Asianet News HindiAsianet News Hindi

Pfizer की मदद से दवा कंपनियां बनाएंगी Covid Pill, गरीब देशों को होगा फायदा

जर्मन लैब बायोएनटेक (German Lab BioNTech) के साथ कोविड वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) बना रही दिग्गज कंपनी फाइजर ने कहा कि जेनेरिक दवा निर्माताओं को पैक्सलोविड टेबलेट का प्रोडक्शन उप-लाइसेंस बिना रॉयल्टी के देने के लिए एग्रीमेंट किया है।

Pfizer signed agreement to companies to produce Covid pill, beneficial for poor and low income countries DVG
Author
Washington D.C., First Published Nov 16, 2021, 7:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जिनेवा। कोरोना (Covid-19) के खिलाफ जंग में एक और सफलता मिलने वाली है। गरीब देशों के लिए अब कोविड-19 इंजेक्शन की बजाय टेबलेट्स बनाए जाएंगे। अमेरिकी दिग्गज फार्मास्युटिकल कंपनी फाइजर (Pfizer) ने मंगलवार को ओरल एंटीवायरल कोविड -19 दवा को गरीब देशों में अधिक सस्ते में उपलब्ध कराने के लिए एग्रीमेंट साइन किया है। फाइजर इसके लिए सब-लाइसेंस बिना किसी रॉयल्टी के लिए देगा।

मेडिसन कंपनियों को प्रोडक्शन के लिए देगा लाइसेंस

जर्मन लैब बायोएनटेक (German Lab BioNTech) के साथ कोविड वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) बना रही दिग्गज कंपनी फाइजर ने कहा कि जेनेरिक दवा निर्माताओं को पैक्सलोविड टेबलेट का प्रोडक्शन उप-लाइसेंस बिना रॉयल्टी के देने के लिए एग्रीमेंट किया है। ग्लोबल मेडिसिन पेटेंट पूल (MPP) के साथ सौदा दुनिया की लगभग 53 प्रतिशत आबादी को कवर करने वाले 95 निम्न और मध्यम आय वाले देशों में उम्मीदवार दवा को कम कीमत पर उपलब्ध कराएगा।

89 प्रतिशत मौत का जोखिम हुआ कम

फाइजर ने कहा कि ट्रॉयल के इंटरनल रिपोर्ट के अनुसार इस ओरल दवा को लेने के बाद कोविड -19 के केसों में मौत का जोखिम 89 प्रतिशत तक की कमी देखी जा रही है। इसी तरह के परिणाम लक्षण शुरू होने के पांच दिनों के भीतर देखे गए।

एमपीपी ने किया फाइजर के निर्णय का स्वागत

एमपीपी के कार्यकारी निदेशक चार्ल्स गोर ने कहा कि "यह लाइसेंस काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे गरीब देशों को आसानी से दवा उपलब्ध हो सकेगी। जीवन बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है।" उन्होंने कहा कि यह दवा रिटोनावीर (ritonavir) के साथ ली जानी चाहिए। रिटोनावीर एचआईवी (HIV) दवा है। उन्होंने कहा कि हम जेनेरिक कंपनियों के साथ काम करेंगे कि कोविड -19 और HIV दोनों के लिए पर्याप्त आपूर्ति हो।"

जिनेवा (Geneva) स्थित एमपीपी (MPP) एक संयुक्त राष्ट्र समर्थित अंतरराष्ट्रीय संगठन है जो निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए दवाओं के विकास को सुविधाजनक बनाने के लिए काम करता है।

Paxlovid एक खोजी एंटीवायरल थेरेपी

Paxlovid, या PF-07321332, एक खोजी एंटीवायरल थेरेपी है (anti viral therapy) जिसे SARS-CoV-2-3CL प्रोटिन्स की गतिविधि को अवरुद्ध करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसे रिटोनावीर की निर्धारित खुराक के साथ लेने से वायरस से लड़ने में मदद करने के लिए शरीर में लंबे समय तक सक्रिय रहता है। फाइजर (Pfizer) ने कहा कि संक्रमण के पहले संकेत या कोविड -19 के संपर्क में आने पर, गोली संभावित रूप से रोगियों को गंभीर बीमारी से बचने में मदद कर सकती है।

यह भी पढ़ें:

West Bengal विधानसभा में केंद्र के विरोध में एक और प्रस्ताव: BSF jurisdiction बढ़ाने के खिलाफ बिल पेश

Money Laundering case: ईडी ने किया बिजनेस टाइकून Lalit Goyal को arrest, पेंडोरा पेपर्स लीक में था नाम

China बना दुनिया का सबसे अमीर देश: America से 30 बिलियन डॉलर अधिक, India से नौ गुना संपत्ति ज्यादा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios