Asianet News HindiAsianet News Hindi

शंघाई संगठन के देशों ने आतंकवाद, चरमपंथ और अलगाववाद से मिलकर लड़ने की शपथ

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में यह बात कही गई कि एससीओ में शामिल देश आतंकवाद को रोकने के लिए एक दूसरे की मदद कर सकते हैं। 

SCO countries pledge to cooperate against terrorism, arms and drug trafficking, NSA meet in Dushambe DHA
Author
Dushanbe, First Published Jun 24, 2021, 8:14 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

दुशांबे। ताजिकिस्तान के दुशांबे में शंघाई कोआपरेशन आर्गेनाईजेशन की मीटिंग में आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता दिखी। संगठन में शामिल देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद, चरमपंथी और अलगाववादियों के खिलाफ एकसाथ मिलकर खत्म करने की शपथ ली। 

यह भी पढ़ेंः डेल्टा+ वेरिएंट से भारत में तीसरी लहर! GOI ने जारी की एडवाइजरी, अमेरिका सहित कई देश डेल्टा से खौफजदा

आतंकवाद को रोकने के लिए देश एक दूसरे की मदद कर सकते

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में यह बात कही गई कि एससीओ में शामिल देश आतंकवाद को रोकने के लिए एक दूसरे की मदद कर सकते हैं। यही नहीं इससे ड्रग ट्रैफिकिंग, हथियारों की तस्करी पर भी लगाम लगाया जा सकता है। 

बायो हथियारों, साइबर अपराध और पैनडेमिक 

मीटिंग में यह भी कहा गया कि सभी देश एक दूसरे का सहयोग कर बायो-हथियारों के हमले या साजिश, साइबर अपराध को रोकने के लिए एक दूसरे की मदद कर सकते हैं। इसके अलावा महामारी के दौरान फूड सिक्योरिटी पर एक दूसरे का सहयोग कर सकते हैं। 
मीटिंग में ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमाली रहमान, भारत के एनएसए अजीत डोभाल, पाकिस्तान के एनएसए मोइद युसुफ आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ेंः सुपर वैक्सीन बना रहा अमेरिकाः कोविड-19 के सभी वेरिएंट्स पर करेगा असर

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios