमी मंदिर में घुसा था। उसने कांच की फ्रेम को तोड़कर मूर्तियों का अनादर किया। लोगों को कहना है कि यह पहली घटना नहीं है। 6 महीने पहले भी एक मंदिर में ऐसा ही हुआ था। बता देंकि सिंधु नदी के तट पर तीन ऐतिहासिक मंदिर हैं। आरोप है कि कट्टरपंथी दिवाली पर साम्प्रदायिक हिंसा को जन्म देना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें-और इस तरह 70 साल की उम्र में मुस्लिम से हिंदू बन गई इंडोनेशिया के पहले प्रेसिडेंट की बेटी, देखें कुछ Pics

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पर हुई हिंसा
बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडाल में कुरान रखकर दंगा कराया गया था। कोमिल्ला शहर में हिंदुओं के खिलाफ 13 अक्टूबर से शुरू हुई हिंसा 17 अक्टूबर तक पूरे बांग्लादेश में चलती रही थी। इस दौरान मंदिरों में तोड़फोड़ की गई और घरों को आग लगा दी गई थी। इस मामले को लेकर दुनियाभर में विरोध प्रदर्शन जारी हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios