Asianet News HindiAsianet News Hindi

पूर्व पीएम इमरान खान ने कहा: भेड़-बकरियों जैसा व्यवहार किया जा रहा, सेना पर नेताओं को प्रताड़ित करने का आरोप

इमरान खान शनिवार को हकीकी आजादी मार्च के दूसरे दिन लाहौर के शाहदरा इलके में रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार और सेना की मिलीभगत से पहले उनके चीफ ऑफ स्टाफ शाहबाज गिल, फिर पत्रकार जमील फारूकी और अब 75 वर्षीय सीनेटर आजम स्वाति को 'प्रताड़ित' किया जा रहा है।

Haqeeki Azadi March updates, Pakistan Former PM Imran khan alleged Shehbaz Sharif government and Army for torturing, DVG
Author
First Published Oct 29, 2022, 8:16 PM IST

Imran Khan Haqeeqi Azadi March: देश में चुनाव कराने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान का हकीकी आजादी मार्च दूसरे दिन भी जारी रहा। शहबाज शरीफ सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व पीएम इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान के लोगों के साथ भेड़ बकरियों की तरह व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए। इस देश के लोगों को सरकारें या सेना कमतर न आंके। भ्रष्टाचार करने वाले लोग एकजुट होकर निशाना बना रहे हैं। पार्टी के सीनियर लोगों को सरकार प्रताड़ित कर रही है। उनको देशद्रोही करार दे रही है। सेना और खुफिया एजेंसियों के बारे में हम बहुत कुछ जानते हैं, यह उन लोगों को समझ लेना चाहिए। हम न ही इस देश की जनता, भेड़-बकरियां हैं न ही इस तरह का व्यवहार किया जा सकता है।

इमरान खान शनिवार को हकीकी आजादी मार्च के दूसरे दिन लाहौर के शाहदरा इलके में रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार और सेना की मिलीभगत से पहले उनके चीफ ऑफ स्टाफ शाहबाज गिल, फिर पत्रकार जमील फारूकी और अब 75 वर्षीय सीनेटर आजम स्वाति को 'प्रताड़ित' किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दो सैन्य अधिकारी उनके लोगों को प्रताड़ित कर रहे हैं। आजम स्वाति के मामले में भी इन्होंने ही प्रताड़ित किया था। इनके खिलाफ सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए। 

सरकार ने कहा-चुनाव इमरान के शोर मचाने से नहीं होंगे

उधर, शहबाज शरीफ सरकार में मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इमरान खान पर उनकी हकीकी आजादी मार्च को लेकर निशाना साधा है। रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा कि संविधान द्वारा तय समय सीमा के अनुसार चुनाव होंगे। इमरान खान या उनकी पार्टी के शोर मचाने से चुनाव नहीं कराया जा सकता। उन्होंने आरोप लगाया कि इमरान खान भारतीय मीडिया के हाथों खेल रहे हैं। इंडियन मीडिया उनको हवा दे रही है। एक अन्य मंत्री मरियम औरंगजेब ने कहा कि इमरान खान की सेना के खिलाफ झूठी कहानी को भारतीय मीडिया द्वारा हवा दी जा रही है। वह यहां बोल रहे हैं और जश्न भारत में मनाया जा रहा है। इमरान खान से बातचीत करने का कोई सवाल ही नहीं उठता।

मार्च के दौरान कानून व्यवस्था संभालने के लिए 9 सदस्यीय कमेटी

उधर, इमरान खान के हकीकी आजादी मार्च के दौरान कानून-व्यवस्था को संभालने के लिए पीएम शहबाज शरीफ ने नौ सदस्यीय कमेटी का गठन किया है। समिति की अध्यक्षता गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह कर रहे हैं। इसमें मरियम नवाज सहित अन्य शामिल हैं।

लिबर्टी चौक से शुरू हुआ था मार्च

हकीकी आजादी मार्च शुक्रवार की दोपहर शहर के लिबर्टी चौक इलाके से शुरू हुआ था। लाहौर के इछरा, मोजांग, दाता साहिब और आजादी चौक इलाकों में शक्ति प्रदर्शन करते हुए मार्च आगे बढ़ रहा है। जीटी रोड पर यात्रा करते हुए मार्च  4 नवंबर को इस्लामाबाद पहुंचेगा। यहां एक विशाल रैली की योजना है। दूसरे दिन शनिवार को यह मार्च मुरीदके होते हुए कमोके पहुंचा। शाहदरा व गुजरांवाला शहर में जनसभा भी हुई। विभिन्न रूट्स से होते हुए वजीराबाद में मार्च का रात्रि विश्राम होगा। रविवार को यह मार्च पंजाब के मुख्यमंत्री चौधरी परवेज इलाही के गृहनगर गुजरात की ओर प्रस्थान करेगा। इसके बाद मार्च लाला मूसा और खारियां की ओर जाएगा। अगले दिन मार्च झेलम जाएगा। फिर, खान गुजर खान के रास्ते रावलपिंडी की ओर आजादी मार्च जाएगी।

यह भी पढ़ें:

पंजाब के पास इंटरनेशनल बॉर्डर पर फॉयरिंग, पाकिस्तानी ड्रोन से इस तरह पहुंच रहा हथियारों का जखीरा

गुजरात में भी 'अपना सीएम चुनें' अभियान लांच, Sms-Whatsapp या ईमेल से गुजराती तय करेंगे AAP सीएम कैंडिडेट

टीआरएस ने बीजेपी को घेरा: केंद्र सरकार ने 8 सालों में 80 लाख करोड़ रुपये कर्ज लिए, तेलंगाना की हुई उपेक्षा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios