नस्लीय हिंसा: पोलैंड में कुछ दिन के अंदर दूसरा मर्डर, ऑस्ट्रेलिया में 'तिरंगा यात्रा' खालिस्तानी कट्टरपंथियों ने किया हमला

| Jan 30 2023, 12:21 PM IST

Racial attacks on Indians abroad
नस्लीय हिंसा: पोलैंड में कुछ दिन के अंदर दूसरा मर्डर, ऑस्ट्रेलिया में 'तिरंगा यात्रा' खालिस्तानी कट्टरपंथियों ने किया हमला
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

पोलैंड में काम कर रहे केरल के एक युवक की रविवार को चाकू मारकर हत्या कर दी गई। यह पिछले कुछ दिनों में दूसरा मर्डर है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में तिरंग यात्रा निकाल रहे भारतीयों पर खालिस्तानी कट्टरपंथियों ने जानलेवा हमल कर दिया।

नई दिल्ली. विदेशों में भारतीयों पर नस्लीय(racial violence) और साम्प्रदायिक हिंसा के मामले बढ़ रहे हैं। पोलैंड में काम कर रहे केरल के एक युवक की रविवार को चाकू मारकर हत्या कर दी गई। यह पिछले कुछ दिनों में दूसरा मर्डर है। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में तिरंग यात्रा निकाल रहे भारतीयों पर खालिस्तानी कट्टरपंथियों ने जानलेवा हमल कर दिया। पढ़िए तीनों मामले...

जॉर्जियाई लोगों के ग्रुप ने ली जान

Subscribe to get breaking news alerts

तिरुवनंतपुरम: केरल के पलक्कड़ के एक व्यक्ति के पोलैंड में मृत पाए जाने के कुछ ही दिनों बाद दक्षिणी राज्य के त्रिशूर जिले के एक अन्य युवक की रविवार को चाकू मारकर हत्या करने की खबर सामने आई है, जो पोलैंड में काम कर रहा था

ओल्लुर (त्रिशूर) के रहने वाले 23 वर्षीय सूरज को जॉर्जियाई लोगों के एक समूह ने एक विवाद के बाद चाकू मारकर हत्या कर दी थी। कथित तौर पर वह पिछले पांच महीनों से पोलैंड में एक निजी फर्म में सुपरवाइजर के रूप में काम कर रहा था। हमले के दौरान सूरज के साथ मौजूद केरल के चार युवक भी घायल हो गए। सूरज के परिजनों ने अनुसार, वारसॉ(Warsaw) में भारतीय दूतावास ने सूरज की मौत की पुष्टि की है।

केरल के 30 वर्षीय युवक को मकान मालिक ने ही मार डाला

सूरज हत्याकांड से कुछ दिन पहले ही केरल के पलक्कड़ के एक 30 वर्षीय व्यक्ति(जो पोलैंड में आईएनजी बैंक में आईटी विभाग के अधिकारी के रूप में काम करता था) की उसके आवास पर चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। इब्राहिम शरीफ के रूप में पहचाने जाने वाला व्यक्ति पुथुसरी, पलक्कड़ का मूल निवासी था।

इब्राहिम, कथित तौर पर पिछले 10 महीनों से पोलैंड के मूल निवासी के साथ रह रहा था। नौकरी की तलाश में वह पोलैंड चला गया। 24 जनवरी से इब्राहिम फोन पर उपलब्ध नहीं था, जैसा कि उसके परिवार ने कहा था। 25 जनवरी को उनके परिवार ने पोलैंड में भारतीय दूतावास को सूचित किया, जब वे एक दिन से अधिक समय तक उनसे फोन पर संपर्क नहीं कर सके।

पोलैंड में इब्राहिम के दोस्तों को पता चला कि वह गायब है, वे उस घर में गए जहां वह रहता था। लेकिन घर के मालिक ने उन्हें अंदर नहीं जाने दिया। मलयाली एसोसिएशन द्वारा पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद तलाशी के दौरान इब्राहिम का शव घर में मिला। पुलिस ने मालिक को इब्राहिम की हत्या के इल्जाम में अरेस्ट किया है।

ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानी समर्थकों का हमला

ऑस्ट्रेलिया में रविवार को खालिस्तान समर्थकों ने तिरंगा यात्रा हमला कर दिया। इस में पांच लोग घायल हो गए। घटना का वीडियो tweet करके भाजपा नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि असामाजिक तत्वों की गतिविधियों से सख्ती से निपटा जाना चाहिए। उन्होंने लिखा-“मैं ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानी समर्थक भारत विरोधी गतिविधियों की कड़ी निंदा करता हूं। असामाजिक तत्व जो इन गतिविधियों से देश की शांति और सद्भाव को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं, उनसे सख्ती से निपटा जाना चाहिए और दोषियों को किताबों के कठघरे में लाया जाना चाहिए।"

विक्टोरिया पुलिस ने बताया कि हिंसक हमले के बाद 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों की उम्र 30 साल के आसपास है। उन्हें दंगाई व्यवहार-riotous behaviour के लिए पेनल्टी नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि पांचों घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

pic.twitter.com/xMMxNTQscc

यह मामला ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ किए जाने के कुछ ही हफ्तों बाद आया है। मेलबर्न में पिछले कुछ हफ्तों में खालिस्तान समर्थक और भारत विरोधी नारों के साथ तीन मंदिरों पर अटैक किया था। क्लिक करके पढ़ें

कैनबरा में भारतीय उच्चायोग ने इन हमलों को भारतीय समुदाय के बीच दुश्मनी और कलह को बढ़ावा देने का घोर प्रयास बताया था। भारतीय मिशन ने यह भी नोट किया था कि इस तरह की घटनाओं से संकेत मिलता है कि खालिस्तान समर्थक तत्व ऑस्ट्रेलिया में अपनी गतिविधियों को बढ़ा रहे हैं। इन सबके पीछे सिख फॉर जस्टिस (SFJ) का हाथ माना जा रहा है।

(तस्वीर-लेफ्ट से सूरज, इब्राहिम और ऑस्ट्रेलिया में हमला)

यह भी पढ़ें

10 फिलिस्तीनियों की मौत के बाद इजरायल में यहूदी मंदिर पर आतंकी हमला, ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर 7 लोगों की हत्या

रामदेव ने PAK के जिन 4 राज्यों के टुकड़ों की बात की; वहां के NGO HelpingHandUSA का सामने आ रहा लश्कर-ए-तैयबा से कनेक्शन

 

Related Stories