Asianet News HindiAsianet News Hindi

MyanmarGenocide: सैन्य अत्याचार चरम पर, पांच बच्चों समेत 11 लोगों को सैनिकों ने हाथ बांधकर जिंदा जलाया

सगाइंग क्षेत्र (Sagaing region) के डोने ताव गांव में जले हुए शवों की तस्वीरें और वीडियो मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुईं। चश्मदीद ने बताया कि पकड़े गए लोगों के हाथ बांध दिए गए और उन्हें आग के हवाले कर दिया गया। 

Myanmar Junta forces genocide, 11 people were burnt live by forces, Video viral, Knw all about, DVG
Author
Nay Pyi Taw, First Published Dec 9, 2021, 2:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

यांगून। म्यांमार (Myanmar) में सैन्य शासन द्वारा तख्ता पलट के बाद पूरे देश में नरसंहार जारी है। उत्तर-पश्चिमी हिस्से में सैनिकों की एक क्रूरता वाला वीडियो (viral video) फिर सामने आया है। वीडियो में करीब एक दर्जन गांववालों को एक जगह इकट्ठा किया जा रहा है, उनके हाथ बांधकर फिर आग लगा दिया गया है। जिंदा जलाए गए लोगों में पांच मासूम बच्चे भी शामिल हैं। सगाइंग क्षेत्र (Sagaing region) के डोने ताव गांव में जले हुए शवों की तस्वीरें और वीडियो मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुईं। ऐसा कहा जा रहा है कि ग्रामीणों की हत्या कर उन्हें आग के हवाले करने के तुरंत बाद ही उन तस्वीरों को लिया गया था। हालांकि, अभी तक इन तस्वीरों और वीडियो की कोई पुष्टि नहीं हुई है।

नरसंहार की गवाही दे रहे लोग

एक चश्मदीद ने मीडिया को बताया कि करीब 50 सैनिक मंगलवार पूर्वाह्न करीब 11 बजे गांव पहुंचे थे। गांव में सैनिकों को देखकर भगदड़ मच गई। सैनिकों ने लोगों को पकड़ना शुरू किया जो नहीं भाग सके। गांव के चश्मदीद उस किसान ने बताया कि उन्होंने 11 मासूम ग्रामीणों को गिरफ्तार कर लिया था। चश्मदीद ने बताया कि पकड़े गए लोगों के हाथ बांध दिए गए और उन्हें आग के हवाले कर दिया गया।

चश्मदीद ने कहा कि मारे गए लोग पीपुल्स डिफेंस फोर्स के सदस्य नहीं थे

हालांकि, म्यांमार मीडिया में कहा गया कि ऐसा प्रतीत होता है कि सेना ने उस दिन सुबह ‘पीपुल्स डिफेंस फोर्स’ (Peoples Defence Forces) के सदस्यों द्वारा किए गए हमले के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की। म्यांमार की मीडिया ने अन्य चश्मदीदों के हवाले से बताया कि ग्रामीण, रक्षा बल के सदस्य थे। हालांकि, इस घटना के एक चश्मदीद ने बताया कि पकड़े गए लोग स्थानीय रूप से संगठित ‘पीपुल्स डिफेंस फोर्स’ के सदस्य नहीं थे, जिसकी कई बार सैनिकों से झड़प हुई है।

Read this also:

महबूबा का मोदी पर तंज: अटल जी ने राजधर्म निभा Jammu-Kashmir को संभाला, अब नेता गोडसे का कश्मीर बना रहे

दो महाशक्तियों में बढ़ा तनाव: US और Russia ने एक दूसरे के डिप्लोमेट्स को किया वापस   

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios